जज्बे को सलाम: 5 माह की गर्भवती DSP धूप में कर रही है ड्यूटी, विभाग के लिए बनीं प्रेरणास्रोत - Naya India
देश | छत्तीसगढ़ | ताजा पोस्ट| नया इंडिया|

जज्बे को सलाम: 5 माह की गर्भवती DSP धूप में कर रही है ड्यूटी, विभाग के लिए बनीं प्रेरणास्रोत

Raipur: देश में एक बार फिर से कोरोना कहर बरसा रहा है. कोरोना के इस प्रकोप के बीच एक बार कुछ ऐसे कोरोना योद्धा सामने आ रहे हैं जो और लोगों के लिए आदर्श है. छत्तीसगढ़ देश में सबसे ज्यादा कोरोना प्रभावित राज्यों में से एक है. लोग कोरोना के बढ़ते मामलों से परेशान भी हैं . लेकिन इसके बाद भी कई ऐसे लोग हैं जो अभी भी लापरवाही बरत रहे हैं. ऐसे लापरवाह लोगों से को सबक सिखाती दंतेवाड़ा में पदस्थ महिला DSP शिल्पा साहू इन दिनों सोशल मीडिया में काफी वायरल हो रहा है. गर्भवती होने के बाद DSP शिल्पा  ड्यूटी में लगी हुई है और लोगों को घरों में रहने को कह रही हैं.

पांच महीने की हैं गर्भवती

दंतेवाड़ा जिले में पदस्थ DSP शिल्पा साहू पहली बार सुर्खियों में नहीं आई हैं.  कुछ साल पहले वे अपनी शादी क लेकर भी खूब चर्चा में रह चुकी हैं. उस समय शादी के बाद अपने पति के साथ  नक्सल ऑपरेशन पर जाने को लेकर भी उनकी खूब सराहना हुई थी. हालांकि इस बात को अब समय हो गया है. लेकिन एक बार फिर से शिल्पा चर्चाओं में आ गई है. शिल्पा 5  महीने की गर्भवती हैं और इसके बाद भी वे ड्रयूटी पर तैनात हैं. शिल्पा के घरवालों का कहना है कि वे ड्यूटी से कोई समझौता नहीं करती है. शिल्पा कोरोना  के इन हालातों को देखते हुए भी अपनी ड्यूटी निभा रहे हैं.

गर्भवती होने के कारण वर्दी में नहीं कर रही हैं ड्यूटी

धूप की फिक्र छोड़कर  शिल्पा सड़कों पर लोगों को बचने के लिए प्रयासरत है. वो लगातार लोगों को घर जाने की नसीहत देती दिखाई दे रही है.  शिल्पा के काम के प्रति निष्ठा को देखते हुए दूसरे राज्यों के पुलिसकर्मी भी प्रेरणा ले रहे हैं.  शिल्पा अपने साथ ही अपने पेट में पल रहे बच्चे की भी परवाह करते हुए अपनी ड्रयूटी निभा कर देश के अन्य लोगों के लिए प्रेरणा स्रोत हैं.

इसे भी पढ़ें- अजब गजब: शादी का जोड़ा पहल कोरोना की वैक्सीन लेने पहुंची महिला, लोग लेने लगी सेल्फी

पति भी हैं DSP

शिल्पा के पति का नाम देवांश सिंह राठौर है, वो भी पुलिस विभाग में DSP के पद पर हैं. बहुत पहले हुए एक इंटरव्यू  में  देवांश ने बताया था कि हम दोनों की मुलाकात ट्रेनिंग के समय हुई थी. इसी दौरान उनके बीच की नजदीकियां बढ़ी . बाद में दोनों ने एक होने का फैसला लिया था.  देवांश बताते हैं कि हम दोनों के बीच ट्यूनिंग काफी अच्छी है. लेकिन काम को लेकर वो ईमानदार हैं और काम के लिए तो वो मेरी भी नहीं सुनती हैं.

इसे भी पढ़ें- दिल्ली में Lockdown के बाद बाजारों में पसरा सन्नाटा, प्रवासी मजदूरों का पलायन तेज

Leave a comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *