Loading... Please wait...

राहुल बने निडर: सोनिया

नई दिल्ली। कांग्रेस अध्यक्ष पद पर सबसे लंबे समय तक रहीं सोनिया गांधी ने अपने बेटे राहुल गांधी के अध्यक्ष पद संभालने के मौके पर एक भावुक भाषण दिया। उन्होंने कहा कि राहुल ने बचपन से हिंसा और नुकसान का बड़ा दुख झेला है। सोनिया ने आगे कहा कि राहुल के राजनीति में आने के बाद उनके ऊपर बड़े व्यक्तिगत हमले किए गए। पर इन सबने राहुल को एक निडर और मजबूत दिल का इंसान बनाया है।

सोनिया ने कहा कि उनको अपने बेटे की ज्यादा तारीफ नहीं करनी चाहिए लेकिन यह सही है कि उनमें धैर्य, सहनशीलता और मजबूती है, जिसके दम पर वे पूरे समर्पण के साथ कांग्रेस की सेवा करेंगे। सोनिया गांधी ने यह भी कहा कि इस समय देश के सामने बड़ी चुनौतियां हैं और इन चुनौतियों के बीच राहुल गांधी का नेतृत्व परिवर्तन लाने वाला होगा। उन्होंने कहा कि कहा कि देश का मौजूदा माहौल संदेह और डरावना हो गया है। उन्होंने भरोसा जताया कि इन बदले राजनीतिक हालातों में कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी का युवा नेतृत्व परिवर्तनकारी साबित होगा।

सोनिया गांधी ने कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी को पार्टी की कमान सौंपने के लिए यहां कांग्रेस मुख्यालय में आयोजित समारोह को संबोधित करते हुए कहा - आज देश में संवैधानिक मूल्यों पर हमला किया जा रहा है और चारों तरफ संदेह व भय का माहौल बना हुआ है। देश के सामने मौजूदा परिवेश में जो चुनौतियां उभर कर आई हैं शायद पहले कभी इस तरह की स्थिति नहीं रही।

उन्होंने कहा कि इन सब परिस्थितियों के बीच कांग्रेस को राहुल गांधी के रूप में नया और युवा नेतृत्व मिला है। एक मां के तौर पर वे राहुल गांधी की तारीफ नहीं करना चाहतीं लेकिन बचपन से उन्होंने हिंसा और नुकसान का अपार दुख झेला है और राजनीति में आकर उन्होंने जबरदस्त व्यक्तिगत हमलों का सामना किया है। इन हमलों ने उन्हें निडर और मजबूत दिल इंसान बनाया है। सोनिया ने कहा कि राहुल गांधी में जो धैर्य, सहनशीलता और दृढ़ता है उससे उन्हें पूरा विश्वास है कि वे पूरे समर्पण के साथ पार्टी के लिए काम करेंगे। उनके नेतृत्व में कांग्रेस कार्यकर्ताओं में जोश बढ़ेगा और पार्टी नेतृत्व हर चुनौती को करारा जवाब देगा।

दो दशक पहले कांग्रेस अध्यक्ष पद की जिम्मेदारी संभालने के समय की परिस्थितियों का जिक्र करते हुए सोनिया गांधी ने कहा कि उस समय कांग्रेस लगातार कमजोर हो रही थी और सिकुड़ कर सिर्फ तीन राज्यों तक सीमित रह गई थी और केंद्र से भी काफी दूर थी पर कांग्रेस कार्यकर्ताओं के हौसलों के बल पर उन्होंने पार्टी को एकजुट किया और बेमिसाल कामयाबी पार्टी ने हासिल की और जल्दी ही कई राज्यों में कांग्रेस की सरकारें बनीं।

199 Views

बताएं अपनी राय!

नीचे नजर आ रहे कॉमेंट अपने आप साइट पर लाइव हो रहे है। हमने फिल्टर लगा रखे है ताकि कोई आपत्तिजनक शब्द, कॉमेंट लाइव न हो पाए। यदि ऐसा कोई कॉमेंट- टिप्पणी लाइव हुई और लगी हुई है जिसमें अर्नगल और आपत्तिजनक बात लगती है, गाली या गंदी-अभर्द भाषा है या व्यक्तिगत आक्षेप है तो उस कॉमेंट के साथ लगे ‘ आपत्तिजनक’ लिंक पर क्लिक करें। उसके बाद आपत्ति का कारण चुने और सबमिट करें। हम उस पर कार्रवाई करते उसे जल्द से जल्द हटा देगें। अपनी टिप्पणी खोजने के लिए अपने कीबोर्ड पर एकसाथ crtl और F दबाएं व अपना नाम टाइप करें।

आपका कॉमेट लाइव होते ही इसकी सूचना ईमेल से आपको जाएगी।

© 2016 nayaindia digital pvt.ltd.
Maintained by Netleon Technologies Pvt Ltd