• डाउनलोड ऐप
Saturday, May 15, 2021
No menu items!
spot_img

किसान नेता राकेश टिकैत पर जानलेवा हमला, सोलह लोग गिरफ्तार, सीएम गहलोत ने की निंदा

Must Read

Attack on Rakesh Tikait : राजस्थान में अलवर जिले के ततारपुर थाना पुलिस ने किसान नेता राकेश टिकैत (Rakesh Tikait) पर हमला करने के मामले में सोलह लोगों को गिरफ्तार किया है। टिकैत पर हमले के बाद उनके समर्थकों में रोष है। प्रदेश के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत (Ashok Gehlot) ने भारतीय किसान यूनियन के नेता राकेश टिकैत के काफिले पर हमले को निंदनीय बताते हुए कहा है कि दोषियों के खिलाफ कार्रवाई की जायेगी। गहलोत ने सोशल मीडिया के जरिए कहा कि श्री टिकैत के काफिले पर भाजपा के लोगों द्वारा हमला निंदनीय है।

पुलिस ने बताया कि इनमें एक पूर्व छात्रसंघ अध्यक्ष भी शामिल है। इस मामले में पूर्व छात्रसंघ अध्यक्ष कुलदीप यादव के अलावा मनीष, मोनू, विपिन, अंकित, लोकेश, रवि, प्रमोद, हेमंत, नितेश सहित सोलह आरोपियों को गिरफ्तार किया गया है। साथ ही पुलिस ने इनके पास से एक गाड़ी भी जप्त की है।

उल्लेखनीय है कि राकेश टिकैत अलवर के हरसौली में किसान सभा को सम्बोधित कर बानसूर में किसान सभा के लिए जा रहे थे, तभी शाम करीब साढ़े 4 बजे अज्ञात लोगों ने उनकी गाडी के ऊपर पथराव कर दिया और लाठी-डंडों से उनकी गाड़ी के शीशे तोड़ डाले। हालांकि हमले में राकेश टिकैत को चोट नहीं आई, उन्हें दूसरी गाड़ी में बानसूर के लिए रवाना कर दिया गया था।

टिकैत ने भाजपा को बताया जिम्मेदार
हमले के कुछ देर बार राकेश टिकैत (Kisan Neta Rakesh Tikait) ने भाजपा को इस हमले का जिम्मेदार बताया। टिकैत ने ट्वीटर पर एक वीडियो पोस्ट करते हुए लिखा कि राजस्थान के अलवर जिले के ततारपुर चैराहा, बानसूर रोड़ पर भाजपा के गुंडों द्वारा जानलेवा पर हमला किए गए, लोकतंत्र के हत्या की तस्वीरें।

भाजपा-कांग्रेस में आरोप प्रत्यारोप
उधर इस मामले को लेकर अब भाजपा और कांग्रेस के नेताओं में आरोप प्रत्यारोप का दौर भी शुरू हो गया है। कांग्रेस नेता और राज्य के मंत्री टीकाराम जूली ने इस घटना की निंदा करते हुए इसे भाजपा की साजिश बताया है तो वहीं अलवर के सांसद महंत बालक नाथ ने इस घटना की निंदा की है और कहा कि इस घटना का भाजपा से कोई लेना देना नहीं है।

- Advertisement -spot_img

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

साभार - ऐसे भी जाने सत्य

Latest News

प्रतिदिन 4 हजार मौते या 25 हजार या….?

सन् इक्कीस की मई में भारत झूठ में नरक है। दुनिया का ‘मानवीय संकट’ है! इस संकट का एक...

More Articles Like This