ताजा पोस्ट सुर्खिया
  • कांग्रेस के 40 स्टार प्रचारक करेंगे यूपी में प्रचार
  • हैती में हैजा राहत के लिए भारत ने दिए एक लाख डॉलर
  • पटना : बेउर जेल में छापेमारी, आपत्तिजनक सामान बरामद
  • शेयर बाजार में तेजी का रुख
  • अमेरिकी सीनेट ने दी विदेश मंत्री के रूप में टिलरसन को मंजूरी
  • बाढ़ के बाद ताहिति हवाईअड्डा खुला
  • टीपीपी समझौते से हटा अमेरिका
  • साहित्य महोत्सव में तस्लीमा, मुस्लिम नाराज
  • सपा की तीसरी लिस्ट में अपर्णा यादव
  • डब्ल्यूएचओः बर्ड फ्लू को लेकर चिंता
  • केजरीवाल बोले, बनाए मुझे ब्रांड एंबेसडर
  • भैंसा दौड़ कराने के पक्ष में सिद्धरमैया
  • कोहरे से लंदन में 100 उड़ानें रद्द
  • सीरिया: तुर्की का हमला,65 आतंकी ढेर
  • मणिपुर: भाजपा की जारी उम्मीदवार लिस्ट

संपादकीय-2

arun-jaitley

जीएसटी में नई अड़चन

वस्तु एवं सेवा कर (जीएसटी) की राह की अड़चनें दूर होती नहीं दिखतीं। अभी केंद्र और राज्यों में पूर्ण सहमति बनने का इंतजार जारी ही है कि कर अधिकारियों के एक संगठन ने नई चेतावनी जारी कर दी है। कहा है कि सरकार को जल्दबाजी में नई टैक्स व्यवस्था लागू और पढ़ें....

Suresh-Prabhu

प्रभुजी, रेल में कुछ तो कीजिए

तीन महीने में तीसरा बड़ा रेल हादसा हुआ है। रेल मंत्री सुरेश प्रभु इससे शायद सहमत होंगे कि लगातार ऐसी घटनाएं होने से रेलवे में आमजन का भरोसा क्षीण होता है। रेल यात्रियों के नजरिए से देखें सुरक्षित यात्रा उनकी सबसे बड़ी चाहत होती है। अब यह रेल मंत्री और और पढ़ें....

salmankhan

सलमान बन गए सवाल

अभिनेता सलमान खान पर कानून ने इतना रहम दिखाया है कि वे खुद इस पर एक सवाल बन गए हैं। ऐसा सवाल, जिसका जवाब देने में भारतीय न्याय व्यवस्था शायद ही कभी सफल हो। बात फुटपाथ पर लोगों को कुचलने की हो या काले हिरण के अवैध शिकार की- अथवा और पढ़ें....

Britain Politics

‘हार्ड ब्रेग्जिट’ की तैयारी

ब्रिटेन की प्रधानमंत्री थेरीजा मे के भाषण का दुनिया भर में इंतजार था। लोग जानने को बेसब्र थे कि उनके दिमाग में यूरोपीय संघ से ब्रिटेन को अलग करने का क्या खाका है। ब्रेग्जिट विरोधियों को उम्मीद थी कि ब्रिटिश प्रधानमंत्री कोई ऐसा फॉर्मूला लेकर आएंगी, जिससे पिछले साल जून और पढ़ें....

Image

बढ़ती विषमता का आईना

दुनिया में आमदनी और धन की विषमता बढ़ रही है, इस बात को अब कोई चुनौती नहीं देता। बल्कि खुली बाजार के समर्थक अर्थशास्त्री, और यहां तक कि दुनिया के बड़े पूंजीपतियों की नुमाइंदगी करने वाली संस्था वर्ल्ड इकॉनोमिक फोरम भी इस रूझान पर चिंता जता रहे हैं। इसलिए अंतरराष्ट्रीय और पढ़ें....

Israel-Palestine

प्रस्ताव की क्या सार्थकता?

कुछ दिन पहले संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद ने क़ब्जे वाली ज़मीन पर इजराइली बस्तियों को बसाने के ख़िलाफ़ प्रस्ताव पारित किया। अमेरिका ने ऐसा होने दिया। यानी पहली बार उसने ऐसे किसी प्रस्ताव को वीटो नहीं किया। अब अमेरिका एक 70 देशों के एक ऐसे सम्मेलन में सहभागी बना है, और पढ़ें....

image

जलीकटूटः आम सहमति की जरूरत

तमिलनाडु में जलीकट्टू के मुद्दे पर कानून और परंपरा फिर आमने आए। राज्य की प्रमुख पार्टियों ने न सिर्फ जलीकट्टू का पक्ष लिया, बल्कि डीएमके ने तो इसके समर्थन में बंद का आयोजन भी किया। इस तरह सुप्रीम कोर्ट के आदेशों की उन्होंने खुली अवहेलना की। दूसरी तरफ कई पशु और पढ़ें....

world-economic

विषमता से चिंतित डब्लूईएफ

वर्ल्ड इकॉनोमिक फोरम (डब्लूईएफ) दुनिया के बड़े उद्योगपतियों और पूंजीपतियों की संस्था है। हर साल स्विट्जरलैंड के शहर डावोस में यह अपना सम्मेलन करती है। माना जाता है कि वहां जिन नीतियों का सुझाव दिया जाता है, दुनिया भर की सरकारें उन पर गौर करती हैं। अमेरिकी राष्ट्रपति चुनाव के और पढ़ें....

barack_obama

अपनी विरासत पर रोशनी

बराक ओबामा ने बतौर राष्ट्रपति अपना आखिरी भाषण वहीं दिया, जहां आठ साल पहले राष्ट्रपति चुनाव जीतने के बाद विजयी भाषण दिया था। आखिरी संबोधन में उनका जोर अपनी विरासत पर रहा। यानी ये बताने की कोशिश की कि ह्वाइट हाउस में रहते हुए उन्होंने क्या ऐसा किया, जिसके लिए और पढ़ें....

bsf

देशभक्ति जुबानी ही ना रहे!

नोटबंदी से पहले तक राष्ट्रीय सुरक्षा वर्तमान केंद्र सरकार का सर्वोपरि एजेंडा था। बल्कि नोटबंदी का एक उद्देश्य आतंकवाद की फंडिंग रोकना भी बताया गया। यानी इसमें भी सुरक्षा का पहलू जुड़ा था। राष्ट्रीय सुरक्षा के इस विमर्श में सेना और अर्ध-सैनिक बलों को एक खास दर्जा मिला है। उनके और पढ़ें....

© 2016 nayaindia digital pvt.ltd.
Maintained by Netleon Technologies Pvt Ltd