Loading... Please wait...
ताजा पोस्ट सुर्खिया
काबुल में विस्फोट, 20 मरे, 300 घायल
चैंपियंस ट्रॉफी: भारत ने बांग्लादेश को 240 रनों से हराया
यूपी में डॉक्टरों की रिटायरमेंट उम्र दो साल बढ़ी
केरल में पशु वध पर सोनिया, राहुल से माफी की मांग
आरसीए चुनाव के परिणाम दो जून को घोषित किये जाये
बाबरी मामला : आडवाणी, जोशी व अन्य को जमानत मिली
बांग्लादेश में तूफान ‘मोरा’ ने दी दस्तक
आडवाणी, जोशी कोर्ट में पेश होने के लिए लखनऊ रवाना
सीरिया में रासायनिक हथियारों का इस्तेमाल खतरे की घंटी: मैक्रोन
जापान में बस दुर्घटनाग्रस्त, 8 घायल
रूस में तूफान, 11 मरे
मोदी ने की मर्केल से मुलाकात
भारत-पाकिस्तान के बीच क्रिकेट सीरीज नहीं हो सकती: खेल मंत्री
बैल काटे जाने पर कांग्रेस के 4 कार्यकर्ता निलंबित
पीएम मोदी चार देशों की यात्रा पर रवाना

रिपोर्टर डायरी

महात्मा गांधी चुनाव यदि लड़ते तो?

महात्मा गांधी के पोते गोपाल कृष्ण गांधी को विपक्ष द्वारा उपराष्ट्रपति पद का उम्मीदवार घोषित किए जाने के साथ ही उनके खिलाफ अभियान शुरू हुआ है। बताया जा और पढ़ें....

समय की अपने यहां क्या कीमत?

इसे अपनी बढ़ती उम्र का प्रभाव कहूं या बचपन से पड़ गई गलत आदतों का कि अब जब कोई समय को महत्व नहीं देता है या समय पर नहीं चलता है तो मुझे बहुत बेचैनी होने लगती और पढ़ें....

पाक है दोगले न्याय की मिसाल

पाकिस्तान जहां एक ओर कुलभूषण जाधव को जबरदस्ती भारतीय जासूस करार देकर उसे फांसी की सजा सुना चुका है और उसे वकील उपलब्ध करवाना तो दूर रहा, भारतीय दूतावास और पढ़ें....

हिंदी विरोध की यह राजनीति

पिछले दिनों कर्नाटक में हिंदी के विरोध को लेकर जो घटनाएं घटी वे अब भले ही शांत हो गई हो मगर उनकी अनदेखी नहीं की जा सकती है। कहने को तो यह छोटा-सा मामला था। और पढ़ें....

मेट्रो सफर मानो गंगा स्नान

दिल्ली में मेट्रो तो बहुत पहले ही चलनी शुरू हो गई थी मगर मैंने अभी तक उसमें सफर ही नहीं किया। साल में एकाध बार जरूर उसमें तब सफर करता था जबकि दीपावली पास आ और पढ़ें....

रायसाहब का जवाब नहीं!

मैंने राम बहादुर राय के साथ काफी लंबा वक्त बिताया है। वे जनसत्ता में हमारे वरिष्ठ थे और ब्यूरो चीफ भी थे। कुछ लोग कहते थे कि उनके तार संघ के साथ जुड़े हुए और पढ़ें....

आज की पत्रकारिता और नैतिकता व समझ

पिछले दिनों अखबारों में छपी दो खबरों ने मुझे थोड़ा विचलित किया। एक खबर किसी युवती की उसके नाराज पूर्व आशिक द्वारा हत्या किए जाने के बारे में थी जबकि और पढ़ें....

आरटीआई से भी खोजी पत्रकारिता!

श्या‍म लाल यादव ने मेरे सामने जनसत्ता से अपनी पत्रकारिता शुरू की थी। वह प्रशिक्षु पत्रकार के रूप में 1990 के दशक में आया था। स्वभाव से बेहद विनम्र और अपने और पढ़ें....

हम कृतघ्न, नीच तंत्र व शहीद!

जैसे-जैसे उम्र बढ़ती जा रही है वैसे-वैसे कुछ आदतों में बदलाव आने लगा है, जैसे कि प्रेस क्लब में घुसने के पहले वहां रखे नोटिस बोर्ड पर जरूर नजर डाल लेता हूं और पढ़ें....

आतंक पर भारत व इजराइल का फर्क!

भारत और इजराइल दोनों ही अपने पड़ौसी देशों द्वारा प्रायोजित आतंकवाद का शिकार होते रहे हैं। आतंकवाद से मुकाबला करना दोनों ही देशों की सर्वोच्च और पढ़ें....

← Previous 123456789
(Displaying 1-10 of 139)

© 2016 nayaindia digital pvt.ltd.
Maintained by Netleon Technologies Pvt Ltd