पनबिजली उपक्रमों के 5,254 कार्यकारियों के वेतनमान नियमित

नई दिल्ली। केंद्रीय मंत्रिमंडल ने सार्वजनिक क्षेत्र के चार पनबिजली उपक्रमों के 5,254 कार्यकारियों के वेतनमानों को नियमित करने की मंजूरी दे दी है। ये चार उपक्रम हैं...एनएचपीसी, एनईईपीसीओ, टीएचडीसी इंडिया और सतलज जलविद्युत निगम लि.(एसजेवीएनएल)।

केंद्रीय रेल मंत्री पीयूष गोयल ने इस फैसले की जानकारी देते हुए बुधवार को बताया कि वेतनमान को नियमित करने पर 323 करोड़ रुपये का खर्च आएगा। जनवरी, 1997 से चार सार्वजनिक उपक्रमों के वेतनमान में विसंगति है। इसकी वजह यह है कि संगठित श्रेणी के वर्कमैन-गैर कार्यकारियों के वेतनमान में एनटीपीसी-पेट्रोलियम क्षेत्र के संगठनों की तर्ज पर संशोधन किया गया है। ई-1 ग्रेड में श्रमिकों और निरीक्षकों का वेतनमान कार्यकारियों से अधिक है। इस मंजूरी के बाद पनबिजली इकाइयों द्वारा बिजली मंत्रालय के 4 अप्रैल, 2006 और 1 सितंबर, 2006 के आदेश के बाद अपनाए गए वेतनमान को नियमित किया जाएगा। इस मंजूरी से एक जनवरी, 2007 से पहले के बिजली इकाइयों के बोर्ड स्तर के 5,254 कार्यकारियों को फायदा होगा।

59 Views

बताएं अपनी राय!

नीचे नजर आ रहे कॉमेंट अपने आप साइट पर लाइव हो रहे है। हमने फिल्टर लगा रखे है ताकि कोई आपत्तिजनक शब्द, कॉमेंट लाइव न हो पाए। यदि ऐसा कोई कॉमेंट- टिप्पणी लाइव हुई और लगी हुई है जिसमें अर्नगल और आपत्तिजनक बात लगती है, गाली या गंदी-अभर्द भाषा है या व्यक्तिगत आक्षेप है तो उस कॉमेंट के साथ लगे ‘ आपत्तिजनक’ लिंक पर क्लिक करें। उसके बाद आपत्ति का कारण चुने और सबमिट करें। हम उस पर कार्रवाई करते उसे जल्द से जल्द हटा देगें। अपनी टिप्पणी खोजने के लिए अपने कीबोर्ड पर एकसाथ crtl और F दबाएं व अपना नाम टाइप करें।

आपका कॉमेट लाइव होते ही इसकी सूचना ईमेल से आपको जाएगी।