Cybercriminals fooling by becoming policemen:पोर्न देखने पर पुलिस का मैसेज
देश | दिल्ली| नया इंडिया| Cybercriminals fooling by becoming policemen:पोर्न देखने पर पुलिस का मैसेज

आपके पास भी आया क्या पोर्न देखने पर पुलिस का ये मैसेज, जानें क्या है मामला

Cybercriminals fooling by becoming policemen:

नई दिल्ली।Cybercriminals fooling by becoming policemen: प्रनोग्राफी मामले में राज कुंद्रा और अभिनेत्री शिल्पा शेट्टी का नाम जोड़ने के बाद देशभर में चर्चाओं का बाजार गर्म है. अब कुछ अपराधिक प्रवृत्ति वाले लोग इसमें भी अपना फायदा ढूंढने लगे हैं. कुछ लोग के पास एक ऐसा मैसेज आ रहा है जिसपर कहा जा रहा है की आप पोर्न देख रहे हैं इसलिए आपको जुर्माना भरना होगा. यह मैसेज लोगों के पास तब आ रहा था जब इंटरनेट पर कोई व्यक्ति पोर्न लिखकर सर्च करता था. पुलिस की ओर से दिखाया जाने वाले इस मैसेज में ये भी लिखा होता था कि पोर्न देखना एक तरह का अपराध है. इसके लिए आपको ₹3000 का जुर्माना भरना होगा वरना आपका कंप्यूटर ब्लॉक कर दिया जाएगा.

Cybercriminals fooling by becoming policemen:

फेक था मैसेज, 3 आरोपियों को पुलिस ने किया गिरफ्तार

Cybercriminals fooling by becoming policemen: इस संबंध में स्वत: संज्ञान लेते हुए दिल्ली पुलिस के साइबर क्राइम ने केस दर्ज कर लिया. मामले की जांच हुई तो पता चला कि है किसी ब्राउज़र में आने वाला एक पॉपअप की तरह था. जैसे ही लोग इंटरनेट पर पोर्न सर्च करते थे तो उनके सामने यह मैसेज डिस्प्ले हो जाता था. पुलिस ने इस मामले में जांच करते हुए तीन चेन्नई के रहने वाले आरोपियों को गिरफ्तार किया है. पुलिस का कहना है कि इस धोखाधड़ी को ऑपरेट भारत के बाहर से हींs किया जा रहा है. पुलिस ने यह भी बताया कि यह तीनों आरोपी के बैंक अकाउंट फ्रॉड करने वाले प्रयोग में ले रहे थे और उन्हें इस बात की जानकारी थी. इन तीनों लोगों को इसके बदले कमीशन दिया जा रहा था.

इसे भी पढ़ें- बढ़ते पेट्रोल-़डीजल की कीमतों पर संसद में बोले पेट्रोलियम मंत्री- उत्पाद शुल्क लगाकर दे रहे हैं गरीबों को मुफ्त राशन और वैक्सीन

Cybercriminals fooling by becoming policemen:

मैसेज के साथ आता था क्यूआर कोड

Cybercriminals fooling by becoming policemen: मैसेज के साथ ही लोगों के सामने qr-code भी आ जाता था जिसमें फाइन भरने की बात कही जाती थी. इतना ही नहीं पुलिस की जांच में यह भी सामने आया कि इस फ्रॉड में 1000 से ज्यादा लोगों को फसाया जा चुका था लेकिन किसी ने भी पुलिस से इस मामले में शिकायत नहीं की थी. बताया जा रहा है कि अब तक इसकी बारकोड से 30 से 40 लाख का ट्रांजैक्शन हो चुका था. पुलिस ने उन लोगों से संपर्क किया है जो इस फ्राड का शिकार हो को हैं. लेकिन कोई भी व्यक्ति इस संबंध में पुलिस का साथ देने को तैयार नहीं है. पुलिस ने बताया कि पकड़े गए तीनों आरोपियों में से एक का भाई कंबोडिया में रहता है वह वहां से ही इन्हें टेक्निकल सपोर्ट कर रहा था.

इसे भी पढ़ें- कहते रहे किसी ने नहीं मांगा , फिर आज सरकार के 2 साल पूरे होने पर पद छोड़ते देते हुए भावुक हुए येदियुरप्पा, जानें क्या कहा…

Leave a comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *