किसान खेती में आधुनिक तकनीकी अपनाएं : तोमर

मुरैना। केन्द्रीय कृषि मंत्री नरेंद्र सिंह तोमर ने कहा कि किसानों की फसलों से आमदनी का धंधा तभी बन सकेगा जब वे परंपरागत खेती को छोड़कर आधुनिक तकनीकी को अपनाकर विभिन्न आयामों से जुड़ें।

तोमर ने यह बात नूरावाद में इंडो, इजराइल के सहयोग से 9 करोड़ 96 लाख रुपये की लागत से निर्मित होने वाले सेंटर आॅफ एक्सीलेन्स फाॅर बेजीटेवल्स के शिलान्यास कार्यक्रम में कल कहीं। उन्होंने कहा कि मुरैना, भिण्ड, शिवपुरी और श्योपुर जिले को भी जल्द राष्ट्रीय बागवानी मिशन में जोड़ा जायेगा। उन्होंने कहा कि यह चारों जिले राष्ट्रीय बागवानी मिशन से नहीं जुड़े थे।

उन्होंने कहा कि इस बागवानी उत्कृष्टता केन्द्र का निर्माण पूर्ण होने पर मुरैना सहित चंबल में कृषि के क्षेत्र में क्रान्ति आ जायेगी। इस केन्द्र से प्रतिवर्ष 2 हजार कृषक आधुनिक उद्यानिकी फसलों का प्रशिक्षण लेकर अपने आप में स्वावलंबी बनेंगे। इससे किसान की फसलों में 2 गुना मुनाफा होकर वह अपने आर्थिक एवं सामाजिक उत्थान कर सकेगा। इस एकीक्रत बागवानी विकास मिशन के माध्यम से देश की जे.डी.पी. में अभूतपूर्व वृद्धि होगी।

उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी लगातार किसानों के कल्याण के लिये प्रयास कर रहे है। उन्होंने कहा कि किसानों की फसलों से आमदनी का धंधा तभी बन सकेगा, जब परंपरागत खेती को छोड़कर किसान आधुनिक तकनीकी को अपनाकर विभिन्न आयामों से जुड़ें, ताकि किसान आमदनी मुनाफे की श्रेणी में आ जाये।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Shares