मंदिर ही है भारत की सच्चाई!

सुप्रीम कोर्ट का अयोध्या में राम मंदिर का फैसला न्याय नहीं, प्राकृतिक न्याय है। वह मनुष्य…

भारत के बीहड़ में टाटा ट्रस्ट!

भारत में कारोबार कैसा मुश्किल है और अच्छे-अच्छों को भी कैसे जूझना पड़ता है इसकीकथा अंतहीन…

अफसरों को अब समझने लगे मोदी!

बारह अक्टूबर को ‘एक भारत, श्रेष्ठ भारत’ प्रोग्राम की प्रगति की समीक्षा करते हुए प्रधानमंत्री नरेंद्र…

खच्चर, घुड़सवार और भारत!

प्रधानमंत्री मोदी का हिंदुस्तान टाइम्स में आज एक विचारणीय वाक्य मिला। अखबार की खबर के अनुसार…

मोदीजी की आत्ममुग्धता और हकीकत

कोई जवाब नहीं है प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का! उनकी आत्ममुग्धता पर जितना सोचेंगे उनका समतुल्य एक…

‘कैटल क्लास’ उर्फ भेड़-बकरियों का जीना!

दम घुट रहा है! आंखों में जलन सी तो सांस लेना भारी सा! कल जब अनुराग…

चूल्हा हिंदू बना तो जिम्मेवार कौन?

हम और आप 1947 के वक्त, वक्त की भयावहता को नहीं बूझ सकते। मगर इतिहास में…

तब भी हिंदू अवचेतन और अब भी…

नरेंद्र मोदी और अमित शाह के भारत और गांधी-नेहरू के भारत का क्या फर्क है? इस…

तो भारत बहुत पहले हिंदू राष्ट्र हो चुका होता!

बात-बात में विपक्ष के एक आला नेता ने कहा, यदि गोडसे ने गांधी को नहीं मारा…

दीया जलाएं, अंधकार भगाएं!

अंधेरा है! अमावस्या का घनघोर अंधेरा। मानो पुराण कथा का वक्त फिर जिंदा! मां भारती का…

इतिहास ने सोखा हमारा शिकारीपना!

हम क्यों बचपन में, सिंधु घाटी के पालने में, ईसा पूर्व वाले हजार साल में निर्वाण…

बिना बने, लड़े, जीये ही निर्वाण!

इस पहेली का कोई जवाब नहीं है। और मुझे नहीं लगता कि हमारी सभ्यता की एंथ्रोपोलॉजी…