ताजा पोस्ट सुर्खिया
  • असम: आईएएफ का सुखोई विमान लापता
  • देश में पिछले 3 वर्षो में आर्थिक सुधार: मोदी
  • 21वीं सदी एशिया, अफ्रीका की: जेटली
  • सोमालिया में विस्फोट, 5 की मौत
  • केजरीवाल के साढू सुरेंद्र बंसल के घर छापा
  • योगी हुए सख्त, कानून -व्यवस्था पर
  • मैनचेस्टर में आंतकी बम विस्फोट, 19 मरे
  • नासा के अंतरिक्ष यात्री करेंगे स्पेसवॉक
  • राजग सरकार का तीन साल का कार्यकाल असफल
  • श्रीलंका मंत्रिमंडल में फेरबदल, नए मंत्रियों ने ली शपथ
  • जेटली ने केजरीवाल पर ठोंका एक और मानहानि का केस
  • अल्पसंख्यक कोटा खत्म करेगी योगी सरकार
  • मिश्रा ने योगेंद्र और प्रशांत भूषण से मांगी माफी
  • दो दिन के गुजरात दौरे पर पीएम मोदी
  • वेनेज़ुएला में सरकार विरोधी प्रदर्शन, 1 की मौत

शब्द फिरै चहुं धार

वक्त, कलम और बुद्धि का बोझ!

ठीक सात साल पहले नया इंडिया अंकुरित हुआ। हिसाब से मेरे लिए आज खुशी का, संतोष का दिन होना चाहिए। पर वक्त, कलम और बुद्धि का आज जो बोझ है उसने यह यक्ष प्रश्न खड़ा किया है कि हम हिंदुओं का क्यों कर सरस्वती से वैर है? बुद्धि क्यों कर और पढ़ें....

जय हो, जय, जय बाहुबली की!

कल मैंने हिंदू राष्ट्र में सांसें लीं। अपने सपने की सोने की चिड़िया की शान को, वैभव को, शूरवीरता को, धर्म को साक्षात जीया। मानो कैलाश पर्वत की तलहटी हो और हिंदू राष्ट्र की कैलाश पुरी। हर तस्वीर सोने की चिड़िया की आभा लिए हुए थी। विशाल महल, सोने की और पढ़ें....

मुस्लिम सोचे-1 – स्त्रियों का संघर्ष

सुप्रीम कोर्ट ने तीन तलाक व हलाला की वैधानिकता पर सुनवाई शुरू कर दी है। कुछ इस्लामी नेता इस बहाने मुसलमानों को हिन्दू राष्ट्र के भूत से बरगला रहे हैं। जबकि तीन तलाक जैसे रिवाज के रहने या जाने से हिन्दू हितों का कोई लेना-देना नहीं है। ये रिवाज केवल और पढ़ें....

इधर सर कलम उधर पेट पर लात!

दोनों घटनाएं पिछले सप्ताह की है। पाक सैनिकों से हुए दो सर कलम पर हम रोए, गुस्से में खदबदाए। सरकार से भरोसा सुना कि ईंट का जवाब पत्थर से देंगे। पर दूसरी खबर की अनदेखी हुई। मतलब कथित आईटी महाशक्ति भारत का डोनाल्ड ट्रंप के आगे सरेंडर! चार महीने के और पढ़ें....

विपक्ष क्यों न आडवाणी को चुने?

शीर्षक मजाक लग रहा होगा! पर यदि नरेंद्र मोदी-अमित शाह अप्रत्याशित ‘आउट ऑफ बाक्स’ राजनीति कर रहे हैं, कांग्रेस के एसएम कृष्णा, नारायणदत्त तिवारी, सतपाल महाराज आदि को ले कर जनता में विपक्ष की भगदड़ दर्शा रहे हैं तो कांग्रेस, शरद पवार आदि क्यों नहीं आडवाणी, डा जोशी, य़शवंतसिन्हा आदि और पढ़ें....

विपक्ष गठजोड़ भूलें, फिलहाल राजनीति करें!

आज दिल्ली में मई दिवस और मधु लिमये के बहाने विपक्षी नेता अपने चेहरों का सामूहिक फोटो शूट कराएंगे। मतलब गठजोड़ बनाने की तरफ विपक्ष बढ़ता दिखलाई देगा। यह विपक्ष की आत्मघाती एप्रोच है। आखिर यही तो नरेंद्र मोदी और अमित शाह चाहते हैं कि 2019 से पहले विपक्ष ऐसा और पढ़ें....

जब है नफरत तो दिल क्या करे!

जम्मू-कश्मीर की मुख्यमंत्री मेहबूबा मुफ्ती ने कहा तो फिर प्रधानमंत्री ने भी मुख्यमंत्रियों से कहा कि वे अपने यहा पढ़ रहे कश्मीरी छात्रों से संपर्क करंे। मतलब सार्वजनिक तौर पर दोनों ने कश्मीर के मसले में एक सा रूख दिखलाया। क्या इसका अर्थ है कि पीडीपी- भाजपा का साथ अभी और पढ़ें....

शाहिद भाई बात सही पर और बूझे

अपन पाठक को माई-बाप मानते हैं। मेरा संतोष पाठक का पढ़ना है। कोई कुछ भी बोले, कमेंट करें मैं रिएक्ट नहीं होता। 11 नवंबर से आज दिन तक की घटनाओं में दो विषय मेरी लेखनी में ज्यादा छाए रहे। एक नोटबंदी का और दूसरा इस्लाम का। इन पर रिएक्शन भी और पढ़ें....

लाल पीले हो कर क्या करेंगे?

कुलभूषण जाधव की खबर मानों नींद से जगाने वाली हो। तभी हम भारतीय हैरान, परेशान, गुस्साए दिख रहे हैं। भभक कर धमका रहे हैं कि यदि भारतीय नागरिक को फांसी हुई तो भारत ने चूडि़या नहीं पहन रखी है। देख लेंगे। ठोक देंगे। संसद में पार्टियों ने एकजुटता दिखाई। विदेश और पढ़ें....

मुसलमान कैसे समझें?

और समझाने की कोशिश सर्वत्र है। दुनिया समझा रही है। डोनाल्ड ट्रंप समझा रहे हैं तो नरेंद्र मोदी भी समझा रहे हंै। इसी रविवार को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने जम्मू-कश्मीर में मुस्लिम नौजवानों को समझाया। उनसे कहा कि टेरेरिज्म बनाम टूरिज्म से एक को चुनने का विकल्प है। हिंसा और और पढ़ें....

© 2016 nayaindia digital pvt.ltd.
Maintained by Netleon Technologies Pvt Ltd