आर्थिकी पर विपक्ष सरकार को घेरेगा - Naya India
देश | दिल्ली | समाचार मुख्य| नया इंडिया|

आर्थिकी पर विपक्ष सरकार को घेरेगा

नई दिल्ली।  विपक्षी दलों ने अर्थव्यवस्था, बेरोजगारी, किसानों की समस्याओं और क्षेत्रीय समग्र आर्थिक साझेदारी समझौते जैसे मुद्दों पर मोदी सरकार को संसद के बाहर और भीतर घेरने का निर्णय लिया है। राज्यसभा में विपक्ष के नेता गुलाम नबी आजाद की ओर से बुलाई गई 13 विपक्षी दलों की बैठक में विपक्षी एकजुटता को मजबूत बनाने और अर्थव्यवस्था की खस्ता हालत, बेरोजगारी तथा किसानों के मुद्दे पर सरकार को घेरने के बारे में विस्तार से चर्चा की गयी।

राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी, समाजवादी पार्टी, बहुजन समाज पार्टी और आम आदमी पार्टी ने इस बैठक में हिस्सा नहीं लिया। नेताओं ने हालाकि कहा कि राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी विपक्ष की इस मुहिम का हिस्सा है और पार्टी के प्रमुख शरद पवार राजधानी में ही हैं। वह महाराष्ट्र के मुद्दे पर कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी से मिलने गये हैं। सपा और बसपा के बैठक में नहीं आने के बारे में पूछे जाने पर श्री आजाद ने कहा, आप को उनसे ही पूछना चाहिए कि वे बैठक में क्यों नहीं आए।

आजाद के अलावा बैठक में कांग्रेस के अहमद पटेल और रणदीप सिंह सुरजेवाला, जद एस के डी कुपेन्द्र रेड्डी, एलजडी के शरद यादव, द्रमुक के टी आर बालू, राजद के मनोज झा, टीएमसी के मोहम्मद नदीमुल हक, आरएलडी के अजीत सिंह , माकपा के टी के रंगराजन, भाकपा के डी राजा और विनय विश्वम , आरएलएसपी के उपेन्द्र कुशवाहा, आईयूएमएल के पी के कुनहलिकुट्टी, केसएम के जोश के मणि और आरएसपी के शत्रुजीत सिंह ने हिस्सा लिया।

विपक्षी नेताओं ने यह भी कहा कि विपक्षी दलों में सरकार के खिलाफ एकजुट होकर मोर्चा खोलने की सहमति बनी है और वे देश भर में आंदोलन शुरू करेंगे। व्हाट्सएप पर जासूसी के मुद्दे पर उन्होंने कहा कि राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद से इस बारे में मिलने का समय मांगा गया है। आजाद, बालू और यादव ने अर्थव्यवस्था की स्थिति पर चिंता व्यक्त करते हुए कहा कि सरकार अर्थव्यवस्था को बचाने के लिए ठोस कदम नहीं उठा रही है।

Leave a comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

ट्रेंडिंग खबरें arrow
x
न्यूज़ फ़्लैश
लगातार तीसरे दिन बढ़े पेट्रोल-डीजल के दाम
लगातार तीसरे दिन बढ़े पेट्रोल-डीजल के दाम