nayaindia Rajasthan Politics: चिराग की ही तरह अपना प्लेन क्रैश करने वाले हैं पायलट ! जानें क्यों बेफिक्र हैं सीएम अशोक गहलोत - Naya India
ताजा पोस्ट | देश | राजस्थान| नया इंडिया|

Rajasthan Politics: चिराग की ही तरह अपना प्लेन क्रैश करने वाले हैं पायलट ! जानें क्यों बेफिक्र हैं सीएम अशोक गहलोत

जयपुर | राजस्थान में सियासी संकट थमने का नाम नहीं ले रहा है. सचिन पायलट खेमे के विधायक लगातार अपना विरोध दर्ज कर रहे हैं, लेकिन इसका कोई असर ना तो सीएम अशोक गहलोत को ही हो रहा है और ना ही कांग्रेेस के आलाकमान ही इससे प्रभावित हो रहे हैं.  जब सचिन पायलट  ने बगावत की थी तब उनके खेमे में शामिल कुछ विधायक अब अशोक गहलोत की तारीफ करते हुए नहीं थक रहे हैं. वहीं बसपा से आए विधायकों ने भी पायलट खेमे को निशाने पर लेने का काम किया है. इन हालातों में अभी ये समझना मुश्किल हो गया है कि कौन किसके साथ है और आने वाले समय में किसका साथ देने वाला है.  दिल्ली में अपनी शिकायत दर्द कराने पहुंचे राहुल गांधी को भी निराशा ही हाथ लगी है. पायलट की ना तो राहुल गांधी और ना ही प्रियंका गाधी से ही मुलाकात हो सकी है. ऐसे में कई जानकारों का मानना है कि अगर पायलट खेमा इसी तरह टूटता रहा तो सचिन पायलट का भी हाल चिराग पासवान जैसा हो सकता है और वो अपना ही प्लेन क्रैश करवा सकते हैं.

राहुल या प्रियंका दोनों से ही नहीं हो सकी मुलाकात

जितिन प्रसाद के पार्टी छोड़ भाजपा में शामिल होने के बाद एक बार फिर से सचिन पायलट का का खेमा सक्रिय हो उठा. इन सब को लेकर दबाव बनाने के लिए उस समय भी सचिन पायलट दिल्ली पहुंच गए थे. उस समय भी राहुल गांधी और प्रियंका गांधी से सचिन पायलट की मुलाकात नहीं हो सकी. लेकिन इस पूरे घटनाक्रम के दौरान कुछ ऐसा हुआ जो सचिन पायलट ने शायद ही सोचा हो. सचिन पायलट खेलने के कुछ विधायकों को सीएम अशोक गहलोत ने अपनी पाली में कर लिया. इधर, पायलट की तकलीफ सुनने वाले दिल्ली में कोई मौजूद नहीं था.

इसे भी पढें- Twitter News : अब ‘प्लेटफॉर्म’ नहीं बल्कि ‘पब्लिशर’ बना ट्विटर, ऐसे समझें पूरा मामला

भंवर लाल शर्मा के बदले बोल- गहलोत को बताया सुपर नेता

सचिन पायलट की बगावत करने के दौरान भंवर लाल शर्मा उनके साथ ही नजर आया करते थे. लेकिन तेजी से बदलते राजस्थान की सियासत में भंवर लाल शर्मा के बोल भी बदल गए हैं. पायलट खेमे में गिने जाने वाले भंवरलाल ने हाल में अशोक गहलोत को सुपर नेता और सचिन पायलट को नेता बताकर हड़कंप मचा दिया. ऐसा नहीं है कि पायलट खेमे से सिर भंवर लाल शर्मा के बोल बदल गए हैं बल्कि दो और विधायक विश्वेंद्र सिंह और पी आर मीणा ने भी अपना पाला बदल दिया है. यह बता दें कि यह तीनों ही विधायक सचिन पायलट के विश्वसनीय माने जाते रहे हैं.

इसे भी पढें-  UP Election 2022 : बुआ का भतीजे पर फूंटा गुस्सा, कहा-  SP  इमानदार होती तो इन्हें यूं अधर में नहीं रखती

 

Leave a comment

Your email address will not be published.

20 − thirteen =

ट्रेंडिंग खबरें arrow
x
न्यूज़ फ़्लैश
ज्ञानवापी का फैसला जिला जज करेंगे
ज्ञानवापी का फैसला जिला जज करेंगे