कोरोना के बढ़ते मामलो को देखते हुए बाबा नित्यानंद ने अपने देश कैलासा आने पर भारत के यात्रियों पर लगाई रोक - Naya India
देश| नया इंडिया|

कोरोना के बढ़ते मामलो को देखते हुए बाबा नित्यानंद ने अपने देश कैलासा आने पर भारत के यात्रियों पर लगाई रोक

कोरोना  के मामले पूरे देश में बढ़ते ही जा रहे है। एक दिन में 3 लाख 32 हजार मामले दर्ज होना बेहद चिंतनीय विषय है। और एक दिन में 2 हजार लोग अपनी जान गवां रहे है। ऐस में कई देशों ने भारत से आने वाले यात्रियों पर रोक लगा दी गई है। इसी कड़ी में एक नाम और जुड़ गया है। नाम है बाबा नित्यानंद जी। बाबा ने अपने देश में आने वाने सभी भारतीयों के आने पर प्रतिबंद्ध लगा दिया है। भारत में कोरोना के बढ़ते हुए मामलों को देखते हुए बाबा ने यह निर्णय लिया है।अगर आप वहां जाने की सोच रहे हैं, तो अभी आप वहां नहीं जा सकते है। एक बयान में, नित्यानंद ने घोषणा की है, कि भारत से भक्तों को अपने द्वीप में प्रवेश करने की अनुमति नहीं देंगे। अपने जनादेश में, नित्यानंद ने कहा, कि यह सिर्फ भारतीयों के लिए ही नहीं, बल्कि ब्राजील, यूरोपीय संघ और मलेशिया के यात्रियों के लिए भी है। जिनके द्वीप में प्रवेश करने पर प्रतिबंध लगा दिया गया है।

इसे भी पढ़ें Corona Fear : इतने शव जले खत्म हो गईं लकड़ियां , हालात डराने वाले

कहां है बाबा का देश

बाब नित्यानंद का अपना ही एक अलग देश है। अमेरिका के पास किसी द्वीप में बसा है बाबा का देश। बाबा नित्यानंद के देश का नाम है कैलासा। नित्यानंद साल 2019 से इक्वाडोर के तट पर स्थित द्वीप पर छिपा हुआ है। वह यौन उत्पीड़न का आरोप लगने के बाद फरार हो गया था।  तब से, नित्यानंद ने संयुक्त राष्ट्र से कैलासा को एक अलग देश घोषित करने की अपील की। बाबा नित्यानंद भारत का ही रहने वाला था।

कैलासा की मुद्रा है कैलाशियन डॉलर

पिछले दिनों, नित्यानंद ने अपने हिंदू संप्रभु राष्ट्र ‘के बारे में वीडियो और ट्वीट्स के साथ सोशल मीडिया पर लोगों का ध्यान खींच लिया था।  अपने स्वयं के कैबिनेट और प्रधान मंत्री के अलावा, द्वीप के पास एक समर्पित वेबसाइट है। द्वीप के बारे में, वेबसाइट कहती है कि कैलासा दुनिया भर के हिंदुओं द्वारा फैलाए गए सीमाओं के बिना एक राष्ट्र है। जिन्होंने अपने देशों में प्रामाणिक रूप से हिंदू धर्म का अभ्यास करने का अधिकार खो दिया है। अगस्त 2020 में, नित्यानंद ने अपना स्वयं का ‘रिज़र्व बैंक ऑफ़ कैलासा’ भी लॉन्च किया।द्वीप की आधिकारिक मुद्रा को ‘कैलाशियन डॉलर’ घोषित किया गया था। बलात्कार का आरोपी खुद को कैलासा का ‘सुप्रीम पोंटिफ’ बताता है।

भारत में कोरोना ने मचाई हाहाकार

भारत में कोरोना ने आतंक मचा रखा है। एक दिन के 3 लाख 32 हजार मामले सामने आना बेहद चिंताजनक बात है। भारत में कई राज्य की सरकारों ने लॉकडाउन घोषित कर रखा है। भारत में कोरोना मरीजों को ऑकसीजन की आपुर्ति नहीं हो रही है। भारत में तमाम पाबंदिया लगाने के बाद भी स्थितियां नियंत्रण में नहीं आ रही है। भारत में पहले अस्पतालों के लिए लाइन लगानी पड़ती थी लेकिन अब शमशान घाट, कब्रिस्तान में शवों के अंतिम संस्कार के लिए लाइन लगानी पड़ रही है। सरकार जनता से अपील कर रही है कि कोरोना के प्रति सतर्क रहें और ज्यादा से ज्यादा संख्या में कोरोना की वैक्सीन लगवाएं।

इसे भी पढ़ें Corona Update: कई देशों ने भारत के लिए बढ़ाए मदद के हाथ, जानें किसने क्या कहा

Leave a comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

});