ताज, लेकिन कांटों का

गूगल की पैरेंट कंपनी अल्फाबेट का नेतृत्व भारतीय मूल के सुंदर पिचाई ने ऐसे वक्त संभाला…

भयभीत महिलाओं का देश

भारतीय समाज में महिलाएं भयभीत रहती हैं। उन्हें महसूस होता है कि घर से बाहर निकलना…

हत्या पर जश्न मनाती भीड़ के खतरे!

हैदराबाद में बलात्कार और हत्या के चार आरोपियों के पुलिस ‘मुठभेड़’ में मारे जाने पर पूरे…

फ्रांस में उथल-पुथल

फ्रांस में अभी येलो वेस्ट प्रदर्शन खत्म नहीं हुए हैं। इन प्रदर्शनों ने हाल ही में…

गाँधी-गोडसे … पर इतनी गर्मी क्यों चढ़ती है?

प्रज्ञा ठाकुर ने नाथूराम गोडसे को 'देशभक्त' कहा, तो उन पर हमलों की बौछार हो गई।…

ये कहां आ गए हम!

हैदराबाद में महिला डॉक्टर के सामूहिक बलात्कार और हत्या के आरोपियों को पुलिस एनकाउंटर में मार…

पूर्वाग्रह से उपजा ‘डर’ का माहौल

एक दिसंबर को मुंबई में उद्यमियों से संबंधित पुरस्कार समारोह का आयोजन हुआ। इस दौरान प्रसिद्ध…

उकता चुके देश का थका-हारा मुखिया

छह साल पहले नरेंद्र भाई मोदी ने भारतमाता की आंखों में एक ख़्वाब उंड़ेला था--अच्छे दिन…

कश्मीर पर बात से करें परहेज!

क्या‍ हम कश्मीर को कभी समझ सकते हैं? इससे भी बड़ी बात यह कि क्या हम…

नागरिकता रजिस्टर में हिन्दू, मुस्लिम पेंच

जब असम में नागरिकता पहचान की प्रक्रिया शुरू हुई तो देश भर में सवाल उठने लगा…

नागरिकता कानून बदलने की राजनीति

लगातार दूसरी बार चुनाव जीत कर ज्यादा बहुमत के साथ केंद्र सरकार में आने के बाद…

संकट में भारतीय रेल

भारतीय रेल की हालत खस्ता हो रही है। ऐसा हो रहा है या होने दिया जा…