CM Gehlot congratulated Sidhu : सीएम गलहोत ने दी बधाई, कहा....
ताजा पोस्ट | देश | पंजाब | राजस्थान| नया इंडिया| CM Gehlot congratulated Sidhu : सीएम गलहोत ने दी बधाई, कहा....

सिद्धू के पंजाब इकाई का नया अध्यक्ष बनने पर सीएम गहलोत ने दी बधाई, कहा- ‘पार्टी की रीति-नीति को आगे बढ़ाएंगे’

Religious Events Banned in Rajasthan

जयपुर | CM Gehlot congratulated Sidhu : पंजाब कांग्रेस में जारी घमासान पर अब॔ लगता हुआ नजर आ रहा है. कांग्रेस की अध्यक्ष सोनिया गांधी ने रविवार को नवजोत सिंह सिद्धू को पार्टी की पंजाब इकाई का नया अध्यक्ष नियुक्त कर दिया है. उम्मीद की जा रही है कि अब आने वाले विधान सभी चुनावे में कांग्रेस एकजुट होकर कार्य करेंगी. सिद्धू के पंजाब कांग्रेस के अध्यक्ष बनने के बाद अब गहलोत ने इसके लिए सिद्धू को बधाई व शुभकामनाएं दी हैं. उन्होंने ट्वीट किया, ‘‘ कांग्रेस अध्यक्षा सोनिया जी ने नवजोत सिंह सिद्धू को पंजाब कांग्रेस का अध्यक्ष बनाने की घोषणा कर दी है. सिद्धू को बधाई व शुभकामनाएं. उम्मीद है कि वह कांग्रेस पार्टी की परम्परा का निर्वहन भी करेंगे तथा सभी को साथ लेकर पार्टी की रीति-नीति को आगे बढ़ाने का कार्य करेंगे.’’

कांग्रेस की परम्परा रही है, पहले सभी से राय-मशविरा होता है

CM Gehlot congratulated Sidhu : मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने सोमवार को उम्मीद जताई कि पंजाब कांग्रेस के अध्यक्ष नवजोत सिंह सिद्धू सभी को साथ लेकर पार्टी की रीति-नीति को आगे बढ़ाने का कार्य करेंगे . गहलोत के अनुसार, कांग्रेस की परम्परा रही है कि हर निर्णय से पहले सभी से राय-मशविरा होता है तथा सभी को अपनी बात रखने का मौका मिलता है. सबकी राय को ध्यान में रखकर जब एक बार पार्टी आलाकमान फैसला ले लेता है, तब कांग्रेस के सभी सदस्य एकजुट होकर उसे स्वीकार करने की परम्परा को निभाते है. यहीं कांग्रेस की आज भी सबसे बड़ी ताकत है.

इसे भी पढें – गरजे PM Modi, कहा- Corona के टीके ने लोगों को बनाया ‘बाहुबली’, विपक्ष पूछे तीखे सवाल, जवाब देगी सरकार

कांग्रेस आलाकमान को सता रहा था चुनाव का डर

बता दें कि नवजोत सिंह सिद्धू और पंजाब के सीएम कैप्टन अमरिंदर सिंह के बीच का ये विवाद पिछले कुछ दिनों से कांग्रेस पार्टी के लिए परेशानी का सबब बना हुआ था. बताया जा रहा है कि कांग्रेस को अब ये भी डर सताने लगे था कि कहीं आने वाले विधानसभा चुनावों में पार्टी को इनके बीच के विवाद का खामियाजा ना उठाना पड़े. सिद्धी भी लगातार दिल्ली में पार्टी आलाकमानों के पास शिकायत लेकर पहुंच रहे थे. ऐसे में अब सिद्धू को पंजाब कांग्रेस के कमान मिलने के बाद विवाद खत्म होने की उम्मीद है.

इसे भी पढें- ईशान किशन का बड़ा खुलासा – ड्रेसिंग रूम से सोच कर आए थे पहली गेंद पर मारेंगे SIX – देखें VIDEO

Leave a comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *