nayaindia Haryana Assembly Building : 55 साल बाद अब हरियाणा का सपना होगा पूरा....
ताजा पोस्ट | देश | हरियाणा| नया इंडिया| Haryana Assembly Building : 55 साल बाद अब हरियाणा का सपना होगा पूरा....

राज्य बनने के 55 साल बाद अब हरियाणा का सपना होगा पूरा, मिल गया हरा सिग्नल…

Haryana Assembly Building
Image Source : The Indian Express

चंडीगढ़ | Haryana Assembly Building : हरियाणा का सपना अब पूरा होने जा रहा है और जल्द ही इसे लेकर काम सुरू होने वाला है. चंडीगढ़ प्रशासन विधानसभा भवन के लिए भूमि देने के लिये तैयार हो गया है. मामले में हरी झंडी पाने के बाद हरियाणा के मुख्यमंत्री मनोहर लाल खट्टर और विधानसभा अध्यक्ष ज्ञान चंद गुप्ता ने चंडीगढ़ प्रशासन के अधिकारियों के साथ विधानसभा भवन के लिये प्रस्तावित स्थलों पर दौरा किया. इलपर चर्चा के बाद उन्होंने कहा कि इसे जल्द अंतिम रूप दिया जाएगा. चंडीगढ़ प्रशासन ने हरियाणा विधानसभा भवन के लिये रेलवे चौक से आई पार्क जाती सड़क पर दाईं ओर, कलाग्राम के सामने मजीमाजरा की ओर जाती सड़क तथा और राजीव गांधी आईटी पार्क के निकट की भूमि के विकल्प पेश किये हैं. हरियाणा का प्रस्तावित विधानसभा भवन अत्याधुनिक सुविधाओं से सुसज्जित होगा.

बंटवारे के 55 साल बाद भी नहीं मिला विधानसभा भवन

Haryana Assembly Building : बता दें कि पंजाब से बंटवारे के 55 साल बाद भी हरियाणा का अपना एक अलग विधानसभा भवन नहीं तैयार किया जा सका था. अब तक पंजाब के साथ साझा विधानसभा भवन में काम चलाया जा रहा था. हरियाणा के हिस्से के लगभग 20 कमरों पर अभी भी पंजाब का कब्जा है. श्री गुप्ता ने इस सम्बंध में अनेक बार मामला पंजाब विधानसभा अध्यक्ष के समक्ष उठा कर उनके हिस्से के कमरे उन्हें देने की मांग कर चुके हैं लेकिन इसमें सफलता हासिल नहीं हुई. हरियाणा विधानसभा अध्यक्ष ने इस बारे में प्रधानमंत्री, राष्ट्रपति, उप-राष्ट्रपति और लोकसभा अध्यक्ष को भी पत्र लिखे थे जिनमें सभी राज्यों और कुछ केंद्र शासित प्रदेशों के पास स्वतंत्र विधान भवन होने का उदाहरण दिया था. उन्होंने कहा कि छत्तीसगढ़, झारखंड, तेलंगाना, उत्तराखंड और इसके अलावा कुछ ऐसे भी उदाहरण हैं, जहां पहले से विधानसभा भवन होने के बावजूद समय की मांग के अनुसार नये भवनों का निर्माण किया गया.

इसे भी पढें- IIFA Awards में सेलेब्स का जलवा, नोरा से लेकर सारा तक एक से बढ़कर एक…

मुख्यमंत्री के अलावा किसी के भी बैठने की उचित व्यवस्था नहीं…

Haryana Assembly Building : श्री गुप्ता ने पत्र में लिखा था कि 2026 में प्रस्तावित परिसीमन में हरियाणा में लोकसभा की 14 और विधानसभा की 126 सीटें होने का अनुमान है, लेकिन विधानसभा सदन इस समय 90 विधायकों के बैठने की ही व्यवस्था है. इसके अलावा एक भी विधायक के लिए स्थान बनाना यहां मुश्किल काम है. वर्ष 2026 के लिए मात्र पांच वर्ष का समय शेष है, इसलिए इस दिशा में अभी से विचार कर योजना बनानी होगी. इसके अलावा विधानसभा सत्र के दौरान मंत्रियों, समिति अध्यक्षों और विधायकों के बैठने का भी पर्याप्त स्थान नहीं है. पंजाब विधानसभा के लगभग सभी मंत्रियों को सत्र के दौरान उनके कार्यालय के लिए स्वतंत्र कमरों का प्रावधान है. हरियाणा विधानसभा में मुख्यमंत्री के अलावा किसी भी मंत्री या समितियों के अध्यक्ष के बैठने के लिए व्यवस्था नहीं है. उन्होंने लिखा कि इससे स्वभाविक रूप से कार्य प्रभावित होता है.

इसे भी पढें-वन शोल्डर हाई स्लिट गाउन में Jacqueline Fernandez ने लूटी महफ़िल

Leave a comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

eight + twelve =

ट्रेंडिंग खबरें arrow
x
न्यूज़ फ़्लैश
कांग्रेस नेत्री से छेड़छाड़ का आरोपी लक्ष्मण गिरफ्तार
कांग्रेस नेत्री से छेड़छाड़ का आरोपी लक्ष्मण गिरफ्तार