देश

कोरोना तुम चुनावी रैलियों से डरते हो ….कविता में बच्चे का छलका दर्द

देशभर में कोरोना  एक बार फिर से कहर बरसा रहा है.  भारत में एक दिन में 1.50 लाख के करीब मामले मिल रहे हैं. दूसरी तरफ ऐसा लगता है कि कोरोना बच्चों से कुछ बदला ले रहा हो. दो साल से बच्चो के स्कूल नहीं खुलें है. जब हालात नियंत्रण में आकर स्कूल खोलने का फैसला लिया गया तो कोरोना फिर से अपनी काली छाया लेकर आ गया…ऐसा ही एक बच्चे की  कविता में उसके स्कूल ना जाने का दर्द छलक गया. इस कविता में बच्चे ने कोरोना से शिकायत भी की है और कहा है कि ऐसा लगता है कि तुम केवल चुनाव से डरते हो. इस वीडियो को बॉलीवुड के मशहूर लिरीसिस्ट और स्क्रिप्ट राइटर मनोज यादव ने अपने ट्विटर हैंडल से शेयर किया है.

इसे भी पढ़ें Corona crisis: माली ले रहा कोरोना के सैंपल, पूछने पर मिला ये जवाब

क्या कहा बच्चे ने कविता में

वीडियो में बच्चा कहता है हमको लगता है कि केवल तुम डरते हो चुनाव से जाता हूं स्कूल तुम भी आ जाते हो। बच्चे ने अपनी कविता में आगे कहा खुलते मेरा स्कूल तुम आ जाते हो कोरोना। वहीं, मनोज यादव ने बच्चे के इस वीडियो को शेयर करते हुए लिखा सुनिए, स्कूल जाते बालक की कोरोना वायरस से शिकायत।खुलते मेरा स्कूल तुम आ जाते हो कोरोना।नेता जी की रैली में क्यों नहीं जाते हो कोरोना?

तेजी से वायरल हो रहा है वीडियो

मनोज यादव द्वारा साझा किये गए छात्र के इस वीडियो को लेकर फैंस भी खूब कमेंट कर रहे हैं.  वीडियो तेजी से वायरल हो रहा है. साथ ही फैंस इसपर जमकर कमेंट भी कर रहे हैं. इस बच्चे की कविता और विचार लोगो को खूब पसंद आ रहे हैं.  ऐसा लग रहा है कि यह बच्चा अपने दोस्तों और स्कूल को बहुत मिस कर रहा है.

एक दिन में डेढ़ लाख मामले आए

कोरोना वायरस के मामलों की बात करें तो भारत में 13 अप्रैल को एक लाख से ज़्यादा नए केस मिले हैं। पिछले 24 घंटे में 1,61,736 नए COVID-19 मामले दर्ज हुए हैं।ऐसा लगातार तीसरा दिन है। जब देश में एक दिन में डेढ़ लाख से ज्यादा मामले सामने आए हैं।इसके साथ ही पिछले 24 घंटों में 879 मौतें हुई हैं। पुरे देश में सख्ती कोरोना गाइडलाइन का पालन किया जा रहा है। कोरोना के बढ़ते हुए मामलो को देखते हुए लगभग पूरे देश में नाइटकर्फ्यू लगा दिया गया है। स्वास्थय मंत्रालय ने पूरे देश से सतर्क रहने की अपील की है।

इसे भी पढ़ें Corona : कर्नाटक के मुख्यमंत्री BS Yeddyurappa ने लॉकडाउन लागू करने से किया इनकार

Latest News

स्वास्थ्य मंत्रालय सचिव राजेश के भूषण ने कहा-डरें नहीं , डेल्टा वैरिएंट के लिए भी प्रभावी है Covaxine और Covishild
नई दिल्ली | भारत में अब कोरोना के नये मामलों में लगातार कमी देखी जा रही है. यही कारण है कि देश…

Leave a comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

कोविड-19 अपडेटस | ताजा पोस्ट | देश

स्वास्थ्य मंत्रालय सचिव राजेश के भूषण ने कहा-डरें नहीं , डेल्टा वैरिएंट के लिए भी प्रभावी है Covaxine और Covishild

covaxine and covishild are impressive in delta varient

नई दिल्ली | भारत में अब कोरोना के नये मामलों में लगातार कमी देखी जा रही है. यही कारण है कि देश में वैक्सीनेशन की प्रक्रिया पर विशेष ध्यान दिया जा रहा है. इधर डेल्टा वैरिएंट के सामने आने से भी देश के लोगों में असंजस की स्थिति बनी हुई है. बता दें कि कोरोना वायरस का डेल्टा वैरिएंट 80 देशों में पाया गया है, जिसमें भारत भी शामिल है. इस संबंध में बात करते हुए स्वास्थ्य मंत्रालय के सचिव राजेश भूषण ने कहा कि देश में अब तक डेल्टा वायरस के 22 केस मिल चुके हैं. उन्होंने कहा कि भारत में लगाए जा रहे दोनों भारतीय टीके Covishield और Covaxin डेल्टा वैरिएंट के खिलाफ प्रभावी हैं. हालांकि उन्होंने कहा अभी ये जानकारी नहीं है कि ये टीके किस हद तक प्रभावी हैं.

covaxine and covishild are impressive in delta varient

डेल्टा प्लस वैरिएंट के 22 में से 16 मामले महाराष्ट्र से

राजेश भूषण ने कहा कि देश में डेल्टा प्लस वैरिएंट से बचने की जरूरत है . उन्होंने कहा कि वैक्सीनेशन ही इससे बचने का उपाय हो सकता है. उन्होंने कहा कि अब तक मिली जानकारी के अनुसार देश के 22 में से 16 मामले महाराष्ट्र के रत्नागिरी और जलगांव में पाये गये हैं. इसके साथ ही कुछ मामले केरल और मध्यप्रदेश में पाये गये हैं. उन्होंने कहा कि 15 जून से 21 जून के बीच देश के 552 जिलों में पॉजिटिविटी रेट पांच प्रतिशत से कम हो गयी है.

इसे भी पढें-  क्या होगा जब बिगबॉस 15 में रिया चक्रवती और अंकिता लोखंडे का होगा सामना..जाननें के लिए पढ़ें पूरी खबर

ऐतिहासिक टीकाकरण के लिए दी देशवासियों को बधाई

21 जून से शुरू किये गये ऐतिहासिक टीकाकरण अभियान में देश के लोगों के जुड़ने के लिए उन्होंने बधाई दी., उन्होंने कहा कि यह बहुत बड़ी बात है कि हमने एक दिन में रिकॉर्ड 88.09 लाख लोगों को वैक्सीन लगवाया. इत दौरान मध्यप्रदेश में 17 लाख (सबसे अधिक) लोगों का टीकाकरण लगाया गया. दूसरे नंबर पर कर्नाटक में 11 लाख लोगों को कोरोना का टीका दिया गया. हालांकि उन्होंने कहा कि देश में अभी भी महिलाओं को टीका लगवाने के लिए आगे आने की जरूरत है.

इसे भी पढें- BJP से जुड़ने का सर मुंडवा कर किया प्रायश्चित फिर गंगाजल से शुद्धि के बाद TMC में शामिल हुए 200 कार्यकर्ता

Latest News

aaस्वास्थ्य मंत्रालय सचिव राजेश के भूषण ने कहा-डरें नहीं , डेल्टा वैरिएंट के लिए भी प्रभावी है Covaxine और Covishild
नई दिल्ली | भारत में अब कोरोना के नये मामलों में लगातार कमी देखी जा रही है. यही कारण है कि देश…

Leave a comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *