जीडीपी 7.5 फीसदी गिरी - Naya India
कारोबार| नया इंडिया|

जीडीपी 7.5 फीसदी गिरी

नई दिल्ली। चालू वित्त वर्ष की पहली तिमाही में 23.9 फीसदी की भारी भरकम गिरावट के बाद दूसरी तिमाही में देश के सकल घरेलू उत्पादन में थोड़ा सुधार हुआ है और यह दूसरी तिमाही में साढ़े  सात फीसदी गिरा है। हालांकि पहले अनुमान लगाए जा रहे थे कि दूसरी तिमाही में भी जीडीपी में गिरावट दो अंकों में रह सकती है। इस लिहाज से कहा जा सकता है कि दूसरी तिमाही यानी जुलाई से सितंबर के बीच जीडीपी की स्थिति में उम्मीद से बेहतर सुधार हुआ है। इसके बावजूद भारतीय रिजर्व बैंक, आरबीआई के विशेषज्ञों का मानना है कि देश तकनीकी रूप से आर्थिक मंदी की चपेट में आ गया है।

बहरहाल, दूसरी तिमाही के लिए सभी विश्लेषकों ने आठ से 12 फीसदी तक की गिरावट का अनुमान जताया था। सबसे कम अनुमान भारतीय रिजर्व बैंक का था, जिसने 8.6 फीसदी की गिरावट का अनुमान जताया था। गौरतलब है कि पहली तिमाही में 23.9 फीसदी की गिरावट आई थी। कोरोना वायरस की महामारी को रोकने के लिए बेहद सख्ती के साथ लागू किए गए लॉकडाउन की वजह से ऐसा हुआ था। बहरहाल, सांख्यिकी व कार्यक्रम क्रियान्वयन मंत्रालय की ओर से शुक्रवार को जारी आंकड़ों के मुताबिक, दूसरी तिमाही में जीडीपी में 7.5 फीसदी की गिरावट हुई है।

शुक्रवार को जीडीपी के आंकड़े आने से कुछ ही देर पहले आठ कोर इंडस्ट्रीज के अक्टूबर महीने के आंकड़े भी जारी किए गए। इन आंकड़ों के मुताबिक, आठ कोर इंडस्ट्रीज का आंकड़ा पिछले साल के यानी अक्टूबर 2019 की तुलना में 2.5 फीसदी कम है। गौरतलब है कि चालू वित्त वर्ष की पहली तिमाही के पहले दो महीनों- अप्रैल और मई में देश में पूरी तरह से लॉकडाउन था। मई के अंत में जाकर कारोबारी गतिविधियां और लोगों का आना-जाना शुरू हुआ था। जबकि दूसरी तिमाही में पूरी अर्थव्यवस्था खुल गई है।

तभी दुनिया भर की रेटिंग एजेंसियों का अनुमान था कि दूसरी तिमाही में अर्थव्यवस्था में सुधार होगा। कुछ रेटिंग एजेंसियों का अनुमान था कि दूसरी तिमाही में जीडीपी 10 से 11 फीसदी के बीच गिरावट रह सकती है। भारतीय रिजर्व बैंक का अनुमान था कि जीडीपी में 8.6 फीसदी की गिरावट रहेगी। मूडीज ने 10.6, केयर रेटिंग ने 9.9, क्रिसिल ने 12, इक्रा ने 9.5 फीसदी और एसबीआई रिसर्च ने 10.7 फीसदी की गिरावट का अनुमान जताया था।

Leave a comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

ट्रेंडिंग खबरें arrow
x
न्यूज़ फ़्लैश
यहां कोरोना के चलते स्कूल हुए बंद तो 12 से 13 साल की उम्र में ही प्रेग्नेंट हो रही लड़कियां
यहां कोरोना के चलते स्कूल हुए बंद तो 12 से 13 साल की उम्र में ही प्रेग्नेंट हो रही लड़कियां