कारोबार

आम की खरीद के लिए सबट्रॉपिकल ऐप

नई दिल्ली। गुणवत्तापूर्ण आम की खरीद के लिए केंद्रीय उपोष्ण बागवानी संस्थान ने ‘सबट्रॉपिकल’ मोबाइल ऐप का विकास किया है जो किसानों और आमलोगों के लिए उपयोगी है। उत्तर प्रदेश के मलिहाबाद के बागों से गुणवत्तायुक्त आम सीधे शहरों में ग्राहकों तक एक मोबाइल ऐप की सहायता से पहुंचाया जा सकता है।

ऐप के माध्यम से ग्राहक मनचाही गुणवत्ता वाले आम खरीद सकेंगे और किसान भी अपनी फसलों की जानकारी प्रदान करके उचित मूल्य प्राप्त कर सकेंगे ।

केन्द्रीय उपोष्ण बागवानी संस्थान, लखनऊ के निदेशक शैलेन्द्र राजन के अनुसार इससे बिचौलियों द्वारा लिये जाने वाले मुनाफे का फायदा किसान और ग्राहक दोनों को ही होगा । यह बागवानी से जुड़े कुटीर उद्योगों को डिजिटल प्लेटफॉर्म प्रदान करेगा। महिलाओं, एवं छोटे स्तर पर मूल्य संवर्धित पदार्थ बनाने वाले उद्यमियों को यह विभिन्न प्रकार के उत्पाद को बेचने में सहायता प्रदान करेगा। इस ऐप द्वारा फलों एवं सब्जियों का ही कारोबार नहीं होगा अपितु कई अन्य वस्तुएं जो किसानों द्वारा उत्पादित की जाती हैं, उपलब्ध कराई जाएंगी ।

किसानों का काफी समय खेती-बाड़ी के अतिरिक्त फसल को मंडी ले जाने और बेचने में भी लग जाता है और कभी-कभी अच्छे ग्राहक का इंतजार करने के कारण उन्हें काफी समय बर्बाद करना पड़ता हैब। इस ऐप के माध्यम से किसानों को मंडी तक फसल ले जाने की समस्या से जूझना नहीं पड़ेगा। किसानों को अपने खेत से ही फसल को भेजने का अवसर प्राप्त होगा। आमतौर पर बागवानी फसलों में यह संभव नहीं हो पा रहा था ।

किसान के खेत में क्या उत्पादित हो रहा है, वह कब उपलब्ध होगा और किस तरह से उसकी मांग है, इन सभी बातों पर इस ऐप द्वारा जानकारी प्राप्त करके युवा उद्यमियों की टीम एक विशेष आपूर्ति श्रृंखला का सृजन करेगी । सब्जियों एवं फलों को परिवहन के दौरान होने वाली हानि काफी महत्वपूर्ण है ।

सामान्य तौर पर ‘ऑर्गेनिक’ उत्पादों को बाजार में अच्छा मूल्य नहीं मिल पाता है क्योंकि अभी ऐसी व्यवस्था नहीं है कि इनकी मांग करने वाले ग्राहक प्रमाणित ऑर्गेनिक फल एवं सब्जियां प्राप्त कर सकें। इस ऐप द्वारा भविष्य में ऑर्गेनिक फलों एवं सब्जियों की भी एक आपूर्ति श्रृंखला स्थापित की जाएगी इससे ग्राहकों एवं किसानों दोनों को ही लाभ होगा ।

खेतों से ग्राहकों तक सब्जी पहुंचने में काफी समय लग जाता है । इस दौरान उनकी ताजगी और पौष्टिकता दोनों ही प्रभावित होती है ऐसी दशा में खेत से ग्राहक तक इन वस्तुओं के पहुंचने के लिए आवश्यक समय को कम करके गुणवत्ता के मापदंडों पर खरा उतरा जा सकता है । यह ऐप खेतों से मंडी तक का रास्ता कम करके सीधे खेतों से ग्राहकों तक पहुंचने में सहायक होगा ।

संस्थान द्वारा दी गई तकनीक एवं जानकारी के आधार पर मूल्य संवर्धन संभव होगा और फलों को सुरक्षित रखने से पकाने के अतिरिक्त पैकेजिंग और ग्रेडिंग के अच्छे तरीके अपनाने में सहायता मिलेगी। अच्छी गुणवत्ता वाले फलों एवं सब्जियों को भली-भांति ग्रेडिंग करके बेचने से ब्रांडिंग और मानक स्थापित करने में आसानी होगी।

Latest News

राजनीति में उफान, लाचार मोदी!
गपशप | NI Business Desk - June 19,2021
वक्त बदल रहा है। बंगाल में भाजपाई तृणमूल कांग्रेस में जाते हुए हैं तो त्रिपुरा की भाजपा सरकार पर खतरे के बादल…

Leave a comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *