Ram Vilas Paswan's birth anniversary : चिराग खुद भी निकालेंगे आशीर्वाद यात्रा
ताजा पोस्ट | देश | बिहार | लेख स्तम्भ | राजनीति| नया इंडिया| Ram Vilas Paswan's birth anniversary : चिराग खुद भी निकालेंगे आशीर्वाद यात्रा

Bihar Politics : राजद अपने 25वें स्थापना दिवस पर मनाएगा रामविलास पासवान की जयंती, चिराग भी निकालेंगे आशीर्वाद यात्रा

Ram Vilas Paswan's birth anniversary

पटना | Ram Vilas Paswan’s birth anniversary : बिहार की राजनीति में हाल में बहुत कुछ बदल गया है. चाचा भतीजे के बीच आई दरार के बाद अब लोजपा दो भागों में बंट गई है. एक और जहां चाचा को एनडीए अपना हिस्सा बता रही हैं वहीं दूसरी ओर आरजेडी लगातार चिराग पर डोरे डाल रहा है. इसी कड़ी में आरजेडी ने अब एक नया पैंतरा खेला है. आरजेडी ने चिराग को खुश करने के लिए 5 जुलाई को रामविलास पासवान जयंती मनाने का निर्णय लिया है. बता दें कि 5 जुलाई की तारीख अपने आप में आरजेडी के लिए खास है. ऐसा इसलिए है क्योंकि 5 जुलाई को ही आरजेडी का 25 वां स्थापना दिवस. राष्ट्रीय जनता दल की ओर से ऐलान किया गया है कि वह अपना स्थापना दिवस नहीं मना कर रामविलास पासवान की जयंती मनाएंगे.

Ram Vilas Paswan's birth anniversary

चिराग पासवान ने कुछ यूं दिया रिएक्शन

Ram Vilas Paswan’s birth anniversary : राजद के स्थापना दिवस पर रामविलास पासवान की जयंती मनाने पर चिराग पासवान का भी रिएक्शन आया है. एक इंटरव्यू के दौरान चिराग पासवान ने कहा कि लालू यादव और उनके पिता में घनिष्ठ मित्रता रही है. इसके साथ चिराग ने कहा कि तेजस्वी भी उनके छोटे भाई की तरह हैं. चिराग ने कहा कि राजनीतिक विचारधाराओं की लड़ाई अपनी जगह है लेकिन हमारे संस्कार ऐसे हैं कि हम दोनों एक दूसरे से जुड़े हुए हैं. इतना ही नहीं चिराग पासवान ने राजद को रामविलास पासवान जयंती मनाने के लिए धन्यवाद भी दिया. उन्होंने कहा कि तेजस्वी मेरे पिता को अपने पिता की तरह ही मानते थे.

इसे भी पढ़ें – वाहन चालकों को बड़ा झटका! Petrol Diesel के दामों में हुआ भारी इजाफा, जानें अब कितने में मिलेगा

Ram Vilas Paswan's birth anniversary

चिराग खुद भी निकालेंगे आशीर्वाद यात्रा

बता दें कि 5 जुलाई को रामविलास पासवान की जयंती के मौके पर चिराग पासवान भी आशीर्वाद यात्रा निकालने वाले हैं. मिल रही जानकारी के अनुसार यह यात्रा हाजीपुर से निकलेगी और उसके बाद चिराग बिहार के सभी जिलों का दौरा करेंगे. सूत्रों का कहना है कि इस यात्रा का उद्देश्य यह है कि चिराग बिहार के लोगों को यह संदेश देना चाहते हैं कि रामविलास पासवान की राजनीतिक विरासत के असली दावेदार वह हैं. बताया जा रहा है कि इस यात्रा के दौरान चिराग अपने दलित वोट बैंक को भी लुभाने का हर संभव प्रयास करेंगे.

इसे भी पढ़ें- चारधाम यात्रा को लेकर फिर बना संशय, उत्तराखंड हाइकोर्ट ने कहा- एक बार फिर विचार की जरूरत..

Leave a comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

ट्रेंडिंग खबरें arrow
x
न्यूज़ फ़्लैश
school reopen : मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ का बड़ा फैसला, 16 अगस्त से कोरोना गाइडलाइन के साथ स्कूल खोले जाए
school reopen : मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ का बड़ा फैसला, 16 अगस्त से कोरोना गाइडलाइन के साथ स्कूल खोले जाए