सावधान : आपदा में अवसर तलाश रहे हैं अपराधी, कोरोना काल में बच्चों को गोद लेने- देने की मची होड़ - Naya India
ताजा पोस्ट | देश | पश्चिम बंगाल | लाइफ स्टाइल| नया इंडिया|

सावधान : आपदा में अवसर तलाश रहे हैं अपराधी, कोरोना काल में बच्चों को गोद लेने- देने की मची होड़

नई दिल्ली | देश में कोरोना का प्रकोप कम होने लगा है. उम्मीद की जा रही है कि आने वाले कुछ दिनों में एक बार फिर से सब कुछ सामान्य हो जाएगा. लेकिन इन परिस्थितियों में अपना सब कुछ होने वाले लोगों और बच्चों की मदद के लिए सरकार और सामाजिक लोग सामने भी आ रहे हैं. लेकिन कई ऐसे लोग भी हैं जो इस आपदा में अवसर तलाश रहे हैं. कोरोना की दूसरी लहर के दौरान अपने मां-बाप को खोने वालों बच्चों के लिए अब एक और फ्रॉड शुरू हो गया है. खासकर पश्चिम बंगाल में धोखेबाजों का समूह एक्टिव है और वो ऐसे बच्चों को गोद लेने की बात कर रहा है जिनके मां बाप कोरोना संक्रमण के कारण गुजर गए.

सोशल मीडिया में बच्चों को गोद लेने की मची होड़

पश्चिम बंगाल के साथ ही देश भर में इंटरनेट पर ऐसे पोस्ट वायरल हो रहे हैं जिनमें बच्चों को गोद लेने की इच्छा दिखाई जा रही है. इसके साथ ही सोशल मीडिया में कुछ ऐसे पोस्ट भी आए हैं जिनमें बच्चों को गोद देने का दावा किया जा रहा है. जब इस पर पड़ताल की गई तो पता चला कि अक्सर इन पोस्टों में दिए जा रहे हैं नंबरों पर फोन करने से कोई जवाब नहीं आता है. कुछ लोग अगर फोन उठाते भी हैं तो इनमें बच्चा गोद लेने के एवज में मोटी रकम की मांग की जाती है.

बाल तस्करी की हो रही कोशिश

इस संबंध में कोलकाता पुलिस की जांच में जो सामने आया है उससे स्पष्ट है कि इस आपदा के समय में भी कुछ लोग अवसर तलाशने में लगे हुए हैं. बंगाल पुलिस के अनुसार ये वैसे लोग हैं जो मानव तस्करी से जुड़े हुए हैं और पैसे कमाने के लिए इस धंधे में उतर आए हैं. इंटरनेट पर बच्चा गोद लेने के इच्छुक एक कपल के साथ ठगी के बाद उन्होंने कोलकाता में मामला दर्ज कराया था. इसके बाद जब बंगाल पुलिस मामले की तह तक पहुंची तो बाल तस्करी का खुलासा हो सका. इस मामले में कार्रवाई करते हुए बंगाल की पुलिस ने 2 बाल तस्करों को गिरफ्तार भी किया है. लेकिन पुलिस का कहना है कि अभी भी सोशल मीडिया में कई फ्रॉड एक्टिव हैं.

इसे भी पढ़ें – काम की खबर : SBI, HDFC बैंक, ICICI के ग्राहकों के लिए बड़ी खबर, 30 जून के बाद बंद होगी बैंक की ये स्कीम

सतर्क रहें, एक्टिव हैं फ्रॉड

मामले का खुलासा होने के बाद इंडियन स्कूल ऑफ एंटी हैकिंग के निदेशक संदीप सेन गुप्ता ने कहा कि हमें इंटरनेट पर इन चीजों से बचने की जरूरत है. उन्होंने कहा कि हमारी सतर्कता ही हमारा बचा हो सकती है. उन्होंने कहा कि गोद लेना या देना दोनों ही तरह के पोस्ट सोशल मीडिया में नहीं किए जा सकते. यह एक तरह का अपराध है.

इसे भी पढ़ें- अजब गजब : प्रेमिका की शादी में शामिल होने के लिए बन गया लड़की, पहचाने जाने के बाद पड़े लात-घूंसे

Leave a comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

और पढ़ें

ट्रेंडिंग खबरें arrow
x
न्यूज़ फ़्लैश
दिल्ली में बिना टीका लगाए लोग कहां से आए?
दिल्ली में बिना टीका लगाए लोग कहां से आए?