Loading... Please wait...

धोखाधड़ी उजागर होने पर यूको बैक के शेयर लुढ़के

मुंबई। सार्वजनिक क्षेत्र के यूको बैंक को 737 करोड़ रुपए की चपत लगाने का मामला उजागर होने के बाद सोमवार को बैंक के शेयरों में भारी गिरावट दर्ज की गई। देश के शेयर बाजारों में यूको बैंक के शेयर लुढ़कर तकरीबन एक साल के निचले स्तर पर आ गए। कथित धोखाधड़ी के मामले में जांच चल रही है।

बंबई स्टॉक एक्सचेंज (बीएसई) पर यूको बैंक का शेयर 14.32 फीसदी फिसलकर 52 सप्ताह के निचले स्तर 19.15 रुपए प्रति शेयर तक गिर गया, जोकि सितंबर 2006 के बाद का सबसे निचला स्तर है। हालांकि दैनिक कारोबारी सत्र के अंत में यूको बैंक के एक शेयर की कीमत पिछले सत्र के मुकाबले 6.49 फीसदी की गिरावट के साथ 20.90 रुपए पर बंद हुई।

नेशनल स्टॉक एक्सचेंज (एनएसई) पर यूको बैंक का शेयर अगस्त 2006 के बाद के सबसे निचले स्तर पर लुढ़का और 17.98 फीसदी गिरावट के साथ 52 सप्ताह के निचले स्तर पर 18.25 रुपए प्रति शेयर आ गया। लेकिन बाद में थोड़ा सुधार के बाद 6.29 फीसदी की कमजोरी के साथ 20.85 रुपए प्रति शेयर पर बंद हुआ। केंद्रीय जांच ब्यूरो (सीबीआई) के अधिकारियों ने रविवार को कहा कि वे जल्द ही बैंक के पूर्व अध्यक्ष व प्रबंध निदेशक (सीएमडी) अरुण कौल से धोखाधड़ी के सिलसिले में पूछताछ करेंगे।

इससे पहले, एजेंसी ने कौल, एरा इंजीनियरिंग इन्फ्रा इंडिया (ईईआईएल) और उसके सीएमडी हेम सिंह भड़ाना, दो चार्टर्ड अकाउंटेंट पंकज जैन और वंदना शारदा और अल्टियस फिन्सर्व के पवन बंसल व अन्य के खिलाफ 621 करोड़ रुपये कर्ज की कथित धोखाधड़ी को लेकर मामला दर्ज किया। बैंक को इस धोखाधड़ी से 737 करोड़ रुपये का नुकसान हुआ है। आरोपियों ने साजिश रचकर कथित तौर पर बैंक के

दो ऋण के मामलों में करीब 621 करोड़ रुपये की हेराफेरी करके बैंक को चपत लगाई। सीबीआई के अधिकारियों के मुताबिक, वर्ष 2010 से 2015 तक यूको बैंक के सीएमडी रहे कौल ने कथित तौर पर आरोपी कंपनी को कर्ज दिलाने में मदद की। 
 

468 Views

बताएं अपनी राय!

नीचे नजर आ रहे कॉमेंट अपने आप साइट पर लाइव हो रहे है। हमने फिल्टर लगा रखे है ताकि कोई आपत्तिजनक शब्द, कॉमेंट लाइव न हो पाए। यदि ऐसा कोई कॉमेंट- टिप्पणी लाइव हुई और लगी हुई है जिसमें अर्नगल और आपत्तिजनक बात लगती है, गाली या गंदी-अभर्द भाषा है या व्यक्तिगत आक्षेप है तो उस कॉमेंट के साथ लगे ‘ आपत्तिजनक’ लिंक पर क्लिक करें। उसके बाद आपत्ति का कारण चुने और सबमिट करें। हम उस पर कार्रवाई करते उसे जल्द से जल्द हटा देगें। अपनी टिप्पणी खोजने के लिए अपने कीबोर्ड पर एकसाथ crtl और F दबाएं व अपना नाम टाइप करें।

आपका कॉमेट लाइव होते ही इसकी सूचना ईमेल से आपको जाएगी।

© 2018 ANF Foundation
Maintained by Quantumsoftech