40 फीसदी घटा खाद्य तेल का आयात

मुंबई। भारत ने इस साल मई में पिछले साल के मुकाबले 40 फीसदी कम खाने के तेल का आयात किया। खाद्य तेल उद्योग संगठन सॉल्वेंट एक्स्ट्रैक्टर्स एसोसिएशन ऑफ इंडिया यानी एसईए ने आज कहा कि इस साल मई में खाद्य तेल का आयात 2011 के बाद सबसे कम हुआ है।

उद्योग संगठन के मुताबिक, कोरोना काल में देश में होटल, रेस्तरां और कैंटीन के बंद रहने के कारण होरेका सेगमेंट की मांग नदारद रही जिसके चलते खाद्य तेल के आयात में कमी आई है।

खाद्य तेल उद्योग संगठन सॉल्वेंट एक्स्ट्रैक्टर्स एसोसिएशन ऑफ इंडिया यानी एसईए द्वारा संकलित आंकड़ों पर गौर करें तो इस साल मई में भारत ने 707478 टन खाने के तेल का आयात किया है जबकि पिछले साल मई महीने में खाद्य तेल का आयात 1180786 टन हुआ था। इस प्रकार खाने के तेल के आयात में पिछले साल के मुकाबले मई महीने में 40 फीसदी की गिरावट आई है। हालांकि तेल तिलहन सीजन 2019-20 नवंबर-अक्टूबरके दौरान आरंभिक सात महीने यानी नवंबर से मई तक भारत ने पिछले साल के मुकाबले 18 फीसदी कम खाने के तेल का आयात किया है।

चालू सीजन के शुरुआती सात महीने में खाद्य तेल का आयात 6889662 टन हुआ है जबकि पिछले साल इसी अवधि के दौरान खाने के तेल का आयात 8384616 टन हुआ था। एसईए के कार्यकारी निदेशक डॉ. बीवी मेहता ने एक बयान में कहा कि होटल, रेस्तरा, कैंटीन बंद होने और सार्वजनिक समारोहों का आयोजन नहीं होने के कारण होरेका सेगमेंट की मांग नदारद रही जिसके चलते अप्रैल और मई में खाने के तेल का आयात कम हुआ।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Shares