अप्रैल के बाद कार उद्योग की मंदी में सुधार की संभावना: टाटा मोटर्स

अहमदाबाद। देश के वाहन उद्योग विशेष तौर पर कारों की बिक्री में लगातार मंदी के बीच अग्रणी वाहन निर्माता तथा देश की तीसरी सबसे बड़ी कार विक्रेता कंपनी टाटा मोटर्स ने शुक्रवार को कहा कि चालू कैलेंडर साल की पहली तिमाही अथवा एक अप्रैल के बाद इसमें सुधार हो सकता है।

कंपनी की नवीनतम प्रीमियम हैचबैक कार अल्ट्रोज के यहां लांच के मौके पर टाटा मोटर्स की यात्री वाहन कारोबार इकाई के अध्यक्ष मयंक परीक ने पत्रकारों से कहा कि वाहन उद्योग की बिक्री में चालू वित्तीय वर्ष के पहले नौ माह में 16 प्रतिशत की गिरावट आयी है। कारों की बिक्री मे मंदी के लिए कई कारण हैं।

इनमें से प्रमुख यह भी है कि सारे कार उत्पादक बीएस 4 कारों का स्टॉक, सरकार की ओर से इन्हें हटाने के लिए तय की गयी एक अप्रैल की समय सीमा से पहले खत्म करने में लगे हैं। इसके अलावा गैर बैंकिंग वित्तीय संस्थानों यानी एनबीएफसी मुद्दे के चलते ऋण उपलब्धता की समस्या, देश में सामान्य मंदी का असर और पहली बार खरीद करने वाले ग्राहकों का इस्तेमालशुदा कारों की ओर रुख करना जैसे कारण भी हैं। परीक ने कहा कि एक अप्रैल के बाद जब बीएस 4 मानक वाले कारों का मामला समाप्त हो जायेगा तो कार बिक्री में उछाल आएगा।

यह खबर भी पढ़ें:- टाटा मोटर्स ने लांच की नई कार ऑल्ट्रोज, शुरूआती कीमत 5.29 लाख रुपए

वाहन उद्योग से मंदी दूर करने के लिए केवल सरकार से उम्मीद करने की बजाय कार विनिर्माताओं को भी हरसंभव कदम उठाने चाहिए। टाटा मोटर्स ने ऐसे कई कदमों पर काम करना शुरू किया है जिनमें लागत में कटौती, डीलर स्टॉक को सही स्तर पर रखना, विश्व स्तरीय मानकों वाली नयी कारों को लांच कर ग्राहकों को इन्हें खरीदने के लिए प्रेरित करने जैसे कदम उठाए जा रहे हैं। देश के हर कोने में अपने डीलरों तक जल्द से जल्द नई कार पहुंचाने के लिए टाटा मोटर्स सात स्टॉक यार्ड स्थापित कर रही है जिनमें से एक गुवाहाटी में शुरू हो चुका है।

गुजरात के साणंद में एक और समेत छह अन्य को आगामी दीवाली तक शुरू किया जाएगा। इससे कंपनी से निकलने के बाद ट्रकों में और डीलरों के यार्ड में लंबे समय तक पड़ी कारों के टायर, बैटरी आदि में गड़बड़ी तथा पुराना होने जैसी समस्याओं से मुक्ति मिलेगी तथा डीलरों को भी बड़ा स्टॉक रखने से होनी वाले वित्तीय नुकसान से मुक्ति मिलेगी। ग्राहकों को भी नया उत्पाद मिलेगा। एक प्रश्न के उत्तर में उन्होंने कहा कि टाटा मोटर्स की सभी नयी कारें अब केवल बीएस 6 मानक वाली हैं।

यह अपने बीएस 4 स्टॉक को घटाने के मामले में देश में सबसे आगे हैं। एक फरवरी तक यह कुल मिला कर केवल 5000 इकाई रह जाने की संभावना है। कंपनी डीजल कारे भी बनाती रहेगी और इस बात को ग्राहकों पर छोड़ेगी कि वे इसे चाहते हैं या नहीं। अल्ट्रोज के पेट्रोल संस्करण की कीमत पांच लाख 29 हजार से तथा डीजल की छह लाख 99 हजार से शुरू होती है। इसमें आवाज के जरिए विभिन्न प्रकार के नियंत्रण संबंधी प्रणाली तथा विश्वस्तरीय सुरक्षा मानक भी उपलब्ध हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Shares