ताजा पोस्ट सुर्खिया
  • असम: आईएएफ का सुखोई विमान लापता
  • देश में पिछले 3 वर्षो में आर्थिक सुधार: मोदी
  • 21वीं सदी एशिया, अफ्रीका की: जेटली
  • सोमालिया में विस्फोट, 5 की मौत
  • केजरीवाल के साढू सुरेंद्र बंसल के घर छापा
  • योगी हुए सख्त, कानून -व्यवस्था पर
  • मैनचेस्टर में आंतकी बम विस्फोट, 19 मरे
  • नासा के अंतरिक्ष यात्री करेंगे स्पेसवॉक
  • राजग सरकार का तीन साल का कार्यकाल असफल
  • श्रीलंका मंत्रिमंडल में फेरबदल, नए मंत्रियों ने ली शपथ
  • जेटली ने केजरीवाल पर ठोंका एक और मानहानि का केस
  • अल्पसंख्यक कोटा खत्म करेगी योगी सरकार
  • मिश्रा ने योगेंद्र और प्रशांत भूषण से मांगी माफी
  • दो दिन के गुजरात दौरे पर पीएम मोदी
  • वेनेज़ुएला में सरकार विरोधी प्रदर्शन, 1 की मौत

समाचार विश्लेषण

परमाणु कचरे से निपटने की विकट चुनौती

केंद्रीय मंत्रिमंडल ने हाल में स्वदेशी तकनीक से बने दस नए परमाणु रिएक्टर लगाने को हरी झंडी दी। इनमें से हर रिएक्टर की क्षमता सात सौ मेगावाट की होगी। फिलहाल देश में 6,780 मेगावाट बिजली परमाणु ऊर्जा से पैदा करने की परियोजनाओं पर काम चल रहा है। केंद्र का लक्ष्य और पढ़ें....

डोनल्ड ट्रंप पर लगेगा महाभियोग?

अमेरिका के राजनीतिक इतिहास में अब तक सिर्फ दो राष्ट्रपति महाभियोग के करीब पहुंचे हैं- रिचर्ड निक्सन थे और बिल क्लिंटन। दोनों पर भी न्याय को बाधित करने का आरोप लगा था। निक्सन ने वॉटरगेट कांड के बाद इस्तीफा दिया। बिल क्लिंटन ने मोनिका लेवेंस्की कांड के लिए देश से और पढ़ें....

वन बेल्ट, वन रूट प्रोजेक्ट पर कई संदेह

चीन की परियोजना वन बेल्ट वन रूट (ओबोर) सिर्फ भावी पीढ़ियों पर ही आर्थिक बोझ नहीं डाल रही है, बल्कि शामिल देशों के लिए गंभीर सामाजिक आर्थिक और राजनीतिक समस्याएं भी खड़ी कर रहा है। ओबोर का एक प्रमुख प्रोजेक्ट- चीन पाकिस्तान आर्थिक कॉरिडोर पाकिस्तान के लिए कई समस्याएं इंगित और पढ़ें....

सुरक्षा कार्रवाइयों से आगे भी जाने की जरूरत

उल्लेखनीय है कि माओवाद/नक्सलवाद एक राजनीतिक विचारधारा है। इससे जुड़े संगठनों का मकसद चीन के पैटर्न पर भारतीय राजसत्ता पर कब्जा करना है। कहा जाता है कि ऐसे समूहों से सामान्य अपराधियों को तरह निपटना संभव नहीं है। यह भी सच है कि ऐसे समूह बातचीत से समाधान में रुचि और पढ़ें....

क्यों बेकाबू है माओवाद की समस्या?

माओवादियों से निपटने के लिए सीआरपीएफ के कोबरा की तर्ज पर आंध्र प्रदेश ने ग्रेहाउंड दस्ते बनाए थे। माना जाता है कि आंध्र प्रदेश (तेलंगाना सहित) में ग्रेहाउंड दस्ता काफी सफल रहा। वहां से माओवादियों के सफाये में इसकी बड़ी भूमिका रही। ग्रेहाउंड दस्तों को माओवाद की समस्या के लिए और पढ़ें....

नक्सल विरोधी आक्रामक नीति में क्या होगा?

गृह मंत्री के हाल के बयान और केंद्र के कुल रुख से साफ है कि सरकार अब नक्सलवादियों के खिलाफ आक्रामक नीति अपनाना चाहती है। इसकी व्याख्या राजनाथ सिंह ने “समाधान” के रूप में की है। क्या यह रणनीति सचमुच पहले अपनाए गए तरीकों से बुनियादी रूप से अलग है? और पढ़ें....

आखिर नक्सलवाद का मुकाबला कैसे?

पिछले 24 अप्रैल को छत्तीसगढ़ में सुकमा के पास सीआरपीएफ दस्ते पर हुए हमले से यह भ्रम टूट गया कि माओवादी कमजोर पड़ गए हैं। इस हमले में सीआरपीएफ के 25 जवान मारे गए। आठ मई को गृह मंत्री राजनाथ सिंह ने नक्सल प्रभावित दस राज्यों के मुख्यमंत्रियों की बैठक और पढ़ें....

दक्षिण कोरिया में होगी नई शुरुआत?

वामपंथी रूझान रखने वाले उदारवादी नेता मून जे इन दक्षिण कोरिया के नए राष्ट्रपति बने हैं। अब उनके सामने सुधारों का लंबा एजेंडा है। आर्थिक रूप से इस देश की खुशहाली बड़ी कंपनियों पर निर्भर है, जिन्होंने दक्षिण कोरिया के निर्यात उद्योग को बड़ा बनाया है। लेकिन अब आर्थिक चमत्कार और पढ़ें....

किसान भी देते हैं कई टैक्स

यह महज एक भ्रम ही है कि भारत में किसान कर नहीं देते। खेती के क्रम में उन्हें विभिन्न स्तरों पर टैक्स देना पड़ता है। मसलन, बीज खरीदने पर वैट देना पड़ता है, उर्वरक या कीटनाशकों की खरीद पर टैक्स चुकाना पड़ता है, कृषि पैदावार बेचने के लिए मंडी जाने और पढ़ें....

कृषि आय कर का जोरदार विरोध

कृषि आय पर टैक्स लगाने के पक्षधर तबकों का कहना है कि यह कर लगाने का मजबूत आधार है। इसके बावजूद अब तक इस पर अमल इसलिए नहीं हुआ, तो इसलिए कि सरकारें कृषि आधारित जन समुदायों की नाराजगी मोल नहीं लेना चाहतीं। दूसरा कारण यह है कि कृषि पर और पढ़ें....

© 2016 nayaindia digital pvt.ltd.
Maintained by Netleon Technologies Pvt Ltd