मुर्गी पालन पर कोरोना की आशंकाओं का हो समाधान: नायडू

नई दिल्ली। उप राष्ट्रपति एम. वेंकैया नायडू ने कोरोना वायरस से मुर्गी पालन उद्योग पर आये संकट से निपटने के उपाय करने का आह्वान करते हुए शुक्रवार को कहा कि सभी प्रकार की अफवाहों को रोकना चाहिए और उद्योग को सामान्य बनाने के लिए प्रयास किए जाने चाहिए।

अखिल भारतीय कुक्कुट उत्पादक संघ (ऑल इंडिया मुर्गी पालन ब्रीडर्स एसोसिएशन) के अध्यक्ष बहादुर अली के नेतृत्व में एक प्रतिनिधिमंडल ने उपराष्ट्रपति से मुलाकात की और उन्हें नोवल कोरोनो वायरस के प्रभाव के बारे में व्यापक आशंकाओं के मद्देनजर मुर्गीपालन क्षेत्र की समस्याओं से अवगत कराया।

प्रतिनिधिमंडल ने कहा कि मुर्गी पालन उद्योग के लिए खतरे के बारे में झूठी खबरें लोगों में घबराहट पैदा कर रही हैं और परिणामस्वरूप मुर्गी पालन उत्पादों की खपत में भारी कमी आई है। नायडू ने भारतीय चिकित्सा अनुसंधान परिषद (आईसीएमआर) के महानिदेशक प्रो. बलराम भार्गव से भी बात की और आईसीएमआर को सलाह दी कि वे मुर्गे का मांस और अंडे के उपभोग पर लोगों की आशंकाओं को दूर करने के लिए एक परामर्श जारी करें।

उन्होंने कहा कि उपभोक्ताओं और विक्रेताओं दोनों को आश्वस्त करने के लिए सही जानकारी का प्रसार आवश्यक है। नायडू ने इस बैठक में उपस्थित वित्त और कॉर्पोरेट कार्य राज्य मंत्री अनुराग ठाकुर से इस मामले में कार्रवाई करने के लिए कहा। ठाकुर ने प्रतिनिधिमंडल को आश्वासन दिया कि सरकार मामले की जांच करेगी और आवश्यकतानुसार कार्रवाई करेगी।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Shares