nayaindia वैक्सीन की कीमत बताएं सरकार -
देश | समाचार मुख्य| नया इंडिया| %%title%% %%page%% %%sep%%

वैक्सीन की कीमत बताएं सरकार

नई दिल्ली। बिना तीसरे चरण का ट्रायल हुए भारत बायोटेक की कोवैक्सीन पर सवाल उठाने के बाद अब कांग्रेस पार्टी ने ऑक्सफोर्ड-एस्ट्राजेनेका की कोवीशील्ड वैक्सीन की कीमत पर सवाल उठाया है। साथ ही कांग्रेस ने यह भी पूछा है कि जब सरकार ने एक करोड़ 65 लाख डोज ही खरीदी है तो पहले चरण में तीन करोड़ लोगों को टीका कैसे लगेगा। कांग्रेस ने देश की बाकी 135 करोड़ आबादी के टीकाकरण के बारे में भी पूछा है और इसके साथ ही बताया है कि कैसे कांग्रेस की सरकारों ने टीबी से लेकर पोलियो तक वैक्सीनेशन का अभियान चलाया था।

कांग्रेस के मीडिया प्रभारी रणदीप सुरजेवाला ने कहा कि आजादी के बाद कांग्रेस सरकार ने वैज्ञानिक शोध को बढ़ावा दिया और पूरे देश में कई टीकाकरण अभियान शुरू किए ताकि गंभीर बीमारियों से लड़ा जा सके। सुरजेवाला ने रविवार को कहा कि कांग्रेस की सरकारों ने 1962 में टीबी और चेचक उन्मूलन के लिए अभियान चलाया था और 2011 में देश को पोलियो से मुक्त बनाया। सुरजेवाला ने केंद्र सरकार पर तंज करते हुए कहा- आज से पहले वैक्सीन का विकास और टीकाकरण कभी  ईवेंट या प्रचार प्रसार का स्टंट नहीं बना।

उन्होंने सवाल करते हुए कहा कि भारत के ड्रग कंट्रोलर के अनुसार, सरकार ने वैक्सीन की एक करोड़ 65 डोज खरीदी है, जिसमें से एक करोड़ 10  लाख कोवीशील्ड की हैं और 55 लाख कोवैक्सीन है, फिर इनसे तीन करोड़ लोगों को टीका कैसे लगेगा। उन्होंने कहा कि अगर हर व्यक्ति को दो डोज देनी है तो इतने से साढ़े 82 लाख लोगों को ही टीका लग पाएगा। उन्होंने कहा- प्रधानमंत्री और मोदी सरकार इस बात का जवाब देने से कतरा रहे हैं कि भारत की बाकी जनसंख्या, यानि 135 करोड़ नागरिकों को कोरोना वैक्सीन कैसे मिलेगी और क्या यह वैक्सीन उनके लिए भी मुफ्त होगी?

उन्होंने कीमत का मुद्दा उठाते हुए कहा कि सीरम इंस्टीच्यूट जो कोवीशील्ड वैक्सीन बना रही है वह वैक्सीन भारत सरकार को दो सौ रुपए प्रति खुराक की दर से दी जा रही है। एस्ट्राजेनेका ने वैक्सीन बिना कोई मुनाफा कमाए देने का वादा किया है। एक मीडिया रिपोर्ट का हवाला देते हुए उन्होंनेकहा कि बेल्जियम की मंत्री इवा डे ब्लीकर के अनुसार, उनके लिए एस्ट्राजेनेका वैक्सीन की कीमत 1.78 यूरो यानी 158 रुपए है। उन्होंने पूछा- सरकार वैक्सीन के लिए ज्यादा क्यों दे रही है?

Leave a comment

Your email address will not be published.

10 − 3 =

ट्रेंडिंग खबरें arrow
x
न्यूज़ फ़्लैश
क्या कोई है मतलब?
क्या कोई है मतलब?