मौसम का बदलना, वेनिस का डुबना

कई बार मुझे लगता है कि कहीं मैं पिछले जन्म में शुतुरमूर्ग तो नहीं था। वजह…

श्रीलंकाः बहुसंख्यकवाद को जनादेश

श्रीलंका में गृह युद्ध के दौरान विवादित रक्षा सचिव रहे गोटबाया राजपक्षे ने राष्ट्रपति चुनाव में…

खतरे की सामयिक चेतावनी

ये चेतावनी तो अत्यंत आवश्यक और सामयिक है, लेकिन सरकार इस पर गौर करेगी, उसकी संभावना…

अंग्रेज की कोख से है नौकरशाही

जैसे नेहरू-पटेल थे वैसे मोदी-शाह है, ऐसा होना उस क़ॉमन कड़ी, उस तासीर, उस तंत्र से…

राजपक्ष को भारत बुलाएं

श्रीलंका में गोतबाया राजपक्ष के राष्ट्रपति बनने पर भारत को चिंता होना स्वाभाविक है, क्योंकि उनके…

ट्रंप खत्म कर रहे भारतीयों के अवसर

कई साल पहले जब तत्कालीन दिल्ली सरकार ने परिवहन की सुविधा के मद्देनजर शहर के तिपाहियो…

हांगकांग में है गहरा असंतोष

हांगकांग में हिंसा बढ़ रही है। इसमें अब तक कई मौतें हो चुकी हैं। प्रदर्शनों ने…

नाकामी की ओर ‘सक्सेस स्टोरी’

टेलीकॉम को भारत की सक्सेस स्टोरी यानी सफलता की बड़ी कहानी बताया जाता रहा है। लेकिन…

सिर पीटे कुछ नहीं होना! क्यों?

मैं शुक्रवार को दिल्ली की दमघोटू हवा से बाहर निकला। और दिल्ली से दूर होने से…

भाजपा क्यों फिर अछूत हो रही?

यह हैरान करने वाली बात है, लेकिन पूर्ण बहुमत से लगातार दो लोकसभा चुनाव जीतने और…

बेरोजगारी ऐसे खत्म होगी

आज इंदौर के एक अखबार में मैंने खबर पढ़ी कि कोयंबटूर के त्रिपुर नाम के कस्बे…

पारे जैसी एकता और पारा

समय कितनी जल्दी बीत जाता है। कई बार लगता है कि जैसे कल की ही बात…