विमान ईंधन 6.7 फीसदी महंगा, जल्द आ सकती है पेट्रोल-डीजल की भी बारी

Must Read

नई दिल्ली | विमान ईंधन के मूल्य में आज 6.7 की एक बड़ी वृद्धि की गई। वैश्विक बाजार (Global Markets) में कच्चे तेल (Crude Oil) के महंगा होने से जल्द ही डीजल और पेट्रोल (Diesel and Petrol) के खुदरा भाव भी बढ़ाए जा सकते हैं। सरकारी तेल विपणन कंपनियों ने दिल्ली में विमान ईंधन (ATF) का भाव प्रति हजार लीटर 3,885 रुपये यानी 6.7 फीसदी बढ़ा कर 61,690.28 रुपये कर दिया।

विभिन्न राज्यों पेट्रोलियम पर बिक्री कर की दरों में भिन्नता के कारण वहां एटीएफ के भाव अलग अलग हो सकते हैं। इससे पहले कंपनियों ने दो बार एटीएफ के भाव घटाए थे। पहली अप्रैल को इसमें तीन फीसदी और 19 अप्रैल को एक फीसदी की कमी की गयी थी। डीजल एवं पेट्रोल के भाव लगातार 16वें दिन एक ही स्तर पर बने हुए हैं। दिल्ली में पेट्रोल 90.40 रुपये और डीजल 80.73 रुपये प्रति लीटर का पड़ रहा है।

इसे भी पढ़ें – Rajasthan के इन चार शहरों में जल्द स्थापित होंगे पांच ऑक्सीजन प्लांट, Secure Meters बना COVID पीड़ितों का मददगार

अधिकारियों ने संकेत दिया है कि मोटर वाहन ईंधनों के दामों में जल्दी ही संधोशन किया जा सकता है। एक अधिकारी ने कहा कि पिछले चार दिन (27 अप्रैल) से दाम लगातार चढ़ रहे हैं और इस दौरान दुबई में कच्चा तेल (Crude Oil) 2.91 डालर प्रति बैरल महंगा हो चुका है।

इसे भी पढ़ें – UP पंचायत चुनावों के लिए मतगणना पर रोक लगाने से Supreme court ने किया इंकार, जीत के बाद जश्न पर लगाई पाबंदी

पेट्रोल और डीजल के खुदरा मूल्यों में क्रमश: 60 फीसदी और 54 फीसदी केंद्रीय व राज्य स्तरीय करों का होता है। भारत में कोविड19 की नयी लहर से पेट्रोलियम की मांग पर असर पड़ने की संभावनाओं के बावजूद अंतराष्ट्रीय बाजार में कच्चा तेल चढ़ रहा है। इसके पीछे अमेरिका की मजबूत मांग और डालर की कमजोरी बताया जा रहा है।

- Advertisement -spot_img

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

साभार - ऐसे भी जानें सत्य

Latest News

‘चित्त’ से हैं 33 करोड़ देवी-देवता!

हमें कलियुगी हिंदू मनोविज्ञान की चीर-फाड़, ऑटोप्सी से समझना होगा कि हमने इतने देवी-देवता क्यों तो बनाए हुए हैं...

More Articles Like This