Ganga's water Found Negative: शवों के बहाए जाने के बाद भी एंटी वायरल ..
देश | उत्तर प्रदेश | कोविड-19 अपडेटस | ताजा पोस्ट| नया इंडिया| Ganga's water Found Negative: शवों के बहाए जाने के बाद भी एंटी वायरल ..

ऐसे ही ‘मां’ और ‘पवित्र’ नहीं है गंगा ! संक्रमित शवों के बहाए जाने के बाद भी गंगा का जल एंटी वायरल

pm modi new plans

नई दिल्ली। Ganga’s water Found Negative: कोरोना की दूसरी लहर के बाद से देश की नदियों के पानी की भी जांच शुरू कर दी गई. आपको यह जानकर आश्चर्य होगा कि उत्तर प्रदेश में स्थित महादेव की नगरी काशी में गंगा नदी के पानी की जब कोरोना जांच की गई तो उसकी रिपोर्ट निगेटिव आई. बता दें कि यह रिपोर्ट वाराणसी के बनारस हिंदू यूनिवर्सिटी और लखनऊ के बीरबल साहनी पुराविज्ञान के वैज्ञानिकों द्वारा जारी की गई है. गंगा के पानी में कोरोना की जांच के लिए वैज्ञानिकों ने लगातार 4 सप्ताह तक अलग-अलग स्थानों में गंगाजल के सैंपल लिए. इसके बाद इन सभी सैंपलों की rt-pcr जांच की गई. इस जांच में हर बार कोरोना की रिपोर्ट नेगेटिव आई है जिससे यह साफ हो गया है कि गंगा में स्नान करने से कोरोना का खतरा नहीं है. रिपोर्टों से उत्साहित होकर वैज्ञानिकों ने कहा कि अब तो हम भी यह मानने लगे हैं कि गंगा का जल एंटी वायरल है.

Ganga's water Found Negative:

अहमदाबाद के साबरमती नदी का पानी मिला था संक्रमित

Ganga’s water Found Negative: बता दें कि कोरोना की दूसरी लहर के दौरान देश के कई नदियों और तालाबों के पानी की जांच की गई थी. यह जांच देश में कोरोना संक्रमण के दर को देखते हुए की गई थी. इसी कड़ी में जब अहमदाबाद की साबरमती नदी का सैंपल लिया गया तो लगभग सभी सैंपलों में कोरोना संक्रमण के वायरस की पुष्टि हुई थी. इस रिपोर्ट के सामने आने के बाद से पूरे शहर में हड़कंप मच गया था. हालांकि बाद में वैज्ञानिकों ने तकनीक का इस्तेमाल करते हुए पानी को वायरस मुक्त करने का हर संभव प्रयास कर लिया. लेकिन गंगा नदी में संक्रमण का नहीं मिलना सचमुच एक तरह का चमत्कार ही है.

इसे भी पढ़ें- लंदन पार्क में डबल मर्डर का मामला, शैतान से किया वादा- 321 मिलियन पाउंड जीतने के बाद छह माह में छह महिलाओं की हत्या कर देगा

Ganga's water Found Negative:

गंगा में बहते शवों ने बढ़ाई थी चिंता

Ganga’s water Found Negative: दूसरी लहर के दौरान गंगा नदी में बहती शवों की तस्वीरों ने कई लोगों को विचलित कर दिया था. इसी कारण अंदेशा लगाया जा रहा था कि जब साबरमती में संक्रमित पानी पाया गया था तो गंगा का पानी कैसे अछूता रह सकता था. लेकिन जिस तरह से भारत में गंगा नदी को देवी की तरह पूजा जाता है उसे देखते हो यह कोई चमत्कार ही है. क्योंकि संक्रमित शवों के बहाए जाने के बाद भी यहां का पानी आज भी एंटी वायरल है. अब जब वैज्ञानिकों ने यह स्पष्ट कर दिया है कि गंगा के पानी में कोई संक्रमण नहीं पाया गया है तब एक बार फिर से श्रद्धालुओं को इसमें स्नान करने की अनुमति मिलने के अनुमान लगाए जा रहे हैं.

इसे भी पढ़ें- Coronavirus Cases in India: भारत में 24 घंटे में कोरोना से 930 मौतें, 43 हजार से ज्यादा नए संक्रमित

Leave a comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

ट्रेंडिंग खबरें arrow
x
न्यूज़ फ़्लैश
Nia Sharma का Video फिर हुआ वायरल, वनपीस व्हाइट ड्रेस में ऐसी आईं नजर
Nia Sharma का Video फिर हुआ वायरल, वनपीस व्हाइट ड्रेस में ऐसी आईं नजर