कंडला टर्मिनल के लिए 588 करोड़ का निवेश करेगी इंडियन ऑयल - Naya India
कारोबार| नया इंडिया|

कंडला टर्मिनल के लिए 588 करोड़ का निवेश करेगी इंडियन ऑयल

अहमदाबाद। सरकारी क्षेत्र की अग्रणी तेल और गैस कंपनी इंडियन ऑयल ने आज कहा कि यह भारत में प्रस्तावित दुनिया की सबसे लंबी एलपीजी गैस पाइपलाइन परियोजना का महत्वपूर्ण हिस्सा गुजरात के कंडला स्थित अपने एलपीजी टर्मिनल की क्षमता को चार गुने से भी अधिक विस्तारित करने की परियोजना पर 588 करोड़ रूपये से भी अधिक का निवेश करेगी।

ज्ञातव्य है कि इस टर्मिनल से ही 2757 किमी लंबी कंडला-गोरखपुर एलपीजी पाइपलाइन की शुरूआत होगी। इस पाइपलाइन परियोजना के लिए बनाये गये संयुक्त उपक्रम में 50 प्रतिशत हिस्सेदारी रखने वाली इंडियन ऑयल के गुजरात राज्य प्रमुख तथा कार्यकारी निदेशक एस एस लांबा ने आज यहां पत्रकारों को बताया कि कंडला एलपीजी टर्मिनल की क्षमता को वर्ष 2022 तक मौजूदा 6 लाख टन सालाना से बढ़ा कर 25 लाख टन सालाना किया जायेगा।

इसे भी पढ़ें :- पेट्रोल-डीजल में पांच पैसे की गिरावट

कंडला गोरखरपुर पाइपलाइन परियोजना में दो अन्य तेल और गैस कंपनियों एचपीसीएल तथा बीपीसीएल का 25-25 प्रतिशत हिस्सा है। अकेले पाइपलाइन के जरिये 82 लाख टन से अधिक एलपीजी की आपूर्ति हो सकेगी जो देश की कुल आपूर्ति का चौथाई हिस्सा होगी।
लांबा ने कहा कि कंडला टर्मिनल की क्षमता विस्तार के लिए सभी जरूरी अनुमतियां ले ली गयी हैं और विभिन्न खरीद संबंधी आर्डर आदि भी दिये जा चुके हैं। इसका वास्तविक काम जल्द ही शुरू होगा।

कंपनी की गुजरात में अपनी आधारभूत संरचना को मजबूत करने पर इस परियोजना समेत कुल लगभग 770 रूपये का निवेश करने की योजना है जिसमें से चालू वित्तीय साल अब तक 130 से 140 करोड़ रूपये तक का निवेश हो चुका है। एक प्रश्न के उत्तर में उन्होंने बताया कि इस साल एक अप्रैल से देश भर में बीएस 6 ईंधन की बिक्री होगी और कंपनी ने गुजरात में अपने सभी 1400 से अधिक रिटेल आउटलेट पर भी इसके लिए तैयारियां लगभग पूरी कर ली हैं।

बीएस 6 दुनिया में इस वक्त उपलब्ध शुद्धतम ईंधन है और इसमें सल्फर की मात्रा बीएस 4 के 50 पीपीएम की तुलना में मात्र 10 पीपीएम ही होगी। इससे वाहन जनित प्रदूषण में बहुत कमी आयेगी। इसकी कीमत बीएस 4 की तुलना में कुछ अधिक होगी। उन्होंने बताया कि कंपनी गुजरात में इस साल 30 से और सीएनजी स्टेशन शुरू करेगी और ऐसे स्टेशन की कुल संख्या बढ़ कर 180 हो जायेगी। कंपनी सुरेन्द्रनगर में दो और आणंद में एक यानी कुल तीन बॉयो वेस्ट यानी जैविक अपशिष्ट आधारित सीबीजी गैस के रिटेल आउटलेट भी अगले तीन माह में शुरू करेगी जो राज्य में अपनी तरह के पहले आउटलेट होंगे।

Leave a comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *