मध्यप्रदेश की अलग पहचान बनाने के लिए नजरिया और सोच में परिवर्तन लाएं

भोपाल। मध्यप्रदेश के मुख्यमंत्री कमलनाथ ने कहा है कि पूरी दुनिया में हर क्षेत्र में बदलाव हो रहे हैं। ऐसी परिस्थिति में मध्यप्रदेश की देश में एक अलग पहचान बनाने के लिए हम सबको देश और दुनिया में हो रहे परिवर्तन से जुड़ते हुए अपने नजरिये और सोच में परिवर्तन लाना होगा। कमलनाथ शुक्रवार को मंत्रालय के सामने सरदार पटेल पार्क में मध्यप्रदेश स्थापना दिवस पर आयोजित कार्यक्रम में अधिकारियों-कर्मचारियों को संबोधित कर रहे थे।

उन्होंने कहा कि आज आवश्यकता इस बात की है कि हम सब सकारात्मक सोच और दृष्टिकोण के साथ अपना काम करें। उन्होंने इस मौके पर अधिकारियों-कर्मचारियों को मध्यप्रदेश के सर्वांगीण विकास का संकल्प दिलवाया। मुख्यमंत्री ने कहा कि मध्यप्रदेश भारत का हृदय प्रदेश होने के साथ-साथ एक लघु भारत भी है। यहां सभी प्रदेशों, जातियों, भाषाओं, धर्मों और विभिन्न वर्गों के लोग निवास करते हैं। उन्होंने कहा कि मध्यप्रदेश हम सभी का है।

इसलिए हम सबका यह दायित्व है कि हमारा प्रदेश एक प्रगतिशील प्रदेश बने। यहां के नागरिकों के जीवन में खुशहाली आए। कमलनाथ कहा कि हमारे किसानों के हालात सुधरें, नौजवानों को रोजगार मिले, शिक्षा और स्वास्थ्य सुविधाओं की गुणवत्ता में उत्कृष्टता आए। इसके लिए क्रांतिकारी तरीके से काम करने की जरूरत है। उन्होंने अधिकारियों, कर्मचारियों और निर्णय व्यवस्था से जुड़े सभी लोगों से कहा कि वे आज के दिन यह संकल्प लें कि जब हम अगला स्थापना दिवस मनाएं, तो हमारा प्रदेश, देश के अग्रणी प्रदेशों की कतार में खड़ा हो। उन्होंने भावी पीढ़ी को भारतीय मूल्यों और संस्कृति से जोड़ने पर जोर दिया।

उन्होंने कहा कि देश को एक रखने की हमारी यह ताकत कमजोर न होने पाए, इसके लिए हमें निरंतर प्रयासरत रहना होगा। उन्होंने इस मौके पर उत्कृष्ट कार्य करने वाले कर्मचारियों और अधिकारियों को पुरस्कृत किया। प्रथम पुरस्कार में 50 हजार, द्वितीय पुरस्कार में 30 हजार एवं तृतीय पुरस्कार में प्रत्येक को 10 हजार रुपए की सम्मानित निधि प्रदान की गई। मुख्यमंत्री ने प्रदेश में पिछले दिनों ओरछा स्थित बेतवा नदी में अति वर्षा के कारण आई बाढ़ में फंसे लोगों को सुरक्षित निकालने और उनकी जान बचाने के लिए ओरछा स्थित पर्यटन इकाई के प्रभारी और उनकी सात सदस्यीय टीम को अदम्य साहस पुरस्कार से सम्मानित किया।

सभी को मुख्यमंत्री ने प्रशस्ति-पत्र प्रदान किए। स्थापना दिवस समारोह में प्रारंभ में राष्ट्रगीत वंदे मातरम्, मध्यप्रदेश गान और अंत में राष्ट्रीय गीत प्रस्तुत किये गये। इस अवसर पर मुख्य सचिव एस.आर. मोहंती, पुलिस महानिदेशक व्ही.के. सिंह, अपर मुख्य सचिव सामान्य प्रशासन के.के. सिंह तथा विभिन्न विभागों के प्रमुख सचिव और अन्य वरिष्ठ अधिकारियों के साथ बड़ी संख्या में कर्मचारी भी उपस्थित थे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Shares