nayaindia Delhi BJP दिल्ली भाजपा में बहादुरों का सम्मान
kishori-yojna
देश | दिल्ली | बात बतंगड़| नया इंडिया| Delhi BJP दिल्ली भाजपा में बहादुरों का सम्मान

दिल्ली भाजपा में बहादुरों का सम्मान !

Karnataka dispute BJP

दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल के आवास पर तोड़फोड़ या फिर फ़साद करने में दबोचे गए भाजपाईयों का सार्वजनिक सम्मान कर भाजपा क्या संदेश देना चाहती है यह तो भाजपा ही जाने लेकिन दिल्ली में राजनैतिक ज़मीन तैयार करने में लगी भाजपा ऐसी हरकतों से कुछ हासिल कर पाएगी इसकी उम्मीद तो विरोधी तो विरोधी पार्टी के लोगों को भी नहीं हैं। इंतहा देखिए कि जेल से ज़मानत पर छूटने के बाद पहले इन फसादियों को प्रदेश मुख्यालय में महिमा मंडित किया गया और फिर युवा मोर्चा की तरफ़ से। एक तरफ़ फसादियों को सम्मानित किया जा रहा था तो दूसरी ओर एक पूर्व केंद्रीय मंत्री के शिष्य को पुलिस उठाने की मशक़्क़त में लगी थी।

यूँ अपने ये नेताजी पूर्व मेयर भी रहे हैं पर मर्दानगी के चलते मैदान में आ डटे थे पर पुलिस पीछे लगी तो नेताजी को मंत्री जी ही याद आए। खैर ज़मानत मिल गयी तो लाज बची वरना तो आज अंदर ही पसीने छूट रहे होते । अब भले लोग कह रहे हों कि एक तरफ़ आका विकास की बात कर रहे हैं तो दूसरी ओर प्रदेश अध्यक्ष अपने चेले -चपाटों को तोड़फोड़ या फ़साद की सलाह। तो अध्यक्ष जी की बला से। चलो फ़साद तो हो गया पर लोगों के ज़ेहन में पैदा हो रहे इन सवालों का जबाब कौन देगा। कि क्या भाजपा इस तरह दिल्ली में वापिसी कर लेगी, या फिर अध्यक्ष कोई चुनाव जीत पा सकेंगे ?

Read also प्रशांत किशोर का तिनका और कांग्रेस

और तो और ऐसा तब जबकि अध्यक्ष दिल्ली में राजेंद्र नगर विधानसभा का उप चुनाव लड़ने के मूड में बताए जा रहे हों। अब प्रदेश अध्यक्ष ने तो अपना पांसा फेंक लिया पर लोग तो तो केजरीवाल के सामने उन्हें फुँका हुआ कारतूस से ज़्यादा मानने को तैयार ही नहीं दिखते। अध्यक्ष जी अपने इस खेल से खुद को कितना बड़ा खिलाड़ी मान रहे होंगे यह अलग बात रही पर कार्यक्रम से जिस तरह दिल्ली के वरिष्ठ नेताओं ने दूरी बनाई उससे तो उनका अनुभव ही ज़ाहिर होता है। भला हो अपनी भाजपा का कि अगर आलाकमान दिल्ली में केजरीवाल या फिर झाड़ू का विकल्प तलाश ही रही है तो कम से कम पहले दिल्ली भाजपा की ऐसी टीम पर भी विचार कर लेती। वरना तो भाजपा का इस दिल्ली में कितने समय का बनवास बाक़ी है दिल्ली ही बताएगी।

Tags :

Leave a comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

three × 2 =

kishori-yojna
kishori-yojna
ट्रेंडिंग खबरें arrow
x
न्यूज़ फ़्लैश
सिरासीता धाम ककड़ोलता
सिरासीता धाम ककड़ोलता