परमाणु शस्त्र संधि पर अमेरिका रुख स्पष्ट करे: रूस

मॉस्को। रूस ने गुरुवार को मध्यम दूरी के परमाणु शस्त्रों से संबंधित संधि के मुद्दे पर अमेरिका से सवाल पूछा कि वह समझ नहीं पा रहा है कि मध्यम दूरी के परमाणु शस्त्र समझौते (आईएनएफ) को अमेरिका जारी रखना चाहता है या नहीं। रूस के विदेश उप मंत्री सर्गेई रिबकोव ने कहा कि रूस यह नहीं समझ पा रहा है कि मध्यम दूरी के परमाणु शस्त्र समझौते (आईएनएफ) को अमेरिका जारी रखना चाहता है या नहीं।

रूस की यह प्रतिक्रिया नाटो में अमेरिकी राजदूत के बेली हचिसन के बुधवार को दिये गये बयान के बाद आयी है। अमेरिकी राजदूत ने कहा था कि दो फरवरी से छह महीने की संक्रमण अवधि शुरू होगी जिसके बाद अमेरिका इस संधि से पूरी तरह हट जायेगा। उन्होंने रूस से आग्रह किया था कि 1987 में हुई संधि को जारी रखने के लिये वह इसके पालन के सबूत दे। रूस के विदेश उप मंत्री ने संधि पर अमेरिका की मौजूदा स्थिति को समझने में विफलता जतायी है। श्री रिबकोव ने जेनेवा में हुई बातचीत का हवाला दिया। जेनेवा में अमेरिका ने संधि को निलंबित रखने की बात कही थी। विदेश उप मंत्री ने ऐसे में पूछा कि क्या अमेरिका संधि को जारी रखना चाहता है या उससे पूरी तरह हटना चाहता है। यूरोप में अमेरिकी एजिस अशोर मिसाइल प्रणाली की तैनाती पर श्री रिबकोव ने रूस के पहले दिये गये बयानों को दोहराया। इस प्रणाली से दागी जाने वाली मिसाइलें संधि के तहत प्रतिबंधित हैं। उन्होंने कहा कि अमेरिका ही गलत है और भड़काने वाली भाषा बोल रहा है। ऐसे में रूस से यह नहीं पूछा जाना चाहिये कि वह संधि की शर्तों को कैसे मानेगा।

71 Views

बताएं अपनी राय!

नीचे नजर आ रहे कॉमेंट अपने आप साइट पर लाइव हो रहे है। हमने फिल्टर लगा रखे है ताकि कोई आपत्तिजनक शब्द, कॉमेंट लाइव न हो पाए। यदि ऐसा कोई कॉमेंट- टिप्पणी लाइव हुई और लगी हुई है जिसमें अर्नगल और आपत्तिजनक बात लगती है, गाली या गंदी-अभर्द भाषा है या व्यक्तिगत आक्षेप है तो उस कॉमेंट के साथ लगे ‘ आपत्तिजनक’ लिंक पर क्लिक करें। उसके बाद आपत्ति का कारण चुने और सबमिट करें। हम उस पर कार्रवाई करते उसे जल्द से जल्द हटा देगें। अपनी टिप्पणी खोजने के लिए अपने कीबोर्ड पर एकसाथ crtl और F दबाएं व अपना नाम टाइप करें।

आपका कॉमेट लाइव होते ही इसकी सूचना ईमेल से आपको जाएगी।