आईपीएस के मुंबई में क्वरैंटाइन करने पर विवाद

पटना। बिहार के आईपीएस अधिकारी विनय तिवारी को मुंबई में क्वरैंटाइन करने को लेकर विवाद शुरू हो गया है। मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने भी इस पर सवाल उठाए हैं और एक वरिष्ठ पुलिस अधिकारी ने बृहन्न मुंबई महानगरपालिका से इस पर सवाल पूछा है। गौरतलब है कि बिहार के आईपीएस अधिकारी विनय तिवारी फिल्म अभिनेता सुशांत सिंह राजपूत मामले की जांच के सिलसिले में मुंबई पहुंचे हैं।

बिहार पुलिस पहले से मुंबई में इस मामले की जांच कर रही है। उस जांच की सुपरविजन के लिए रविवार को मुंबई पहुंचे पटना के एसपी विनय तिवारी को बृहन्न मुंबई महानगरपालिका, बीएमसी ने क्वरैंटाइन कर दिया। उनके हाथ पर क्वरैंटाइन की मुहर लगाते हुए उन्हें अगले आदेश तक एक घर में रहने को कहा गया है। इसका मतलब है कि वे अब जांच के लिए किसी से मिल नहीं सकेंगे।

तिवारी को क्वरैंटाइन किए जाने को लेकर बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने नाराजगी जताई है। उन्होंने कहा कि यह अच्छा नहीं हुआ। बिहार पुलिस सिर्फ अपना काम कर रही है। इसे राजनीति से नहीं जोड़ा जाना चाहिए। बिहार के डीजीपी गुप्तेश्वर पांडेय ने ट्विट किया- आईपीएस अधिकारी विनय तिवारी पुलिस टीम का नेतृत्व करने के लिए ऑफिशियल ड्यूटी पर पटना से मुंबई पहुंचे, लेकिन उन्हें रात 11 बजे बीएमसी के अधिकारियों ने जबरन क्वरैंटाइन कर दिया। अनुरोध के बावजूद उनकी आईपीएस मेस में रहने की व्यवस्था नहीं की गई। अब उन्हें गोरेगांव के एक गेस्ट हाउस में रखा गया है। इस पर महाराष्ट्र के डीजीपी से बात करूंगा।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Shares