हमारे अगले दस साल कैसे?

सोचें, नया दशक याकि अगले दस वर्षों में हमारा क्या होना है? हम वक्त काटेंगे या…

बवाल, राजनीति और प्रतिलिपि रघुवर

बवाल अब तय है। अगले दो साल नागरिकता संशोधन कानून, नागरिक रजिस्टर, जनगणना, जनसंख्या रजिस्टर की…

तो सत्य एक, झूठ अनेक!

अब राष्ट्रीय जनसंख्या रजिस्टर (एनपीआर) का ऐलान। प्रधानमंत्री द्वारा एनआरसी की बात को झूठा करार देने…

मोदी, एनआरसी और‘झूठ’

रविवार को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने लोगों को, मुसलमानों को गुमराह हुआ बताया। उन्होने दो टूक…

काले का श्राप व अहंकार को थप्पड़!

अमरप्रीत सिंह काले को सलाम! कौन है सरदार काले? क्यों उसकी वाह मेरी कलम से? इसलिए…

देखो, बूझो भावी भारत की फोटो!

पता नहीं नरेंद्र मोदी-अमित शाह, भाजपा, संघ ने गुजरे सप्ताह भावी भारत की तस्वीरों को बूझा…

ट्रंप हुए दागी अमेरिकी राष्ट्रपति!

अमेरिका के लोकतंत्र को सलाम! ठीक कहा अमेरिकी प्रतिनिधि सभा में एक सांसद ने कि क्यों…

‘पहनावा’ और हिंदू राष्ट्र!

गृह मंत्री अमित शाह खुश होंगे। बहुत खुश। इसलिए कि उन्हें सड़कों पर उस पहनावे के…

सोनिया गांधी को कौन समझाए!

कांग्रेस में दम लौटे, वह विकल्प बने, यह आज देश की नंबर एक जरूरत है। 130…

पूर्वोत्तर को कैसे देखें?

गृह मंत्री अमित शाह के नजरिए से या बतौर एक नागरिक के? बतौर नागरिक में दिक्कत…

चीफ जस्टिस, गहलोत और सत्य!

आज सुप्रीम कोर्ट में हैदराबाद पुलिस एनकाउंटर पर सुनवाई है। मतलब न्याय के सत्व की परीक्षा।…

दिमाग, बुद्धि का आजादी बाद सूखा!

भारत के तीन मसले। एक, बलात्कार। दूसरा, आरोपियों को पुलिस द्वारा एनकाउंटर में मारना। तीसरा, सवा…