डीजल के दाम रिकार्ड ऊंचाई पर

नई दिल्ली ।  राष्ट्रीय राजधानी दिल्ली में डीजल की कीमत 78.27 रुपए प्रति लीटर हो गई है। यह डीजल की अब तक की सबसे ऊंची कीमत है। पेट्रोल और डीजल के दाम में लगातार 15 दिन से हो रही बढ़ोतरी की वजह से डीजल के दाम प्रति लीटर आठ रुपए से ज्यादा बढ़ कर रिकार्ड ऊंचाई पर पहुंच गई है। पेट्रोलियम मार्केटिंग कंपनियों ने रविवार को लगातार 15वें दिन दोनों ईंधनों के दाम में बढ़ोतरी की।

रविवार पेट्रोल के दाम में 35 पैसे प्रति लीटर और डीजल की कीमतों में 60 पैसे प्रति लीटर की बढ़ोतरी की गई। इससे दिल्ली में डीजल का दाम 78.27 रुपए प्रति लीटर के नए रिकॉर्ड स्तर पर पहुंच गया है। पिछले 15 दिन में डीजल के दाम 8.88 रुपए प्रति लीटर बढ़ाए गए हैं। इस दौरान पेट्रोल 7.97 रुपए प्रति लीटर महंगा हुआ है। पेट्रोलियम कंपनियों ने कोरोना वायरस के संकट की वजह से 82 दिन तक पेट्रोलियम उत्पादों की समीक्षा रोक कर रखी थी। सात जून से रोजाना की समीक्षा शुरू की गई और पिछले 15 दिन में लगातार कीमतें बढ़ाई जा रही हैं।

बहरहाल,  पेट्रोलियम मार्केटिंग कंपनियों की ओर से रविवार को जारी कीमत की अधिसूचना के अनुसार, अब दिल्ली में पेट्रोल का दाम 78.88 रुपए प्रति लीटर से बढ़ कर 79.23 रुपए प्रति लीटर हो गया है। वहीं डीजल 77.67 रुपए प्रति लीटर से बढ़ कर 78.27 रुपए प्रति लीटर पर पहुंच गया है। ईंधन की कीमतों में देश भर में बढ़ोतरी हुई है। हालांकि, स्थानीय बिक्री कर या वैट की वजह से विभिन्न राज्यों में यह बढ़ोतरी अलग-अलग होती है।

ईंधन की खुदरा कीमत में केंद्र और राज्यों के कर का हिस्सा लगभग दो-तिहाई बैठता है। पेट्रोल के मामले में कर का हिस्सा 50.69 रुपए प्रति लीटर या 64 फीसदी है। इसमें 32.98 रुपए केंद्रीय उत्पाद शुल्क और 17.71 रुपए स्थानीय बिक्री कर या वैट है। वहीं डीजल के खुदरा मूल्य में करों का हिस्सा करीब 63 फीसदी है। यह प्रति लीटर 49.43 रुपए बैठता है। इसमें 31.83 रुपए केंद्रीय उत्पाद शुल्क और 17.60 रुपए वैट है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Shares