ताजा पोस्ट सुर्खिया
  • अब दिल्ली पर ही केजरी का रहेगा फोकस
  • लोकतंत्र की हत्या पर उतारू भाजपा : मायावती
  •  वाड्रा बोले ढीगरा आयोग की सच्चाई आएगी
  • बम की अफवाह, रोकी गई संपर्क क्रांति ट्रेन
  • अखिलेश ने ईवीएम पर उठाए सवाल
  • दुष्कर्म आरोपी पूर्व मंत्री को जमानत, जज निलंबित
  • हजारे के खिलाफ मेरा ट्वीट नहीं, हैक अकाउंट- सिसोदिया
  • उत्तर कोरिया का मिसाइल परीक्षण असफल
  • पाकिस्तान: हिंदू मंदिर में तोड-फोड
  • मोदी तीन तलाक पर बोले, नसीहत दी
  • इंडोनेशिया: सुनामी की चेतावनी हटी
  • विजातीय विवाह पर पंचायत ने लगाया एक लाख का जुर्माना
  • आप मे उठे विरोधी सुरों के बाद केजरी ने मानी गलती
  • शादी समारोह में गिरा छज्जा, नौ मरे
  • उत्तर कोरिया पर लग सकते है और प्रतिबंध

कॉमेंट्स (5)

  1. पूर्णिमा पाण्डेय

    बहुत मार्मिक शब्दों में आपने दर्द बया किया है पंकज जी जो काबिले तारीफ है बिल्कुल सही कहा आपने अभी भी जागा जा सकता है पर अब नीव को मजबूत करने की जरूरत है और वो काम सिर्फ जमीन से जुड़ कर किया जा सकता है महलो में बेठ कर नही।
    चहू और देखिये लोहा गर्म है बस एक मजबूत हथोड़े की जरुरत है। प्यार का मलहम दर्द पे लगते ही अश्रु धारा बह उठेगी ।बस पुरजोर कोशिश की जरुरत है ।

  2. संदीप पारे

    ओह पंकज जी,आप से यह उम्मीद नहीं थी।आप भी कान्ग्रेसी भेडचाल में ही बह गये लगते हैं। लेख बहुत सटीक और सम सामयिक है।परंतु आप सहित तमाम कान्ग्रेसिओको अब गांधी परिवार की छाया से बाहर आना होगा तब ही 200 साल पुराने इस दल को बचाया जा सकता है।कभी तो अंतरातमा की आवाज़ को पहचानिये।आज काँग्रेस में राहुल से बेहतर एक से एक नेता हैं जो उसकी बागडोर थाम भी सकते हैं और इसे पुनरजीवित भी कर सकते हैं।आज के इस विपरीत राजनीतिक माहौलमे सबसे उतम नेता केवल सिंधिया है जो इसकी बागडोर संभाल सकते हैं।आप भी एक योग्य और जुझारू नेता हैं।तमाम लोग और आप भी जानते हैं कि ऐसा होगा नहीं। वजह आप भी जानते है कि काँग्रेसमें जो थोड़ी बहुत एकता है वह गांधी ” नाम” से है (सोनिया या राहुल नहीं) गांधी नाम हटा दिया जाये तो काँग्रेसछिनन भिनन हो जायेगी ( वैसे भी अब बचा ही क्या है)आज कस्न्ग्रेस में गली मोहल्ले से दिल्ली तक ऍस कदर गुटवाजी है कि सब टांग खींचने में लगे हैं।ऐसे में सिंधिया को कौन आगे बढ़ने देगा।सब गांधी परिवार की गुलामी, चमचागिरी और चाटुकारिता में इतने मशगूल हैं कि किसी को काँग्रेससे कोई मतलब नहीं है।अभी भी समय है , सब मथंन करें और इस 200 साल पुराने दल को बचायें।

    1. सचिन त्यागी

      पंकज शर्मा जी कांग्रेस के ही नही ,’ नेहरु- गाँधी परिवार’ के भी वफादार हैं . ऐसी वफादारी की भी मेरे दिल में एक इज्जत है . पंकज शर्मा कांग्रेस के डूबते जहाज को छोड़कर नहीं भाग रहे . पंकज शर्मा चूहे नहीं हैं ….

  3. अशोक जोशी

    यही बात सज्जन वर्मा ने भी कही जिसका भाई लोगों ने विरोध किया ।एेसी ही चांडाल चौकसी ने संजय गांधी को बिगाडा राजीव की छवि खराब की और अब राहुल की नैया डूबोने की कोशिश कर रहे हैं ।

  4. विषदेव पाण्डेय

    यह तो एक कटु सत्य है ही कि सीमा पर घायल सैनिक जब तक चैतन्य स्थिति में हो शत्रु सेना पर आक्रमक रहकर ही प्राण रक्षा कर सकता है और अपनी सीमा में प्रवेश लेने से भी तभी रोक सकता है जब तक वार करता जाये , उन परिस्थियों में अपनी पीड़ा का प्रदर्शन उसे हलास कर सकती है , अपितु पीड़ा की सहन शक्ति कितनी है यथा स्थिति पर निर्भर करता है ” क्या अन्य सैनिक अचेत होने से पूर्व तत्पर होंगे , यदि नहीं तो घायल सैनिक और सीमा दोनों असुरक्षित हो जायेंगे , इसलिये समपूर्ण बटालियन की तत्परता ही रक्षा कर सकती है , गौर्वान्वित रहने के लिये प्रति पल सजग रहकर ही तो राष्ट्र की सेवा और बटालियन में जागृति लाई जा सकती है , अपितु बटालियन की मनोभाओं और स्वयं का आदेश दोनों कितने महत्व पूर्ण हैं , इस पर दृष्टि बनाये रखना अपनी जनता के मध्य विश्वास का ग्यान रखना , जनता के त्याग की भावनाओंका अवलोकन करना महत्वपूर्ण विषय है किवह क्या चाहती है , जनता सर्व प्रथम सुरक्षित राष्ट्र की इक्षा शक्ति रखती है जो नोट बंदी के पश्चात क्षणिक कष्ट प्राप्ति पर भी राष्ट्र हितको नहीं भुला पाई , जब कि नोट बंदी पर सरकार को घेरने का प्रयास निस्फल ” रहा

Comments are closed.

बताएं अपनी राय!

नीचे नजर आ रहे कॉमेंट अपने आप साइट पर लाइव हो रहे है। हमने फिल्टर लगा रखे है ताकि कोई आपत्तिजनक शब्द, कॉमेंट लाइव न हो पाए। यदि ऐसा कोई कॉमेंट- टिप्पणी लाइव हुई और लगी हुई है जिसमें अर्नगल और आपत्तिजनक बात लगती है, गाली या गंदी-अभर्द भाषा है या व्यक्तिगत आक्षेप है तो उस कॉमेंट के साथ लगे ‘ आपत्तिजनक’ लिंक पर क्लिक करें। उसके बाद आपत्ति का कारण चुने और सबमिट करें। हम उस पर कार्रवाई करते उसे जल्द से जल्द हटा देगें। अपनी टिप्पणी खोजने के लिए अपने कीबोर्ड पर एकसाथ crtl और F दबाएं व अपना नाम टाइप करें।

आपका कॉमेट लाइव होते ही इसकी सूचना ईमेल से आपको जाएगी।

आगे यह भी पढ़े

सर्वाधिक पढ़ी जा रही हालिया पोस्ट

ईवीएम पर होगी पार्टियों की बैठक

ईवीएम पर होगी पार्टियों की बैठक

चंडीगढ़। इलेक्ट्रोनिक वोटिंग मशीन, ईवीएम को लेकर पार्टियों के बीच और पढ़ें...

मुसलमानों को मोदी की नसीहत!

मुसलमानों को मोदी की नसीहत!

नई दिल्ली। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने देश के मुसलमानों को और पढ़ें...

मोदी खुद कर रहे राजनीति:

मोदी खुद कर रहे राजनीति:  कांग्रेस

नई दिल्ली। तीन तलाक के मसले पर राजनीति नहीं होने और पढ़ें...

तीन तलाक पर मौर्य का विवादित

तीन तलाक पर मौर्य का विवादित बयान

बस्ती। उत्तर प्रदेश की योगी आदित्यनाथ सरकार के एक वरिष्ठ और पढ़ें...

© 2016 nayaindia digital pvt.ltd.
Maintained by Netleon Technologies Pvt Ltd

>>>>>>>>>>>