ओपेक की बैठक टलने से कच्चा तेल टूटा

मुंबई। तेल बाजार की हिस्सेदारी को लेकर छिड़े संग्राम में अमेरिकी मध्यस्थता से युद्धविराम आने की उम्मीदों से पिछले सप्ताह अंतर्राष्ट्ररीय बाजार में कच्चे तेल के दाम में जबरदस्त तेजी आई थी। मगर, तेल बाजार की हिस्सेदारी की प्रतिस्पर्धा के दो प्रमुख प्रतिद्वंद्वी रूस और सउदी अरब के बीच इस बाबत संभावित बैठक गुरूवार तक के लिए टलने से तेल की तेजी पर ब्रेक लग गया।

सउदी अरब तेल निर्यातक देशों का समूह ओपेक का प्रमुख सदस्य होने के साथ-साथ अमेरिका के बाद दुनिया का दूसरा सबसे बड़ा कच्चा तेल उत्पादक है। वहीं, रूस दुनिया में तीसरा सबसे बड़ा तेल उत्पादक है।

बेंचमार्क कच्चा तेल ब्रेंट क्रूड के सबसे सक्रिय सौदे में पिछले सत्र के मुकाबले दो फीसदी जबकि अमेरिकी लाइट क्रूड वेस्ट टेक्सास इंटरमीडिएट में तीन फीसदी से ज्यादा की गिरावट के साथ कारोबार चल रहा था।

एंजेल ब्रोकिंग के डिप्टी वाइस प्रेसीडेंट और एनर्जी रिसर्च मामलों के जानकार अनुज गुप्ता ने बताया कि तेल के उत्पादन में कटौती कर बाजार मे संतुलन बनाने के मकसद से सउदी और रूस के बीच होने वाली बैठक टलने के बाद बाजार में आपूर्ति आधिक्य की चिंता फिर बढ़ गई है जिससे तेल की कीमतों पर दबाव देखा जा रहा है।

अंतर्राष्ट्ररीय वायदा बाजार इंटरकांटिनेंटल एक्सचेंज यानी आईसीई पर ब्रेंट क्रूड के जून डिलीवरी अनुबंध में पिछले सत्र के मुकाबले 2.02 फीसदी की कमजोरी केक साथ 33.42 डॉलर प्रति बैरल पर कारोबार चल रहा था जबकि कारोबार दौरान ब्रेंट क्रूड का भाव 30.68 डॉलर प्रति बैरल तक टूटा।

इसे भी पढ़ें :- महावीर जयंती के अवकाश पर शेयर बाजार बंद

वही, न्यूयार्क मर्केंटाइल एक्सचेंज यानी नायमैक्स पर डब्ल्यूटीआई के मई अनुबंध में पिछले सत्र से 3.61 फीसदी की गिरावट के साथ 27.62 डॉलर प्रति बैरल पर कारोबार चल रहा था जबकि कारोबार के दौरान अमेरिकी बेंचमार्क क्रूड का भाव 25.41 डॉलर प्रति बैरल तक टूटा।

बता दें कि सउदी और रूस के बीच मध्यस्थता करने को लेकर अमेरिकी राष्टरपति डोनाल्ड टरंप के टवीट के बाद दो अप्रैल को कच्चे तेल के दाम में जबरदस्त उछाल आया। ब्रेंट क्रूड का भाव जबरदस्त उछाल के साथ 36.29 डॉलर प्रति बैरल पर चला गया था।

अंतर्राष्ट्ररीय बाजार में कच्चे तेल में आई तेजी से मिले संकेतों से बीते सप्ताह के आखिरी सत्र में षुक्रवार को घरेलू वायदा बाजार में भी कच्चे तेल के दाम में ऐतिहासिक तेजी दर्ज की गई।

मल्टी कमोडिटी एक्सचेंज यानी एमसीएक्स पर कच्चे तेल का अप्रैल अनुबंध शुक्रवार को पिछले सत्र के मुकाबले 431 रुपए यानी 26.59 फीसदी की तेजी के साथ 2,052 रुपए प्रति बैरल पर बंद हुआ जबकि कारोबार के दौरान भाव 2,104 रुपए प्रति बैरल तक उछला।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Shares