साढ़े सात फीसदी गिरेगी जीडीपी! - Naya India
कारोबार| नया इंडिया|

साढ़े सात फीसदी गिरेगी जीडीपी!

मुंबई। दूसरी तिमाही में सकल घरेलू उत्पाद, जीडीपी की दर में अनुमान से कम गिरावट के बाद अब भारतीय रिजर्व बैंक, आरबीआई ने पूरे साल के जीडीपी के अनुमान में भी सुधार किया है। आरबीआई ने अनुमान लगाया है कि चालू वित्त वर्ष में जीडीपी की गिरावट साढ़े सात फीसदी तक रहेगी। पहले केंद्रीय बैंक का अनुमान था कि जीडीपी में साढ़े नौ फीसदी की गिरावट रह सकती है।

रिजर्व बैंक की मौद्रिक नीति समिति की बैठक के बाद रिजर्व बैंक के गवर्नर ने विकास दर का अनुमान जाहिर करने के साथ ही यह भी ऐलान किया कि केंद्रीय बैंक नीतिगत ब्याज दरों में बदलाव नहीं करेगा। महंगाई बढ़ने की आशंका में आरबीआई ने रेपो रेट चार फीसदी पर तय रखने का फैसला किया। रिजर्व बैंक ने लगातार तीसरी बार मौद्रिक नीति समिति की बैठक में नीतिगत ब्याज दरों को स्थिर रखने का फैसला किया है। खाने-पीने की चीजों की महंगाई के चलते ऐसा किया जा रहा है।

बहरहाल, रिजर्व बैंक ने अक्टूबर में पेश मौद्रिक नीति समीक्षा में कहा था कि वित्त वर्ष 2020-21 में जीडीपी वृद्धि दर में 9.5 फीसदी की गिरावट का अनुमान है। इसके तीन महीने बाद आरबीआई ने इसमें दो फीसदी सुधार की उम्मीद जताई है। आरबीआई गवर्नर शक्तिकांत दास ने भरोसा दिलाया है कि मौजूदा वित्त वर्ष 2020-21 की दूसरी छमाही में अर्थव्यवस्था में सकारात्मक जीडीपी विकास दिखाई देगा। शक्तिकांत दास ने मौजूदा वित्त वर्ष की तीसरी तिमाही में जीडीपी विकास दर में 0.1 फीसदी की वृद्धि और और चौथी तिमाही में 0.7 फीसदी की वृद्धि का भी अनुमान जताया है। आरबीआई गवर्नर ने कहा कि ग्रामीण इलाकों में मांग में वृद्धि की वजह से अर्थव्यवस्था को मजबूती मिलने के आसार हैं। उन्होंने कहा कि शहरी इलाकों में भी मांग में तेजी देखी गई है।

Leave a comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

ट्रेंडिंग खबरें arrow
x
न्यूज़ फ़्लैश
केरल में महामारी का कहर!
केरल में महामारी का कहर!