New IT Rules : Facebook ला रहा है ऐसा सॉफ्टवेयर जिससे चंद मिनटोंं में हो सकेगी फेक कंटेट की पहचान - Naya India
देश | लाइफ स्टाइल | यूथ करियर| नया इंडिया|

New IT Rules : Facebook ला रहा है ऐसा सॉफ्टवेयर जिससे चंद मिनटोंं में हो सकेगी फेक कंटेट की पहचान

नई दिल्ली | भारत सरकार द्वारा लाए जा रहे हैं नए आईटी नियम के बाद से सोशल मीडिया पर भी दबाव बढ़ता जा रहा है. ट्विटर के साथ ही फेसबुक पर भी फेक न्यूज़ और फर्जी वीडियो के फैलाव को लेकर दबाव है. इससे बचने के लिए फेसबुक अब एक नया सॉफ्टवेयर लेकर आ रहा है. जानकारी के अनुसार इस सॉफ्टवेयर का नाम AI सॉफ्टवेयर रखा गया है. बताया जा रहा है कि यह फेसबुक पर चलने वाले फर्जी इमेज, वीडियो और ऑडियो क्लिप की पहचान करेगा, इसके साथ ही व्यूवर्स को यह भी बताएगा कि इनमें कितनी सच्चाई है. माना जा रहा है कि भारत में बढ़ते फेक न्यूज़ को देखते हुए फेसबुक नहीं है स्पेशल सॉफ्टवेयर तैयार किया है. हालांकि इसके पीछे भारत सरकार द्वारा लागू किए गए सख्त आईटी रूल्स भी एक कारण हैं.

ऐसे समझें डीपफेक इमेज की सच्चाई

हाल के दिनों में पाया गया है कि सोशल मीडिया पर तेजी से डीपफेके इमेज वायरल हो रहा है. एक्सपर्ट की माने तो फेक न्यूज़ के लिए इसी का इस्तेमाल किया जाता है. ऐसी तस्वीरें में चेहरा किसी और का और शरीर किसी और का तैयार किया जाता है. कुछ ऐसा ही वीडियो के साथ भी छेड़छाड़ की जाती है. हाल में एक ऐसा वीडियो वायरल हुआ था जिसमें अमेरिका के पूर्व राष्ट्रपति बराक ओबामा को डोनाल्ड ट्रंप को अपशब्द करते हुए दिखाया गया था. इस वीडियो को देखकर ऐसा लग ही नहीं रहा था कि यह वीडियो फेक है. यही कारण है कि वीडियो के वायरल होने के बाद लोगों की प्रतिक्रियाएं भी आनी शुरू हो गई. हालांकि इसके बाद इस बात की पुष्टि हो गई कि यह वीडियो फेक है और बराक ओबामा ने कभी भी ऐसा कुछ कहा ही नहीं था.

इसे भी पढ़ें- देश में 24 घंटे में फिर बढ़े COVID के नए मामले, सामने आए 67 हजार से ज्यादा Positive

ऐसे काम करेगा सॉफ्टवेयर

फेसबुक के द्वारा तैयार किए गए इस नए सॉफ्टवेयर की मदद से इस तरह के कंटेंट की पहचान की जा सकेगी. इस सॉफ्टवेयर की मदद से अलग-अलग 2 कैमरे से ली गई तस्वीरों को यदि जोड़कर दिखाया जाएगा तो इसकी पहचान फेसबुक को पता चल जाएगी. कुछ ऐसा ही ऑडियो और वीडियो की पहचान भी हो सकेगी. फेसबुक में काम करने वाले कई लोगों का मानना है कि इस सॉफ्टवेयर की लॉन्चिंग के बाद से फेसबुक पर फेक न्यूज़ ऑडियो और वीडियो क्लिप का वायरल होना कम हो जाएगा.

इसे भी पढ़ें- अजब गजब : दुल्हन के इंतजार में बैठा था दूल्हा लेकिन आ गई पुलिस, फिर जिसका बनना था पति बन गया उसका जेठ

Leave a comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *