ताजा पोस्ट सुर्खिया
  • नमाज की तरह ही है योगः योगी
  • रूस में भूकंप के झटके
  • ट्रंप ने रद्द की ओबामा की जलवायु परिवर्तन नीति
  • पाक-अफगान तनाव से आईएस को फायदा: अमेरिका
  • योगी आज करेंगे सीएम आवास में प्रवेश
  • बदायूं : टैंकर-कार में भिड़ंत, पांच मरे
  • घाटी में केयू, आईयूएसटी, सीयूके की परीक्षाएं स्थगित
  • घाटी में सुरक्षा कारणों से रेल सेवा निलंबित
  • ऑस्ट्रेलिया में चक्रवाती तूफान, हजारों बेघर
  • बोइंग विमान में लगी आग, कोई हताहत नहीं
  • जॉर्डन में शरणार्थियों की हरसंभव मदद की जरूरत: गुटेरेस
  • बांग्लादेश: नौका पलटी, 4 मरे
  • व्हाइट हाउस के पास संदिग्ध पैकेट के साथ पकड़ा गया एक व्यक्ति
  • मिस्र के राष्ट्रपति जाएंगे अमेरिका दौरे पर
  • ट्रम्प जर्मनी में होने वाले जी-20 सम्मेलन में हिस्सा लेंगे

शब्द फिरै चहुं धार

image

आज कगार, क्या हिंदू राष्ट्र की?

इंडियन एक्सप्रेस में फली एस नरीमन को पढ़ दिमाग झनझना उठा। इसलिए कि बात नकली चिंता लिए हुए है। इससे फिर लड़ने की एक और नकली बौद्धिक लड़ाई बनेगी। अंत में भले बवंडर साबित हो लेकिन इसमें कुछ सौ मुस्लिम नौजवान भटके, मुस्लिम समाज अपनी खोल में और खदबदाए तो और पढ़ें....

image

योगी हैं हिंदू भारत का यथार्थ!

हिंदू राजनीति की एक और झिझक खत्म हुई। कभी सोचा नहीं था कि दिल्ली के तख्त पर हिंदू प्रचारक बैठेगा। न ही यह कल्पना थी कि देश के सबसे बड़े प्रांत में हिंदूओं का एक मठ प्रमुख मुख्यमंत्री बनेगा। इसलिए कि नेहरू के आईडिया ऑफ इंडिया, सेकुलर विचार-विमर्श और आधुनिकता और पढ़ें....

Modi

मोदी, राजा असाधारण!

यह राय हिंदू मानस में आज आम है और वजह खुद हिंदू का ‘असाधारण’ बनना है। मध्यवर्गीय ही नहीं बल्कि बेहद, सामान्य गरीब हिंदू भी बदला है। उसकी सर्वोपरी चिंता वह फील है जो मुसलमान ने पैदा की है और जिसका फैलाव कई मायनों में वैश्विक है। इसका बीज वाक्य और पढ़ें....

image

यह हिंदू आंधी न कि गरीब आंधी!

पहली बात मैं यूपी में ऐसा नतीजा आता नहीं मान रहा था। हालांकि मैंने यह लिखा था कि भाजपा या तो नंबर एक होगी या नबंर तीन। वह नंबर एक हुई है तो वजह हिंदू आंधी है! 2014 जैसा वह सर्वहिंदू वोट है जो 43 प्रतिशत (अभी यह आंकडा कच्चा) और पढ़ें....

modi-amit

थोथे चनों का शोर व मौन मतदाता!

सन 2014 का लोकसभा चुनाव आजाद भारत का अविस्मरणीय चुनाव था। उस चुनाव में मतदाताओं का जो शौर था वैसा पहले कभी देखने को नहीं मिला। आजाद भारत में इससे पहले परिवर्तनकारी जितने भी अभूतपूर्व चुनाव हुए थे उनमें मतदाता हमेशा मौन रहा। इमरजेंसी के खिलाफ मतदाताओं की मौन क्रांति और पढ़ें....

trump

डोनाल्ड ट्रंप है वक्त का सत्य!

डोनाल्ड ट्रंप एक सत्य है और इसकी धुरी पर दो सत्य भिड़े हैं। एक का नाम ‘पोस्ट ट्रूथ’ है और दूसरा मेरे हिसाब से ‘रियल ट्रूथ’ है। मतलब एक ‘उत्तर सत्य और दूसरा ‘खांटी-कच्चा सत्य’! दुनिया के तमाम बौद्धिकजन 19वीं, 20वीं सदी के विकास की छाया में, उससे बनी बौद्धिकता, विचार और पढ़ें....

Modi-kejri

ट्रंप, मोदी, केजरी और सत्य!

ज्ञानी-ध्यानी अमेरिका के हों, यूरोप के हों या दिल्ली के, सब इन दिनों राग पकड़े हुए हैं कि वक्त झूठ को सत्य बना रहा है और जनता में सत्य अप्रासंगिक हुआ है। बहुत गहरी बात है यह। इसी की चिंता में इन दिनों दुनिया दुबली हो रही है। इस बात और पढ़ें....

arun-jaitley-budget

हम सवा सौ करोड़ लोग हैं चोर!

यह बात अधिकृत तौर पर भारत सरकार के वित्त मंत्री अरुण जेटली ने बजट 2017-18 के अपने भाषण में उदाहरण सहित प्रमाणित की। पता नहीं किसी और देश में ऐसा हुआ या नहीं, पर भारत में मोदी सरकार ने दुनिया के आगे भारत की यह हकीकत दर्ज कराई है कि और पढ़ें....

arun-jaitley

बिना माफी का अच्छा बजट!

और ऐसा होना उन लोगों को भड़काने वाला है जो 4 फरवरी से 8 मार्च के बीच वोट देने वाले है। इसलिए कि इनका दिल नोटबंदी से धड़का हुआ है। ये भी मेरी तरह नोटबंदी की प्रतिछाया में बजट बनता बूझ रहे थे। ये इस इंतजार में थे कि जब और पढ़ें....

31JAN24U

आज आम बजट, नोट बंटेगे!

भारत फिलहाल निठल्ला है। आर्थिकी का उसका उत्स जहां नोटबंदी से हरण हुआ पड़ा है वही गरीब, पीड़ित, दलित, वंचित सहित सभी सवा सौ करोड़ लोग ठहरे, ठिठके इंतजारी के उस मोड़ पर हंै जिसमें खैरात, धर्मादा, हरामखोरी, मुफ्तखोरी इसलिए अपेक्षित है क्योंकि नोटबंदी के बदले कुछ तो मिलना चाहिए! और पढ़ें....

© 2016 nayaindia digital pvt.ltd.
Maintained by Netleon Technologies Pvt Ltd