ताजा पोस्ट सुर्खिया
  • बहुजन से बहनजी तक सिमटी बीएसपी: मोदी
  • ट्रंप ने एनएसए के दावेदारों को साक्षात्कार के लिए बुलाया
  • सईद के खिलाफ कार्रवाई तार्किक कदम: विदेश मंत्रालय
  • टाइम्स स्क्वायर पर ट्रंप की नीतियों का विरोध
  • किम जोंग नाम पर हमले का सीसीटीवी फुटेज जारी
  • आफरीदी ने क्रिकेट को कहा अलविदा
  • शेयर बाजार में तेजी, चीनी मुद्रा पड़ी कमजोर
  • राहुल-अखिलेश की दोस्ती की खूब चर्चा
  • महाराष्ट्र : भाजपा ने 24 बागियों की छुट्टी
  • टुंडला स्टेशन पर कालिंदी एक्सप्रेस मालगाड़ी से टकराई
  • प्रणब मुखर्जी का नया मुकाम कहां?
  • रामदेव को चौतरफा मदद!
  • पवार सत्ता में आने के लिए बेचैन!
  • विपक्ष राजनीति में नाकाम कांग्रेस!
  • फिर बेनकाब हुई पुलिस की नाकामी

रिपोर्टर डायरी

image-3

और अब चोर अंकल!

काफी पहले अपने इस कॉलम में मैंने ‘चोर भाईसाहब’ के बारे में लिखा था कि किस तरह हमारे बचपन में जब पड़ौसी के घर रात को चोर घुसे तो उनसे डरकर वह उन्हें चोर भाईसाहब कहकर संबोधित करने लगा था। उसने न केवल घर के पंखे खुलवाने में चोरों की और पढ़ें....

image

व्यापम के डाक्टरों की डिग्री रद्द अनुचित

शायद यह दिल्ली प्रेस से पत्रकारिता शुरु करने का ही असर है कि दिमाग किसी मुद्दे को सीधे तौर पर सोचता ही नहीं है। वहां यह सीखा था कि जो खबर दिख रही होती है वह वास्तव में खबर नहीं होती है। खबर तो उसे ढूंढ कर लानी पड़ती है। और पढ़ें....

image-2

जाट: दुश्मनी पर उतारू दोस्त

जाटों से अपनी मित्रता बहुत पुरानी है। सिखों के बाद सबसे ज्यादा चुटकले जाटों पर ही बनाए गए हैं जिन्हें उन्ही के मुंह से सुनने में बहुत आनंद आता है। एक समय था जबकि बलदेव सिहाग सरीखे दोस्त जाटों के बारे में किस्सा सुनाते थे कि एक जाट कुछ कामकाज और पढ़ें....

amar singh

अमर सिंह का अब सहारा?

उत्तर और दक्षिण भारत की राजनीति में जहां तमाम समानताएं हैं वहीं कुछ खास अंतर भी है। दक्षिण भारत में लगभग हर अहम दल का अपना चैनल है जिसके जरिए वह प्रदेश में अपनी राजनीति चमकाता है। तमिलनाडू में अन्नाद्रमुक का जया चैनल है तो द्रमुक का प्रचार प्रसार ‘सन’ और पढ़ें....

shah

बेचारे जाट न इधर के, न उधर के!

पहले सोचा था कि उत्तर प्रदेश में मतदान के पहले चरण के पूर्व भाजपा के जाट नेताओं की भावनाओं का खुलासा करूं। फिर लगा कि अगर मतदान होने के बाद इसका खुलासा किया जाए तो बेहतर रहेगा। मतदान के पहले पश्चिमी उत्तर प्रदेश में जाटों के बिगड़ैल रूख से परेशान और पढ़ें....

Kalkaji-Mandir

अपने मंदिर अब अदालत भरोसे

मंदिरों के बारे में अपनी कभी बहुत अच्छी धारणा नहीं रही। इसकी अहम वजह वहां का कुप्रबंध और गंदगी रहती आयी है। अपना मानना है कि हम हिंदू, मंदिरों को ठेके की तरह से लेते हैं। उन पर काबिज होने के लिए कुछ भी करने को तैयार रहते हैं। जिस और पढ़ें....

Joginder-Singh

टाइगर हमेशा गुर्राता ही रहा

अगर यह पूछा जाए कि लालू यादव और सीबीआई के निदेशकों में क्या संबंध रहा है तो शायद एक पंक्ति में इसका उत्तर देना मुश्किल हो जाएगा क्योंकि इस जांच एजेंसी के दो निदेशकों से उनके एकदम अलग तरह के संबंध रहे। जहां रंजीत सिन्हा को उनका बेहद करीबी माना और पढ़ें....

image

चिनम्मा नहीं बन सकती अम्मा

इस देश में खड़ाऊ को तो राज करते सुना था। वो भी रामराज्य के दौरान मगर कभी खड़ाऊ खुद सिंहासन बन जाएगी इसकी कल्पना नहीं की थी। हमारे यहां खड़ाऊ के जरिए शासन चलाने की परंपरा बहुत पुरानी रही है। हर शासक के शासन में कुछ ऐसी खड़ाऊ होती थी, और पढ़ें....

Donald-Trump

ट्रंप की दीवार और ठेकेदार

एक बार फिर दीवार चर्चा में है। हमारे देश में हर शब्द का इस्तेमाल अच्छे और बुरे दोनों ही रूप में होता आया है। जब संबंधों के लिए इसका इस्तेमाल किया जाता है तो इसे अच्छा नहीं माना जाता। याद है ना वह पुराना गीत जिसके बोल थे कि 'चांदी और पढ़ें....

matang

मतंग के एम थ्री का ऐसे बिखरना

सच कहता हूं कि जब से मतंग सिंह के दिल्ली के डाक्टर्स लेन के दो मकान प्रवर्तन निदेशालय द्वारा जब्त कर लेने की खबर पढ़ी तब से कुछ अच्छा नहीं लग रहा है। अखबारों में इन्हें फ्लैट बताया गया है जिसके नंबर 7 ए और 7सी है मगर यह काफी और पढ़ें....

© 2016 nayaindia digital pvt.ltd.
Maintained by Netleon Technologies Pvt Ltd