ganesh visharjan Nagar Nigam गणेश प्रतिमाओं के अपमान पर चौतरफा
देश | छत्तीसगढ़| नया इंडिया| ganesh visharjan Nagar Nigam गणेश प्रतिमाओं के अपमान पर चौतरफा

गणेश प्रतिमाओं के अपमान पर चौतरफा घिरा निगम, कचरा गाड़ियों में रखी थी मूर्तियां

ganesh visharjan Nagar Nigam

रायपुर। रायपुर नगर निगम अब भगवान गणेश की मूर्तियों के अपमान मामले में चौतरफा घिर रहा है। राजनीतिक और सामाजिक संगठनों के अलावा आम लोग भी सोशल मीडिया पर निगम की कार्रवाई पर सवाल उठा रहे हैं। दरअसल, सोमवार को गणेश विसर्जन के दौरान मूर्तियों को अपमानित करने का मामला सामने आया था। नगर निगम ने कचरा गाड़ियों में मूर्तियां लाकर अस्थाई कुंड में असंवेदनशील ढंग से फेंक दिया था। ganesh visharjan Nagar Nigam

मामले में भाजपा प्रदेश अध्य्क्ष विष्णुदेव साय ने कांग्रेस पर निशाना साधते हुए कहा कि धर्म के साथ खिलवाड़ करना कांग्रेस की आदत हो गई है। मूर्तियों को कचरा गाड़ी में ले जाना करोड़ों लोगों की भावनाओं को आहत करना है। नगर निगम रायपुर का यह कृत्य माफी के लायक नहीं है। सरकार को जिम्मेदारों पर कड़ी से कड़ी कार्रवाई करनी चाहिए। जनता कांग्रेस युवा मोर्चा प्रदेश अध्यक्ष प्रदीप साहू ने कहा कि रायपुर नगर निगम द्वारा जिस तरीके से मूर्तियों को कचरा गाड़ी और ट्रक में ढोकर महादेव घाट कुंड में फेंका जा रहा है।

Read also सभ्यताओं के संघर्ष की जनरल रावत की समझ

ये बहुत निंदनीय है। सरकार अगर जिम्मेदार लोगों पर कार्रवाई नहीं करेगी तो युवा मोर्चा नगर निगम का घेराव करेगा।पूर्व मंत्री और विधायक बृजमोहन अग्रवाल ने कहा कि हिंदुओं की आस्था का सम्मान नहीं कर सकते तो अपमान भी नहीं करना चाहिए। पूर्व मंत्री राजेश मूणत ने कहा कि छत्तीसगढ़ भगवान राम का ननिहाल है। श्री राम के ननिहाल में देवी-देवताओं का इस तरह से अपमान किया जाता है।इस मामले में महापौर एजाज ढेबर ने दावा किया कि कचरा गाड़ी में किसी प्रतिमा को नहीं ले जाया गया। कुछ कर्मचारियों ने विसर्जन में लापरवाही बरती है। अब उन्हें इस काम से हटा दिया है। मैंने खुद महादेव घाट के कुंड पर जा कर लोगों से मुलाकात कर उनकी बातें सुनी हैं। व्यवस्था में सुधार के निर्देश दिए हैं। इस मामले में कुछ लोग राजनीति कर रहे हैं। मैं उनसे कहूंगा कि और भी मंच और मौके मिल जाएंगे, इस तरह के मामले में राजनीति नहीं करनी चाहिए।

Leave a comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

ट्रेंडिंग खबरें arrow
x
न्यूज़ फ़्लैश
बीएसएफ का दायरा बढ़ाने से क्या होगा?
बीएसएफ का दायरा बढ़ाने से क्या होगा?