शेयर बाजार में बढ़ा हाहाकार

मुंबई। कोरोना वायरस के संक्रमण के दुनिया के करीब 150 देशों में फैलने और फिलहाल इससे राहत की उम्मीद नहीं दिखने के कारण बने दबाव से आज भी घरेलू शेयर बाजार में अब तक की दूसरी बड़ी गिरावट दर्ज की गयी।

बीएसई का सेंसेक्स 2731 अंक और नेशनल स्टॉक एक्सचेंज (एनएसई) का निफ्टी 757.80 अंक टूट गया जिससे निवेशकों के 7.62 लाख करोड़ रुपये से डूब गये। कोरोना के कहर से अर्थव्यवस्था को बचाने के उद्देश्य से केन्द्रीय बैंकों द्वारा नीतिगत दरों में की जा रही कटौती भी काम नहीं कर रहा है।

अमेरिकी फेडरल रिजर्व ने इस महीने की अपनी दूसरी आपात बैठक में नीतिगत ब्याज दरों में एक फीसदी की कटौती कर इसे शून्य से 0.25 प्रतिशत करने का फैसला किया। इससे पहले 03 मार्च को उसने ब्याज दर में आधा फीसदी कटौती कर इसे एक से 1.25 प्रतिशत कर दिया था।

फेडरल रिजर्व के इस फैसले से अमेरिकी बाजार आज हरे निशान में रहे लेकिन यूूरोप और एशिया के सभी सूचकांक लाल निशान में रहे। बीएसई का सेंसेक्स गत गुरूवार की सबसे बड़ी गिरावट के बाद अाज फिर से दूसरी बड़ी गिरावट लेकर बंद हुआ। गुरूवार को घरेलू स्तर पर सेंसेक्स 2,919.26 अंक यानी 8.18 प्रतिशत का और निफ्टी 868.25 अंक यानी 8.30 प्रतिशत को गोता लगाया था। आज सेंसेक्स 2731.41 अंक टूटकर 31390.07 अंक पर और निफ्टी 757.80 अंक फिसलकर 9197.40 अंक पर आ गया।

इसे भी पढ़ें :- सोना मजबूत, चाँदी 1860 रुपये लुढ़की

इस भारी गिरावट की वजह से निवेशकों के 7.62 लाख करोड़ रुपये डूब गये। बीएसई का बाजार पूंजीकरण शुक्रवार को 12926242.82 करोड़ रुपये रहा था जो आज 762290.23 करोड़ रुपये घटकर 12163952.59 करोड़ रुपये पर आ गया। बीएसई का सेंसेक्स एक हजार अंक की गिरावट लेकर 33103.24 अंक पर खुला और यही इसका निचला स्तर भी रहा।

बिकवाली का दबाव कारोबार के अंतिम सत्र तक बना रहा और इस दौरान यह 31276.30 अंक के निचले स्तर तक फिसल गया। अंत में यह पिछले दिवस के 34103.48 अंक की तुलना में 2713.41 अंक अर्थात 7.96 प्रतिशत टूटकर 31390.07 अंक पर आ गया। इसी तरह से एनएसई का निफ्टी 367.40 अंक लुढ़कर 9587.80 अंक पर खुला और इसके तत्काल बाद यह 9602.20 अंक के उच्चतम स्तर तक चढ़ा।

इसके बाद शुरू हुयी बिकवाली अंतिम सत्र तक बनी रही और इस दौरान निफ्टी 9165.10 अंक के निचले स्तर तक फिसला। अंत में यह पिछले सत्र के 9955.20 अंक की तुलना में 757.80 अंक अर्थात 7.61 प्रतिशत लुढ़ककर 9197.40 अंक पर रहा। निफ्टी में शामिल कंपनियों में से मात्र एक कंपनी हरे निशान में रही जबकि शेष 49 कंपनियां लाल निशान में रही।

इस गिरावट का असर छोटी और मझौली कंपनियों पर हुयी लेकिन बड़ी कंपनियों की तुलना में यह कुछ कम रही। बीएसई का मिडकैप 5.94 प्रतिशत उतरकर 11888.61 अंक पर और स्माॅलकैप 5.66 प्रतिशत फिसलकर 11095.19 अंक पर रहा।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Shares