डेवलपर्स की मदद के लिए ट्विटर ने लॉन्च किया नया एपीआई

सैन फ्रांसिस्को। ट्विटर ने एक नए एप्लीकेशन प्रोग्रामिंग इंटरफेस (एपीआई) का अनावरण किया है ताकि व्यवसाय, शिक्षा के साथ-साथ तीसरे पक्ष के डेवलपर्स द्वारा नए फीचर्स का तेजी से निर्माण करने और उन्हें लॉन्च करने के काम में उनकी मदद की जा सके।

एपीआई वी2 तीसरे पक्ष के डेवलपर्स को कॉन्वर्सेशन थ्रेडिंग, ट्वीट्स में चुनाव परिणाम, प्रोफाइल पर पिन किए गए ट्वीट, स्पैम फिल्टरिंग और अधिक शक्तिशाली स्ट्रीम फिल्टरिंग व अपने सवालों की खोज की भाषा जैसे फीचर्स के प्रारंभिक चरणों तक पहुंच की सुविधा उपलब्ध कराता है।

द वर्ज की रिपोर्ट के मुताबिक, नए ट्वीट्स के पेश होने का इंतजार करने के बजाय इसमें तीसरे पक्ष को रियल-टाइम ट्वीट स्ट्रीम की सुविधा भी दी जाती है। साल 2012 के बाद से एपीआई वी2 ही ट्विटर के एपीआई का नए सिरे से पहला पुर्ननिर्माण है। इस नए एपीआई सिस्टम द्वारा एक ही मंच में अलग-अलग प्रोडक्ट्स को शामिल किया जाता है और वह भी भिन्न एक्सेस लेवल के साथ।

शोधकर्ता ट्विटर के एपीआई का उपयोग कई उद्देश्यों के लिए करते हैं जिसमें ऑनलाइन नफरत फैलाने वाले भाषण के प्रसार पर नजर रखने के साथ-साथ ट्वीट्स की संख्या पर नजर रखने जैसी गतिविधियां शामिल भी हैं। ट्विटर के एलीसा रीज के मुताबिक, “जब बात हमारे डॉक्यूमेंटेशन की आए तो हम चाहते हैं कि डेवलपर्स इससे पूरी तरह से आश्वस्त रहें।

उन्होंने आगे कहा, “हम खुद को एक ऐसी कंपनी बनाने का मकसद रखते हैं जो डेवलपरों के अन्य प्लेटफॉर्मों के लिए किसी प्रेरणा से कम न हो। हालांकि हम जानते हैं कि हमें अभी काफी लंबा सफर तय करना है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Shares