सीतरमण ने बैंककर्मियों को दिलाया भरोसा - Naya India
कारोबार| नया इंडिया|

सीतरमण ने बैंककर्मियों को दिलाया भरोसा

नई दिल्ली। सरकारी बैंकों के निजीकरण से परेशान बैंककर्मियों को केंद्रीय वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने भरोसा दिलाया है। उन्होंने कहा है कि सभी बैंकों का निजीकरण नहीं होगा और जिन बैंकों का निजीकरण किया जाएगा, उनके सारे कर्मचारियों के हितों की रक्षा की जाएगी। उन्होंने यह भी कहा कि नौकरी की सेवा शर्तों और वेतन आदि हर चीज का सरकार ख्याल रखेगी। गौरतलब है कि सरकार ने बजट में दो सरकारी बैंकों के निजीकरण का ऐलान किया था, हालांकि इनके नामों की घोषणा अभी नहीं की गई है।

सरकार के निजीकरण के फैसले के खिलाफ बैंककर्मियों की हड़ताल के बीच सीतारमण ने स्पष्ट किया कि दो बैंकों के निजीकरण का फैसला सोच समझ कर किया गया है। उन्होंने दावा करते हुए कहा- इसमें किसी प्रकार की कोई जल्दबाजी नहीं है। सरकार चाहती हैं कि बैंक देश की आकांक्षाओं पर खरा उतरें। वित्त मंत्री ने बैंककर्मियों को भरोसा दिलाया कि बैंकों के सभी मौजूदा कर्मचारियों के हितों की रक्षा हर कीमत पर की जाएगी।

निर्मला सीतारमण ने कहा- जिन बैंकों का निजीकरण होना भी है, निजीकरण के बाद भी ये बैंक पहले की तरह काम करते रहेंगे। इसमें कर्मचारियों के हितों को कोई नुकसान नहीं पहुंचने दिया जाएगा। उन्होंने बताया कि केंद्रीय कैबिनेट ने डेवलपमेंट फाइनेंस इंस्टीट्यूशन, डीएफआई के गठन को मंजूरी दे दी है, जिसके तहत वित्तीय फंडिंग के साथ विकास कार्य सुनिश्चित किया जाएगा।

वित्त मंत्री ने कहा कि पहले भी निवेश फंड बनाने के प्रयास किए जाते रहे हैं, लेकिन लंबे समय का जोखिम देखते हुए कोई भी बैंक इसमें हाथ डालने को तैयार नहीं था। उन्होंने कहा- पिछले बजट में हमने कहा था कि बुनियादी ढांचे और विकासपरक योजनाओं की फंडिंग के लिए एक नेशनल बैंक गठित किया जाएगा। सरकार विकासपरक वित्तीय संस्थानों के लिए कुछ प्रतिभूति भी जारी करने पर विचार कर रही है। इससे लागत कम होगी।

Leave a comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *