nayaindia Hair Stylish Jawed Habib : जावेद हबीब ने थूक कर काटे महिला के बाल...
देश| नया इंडिया| Hair Stylish Jawed Habib : जावेद हबीब ने थूक कर काटे महिला के बाल...

मशहूर हेयर स्टाइलिश जावेद हबीब ने थूक लगाकर काटे महिला के बाल, सोशल मीडिया में वायरल हुआ वीडियो…

Hair Stylish Jawed Habib :

नई दिल्ली | Hair Stylish Jawed Habib : जावेद हबीब का नाम देश के बड़े हेयर स्टाइलिस्ट के रूप में जाना जाता है. जावेद से बाल कटवाना कई युवाओं के सपने कैसा होता है. मशहूर हेयर स्टाइलिश जावेद का एक वीडियो सोशल मीडिया में तेजी से वायरल हो रहा है. इस वीडियो में जावेद हबीब एक महिला के बाल काटते नजर आ रहे हैं. यह वीडियो किसी कार्यक्रम का लगता है क्योंकि बाल काटते समय बड़ी संख्या में दर्शक भी बैठे हैं. एक हेयर स्टाइलिश के तौर पर ऐसे कई वीडियो आपको इंटरनेट पर मिल जाएंगे. लेकिन इस वीडियो के बारे में होने का कारण कुछ और हैं. वीडियो के वायरल होने का कारण यह है कि जावेद महिला का बाल काटते वक्त बालों पर थूक लगाते हुए नजर आ रहे हैं.

अब जावेद से नहीं करवाऊंगी बाल…

Hair Stylish Jawed Habib : वीडियो मुजफ्फर नगर का बताया जा रहा है. वीडियो में जावेद जिस महिला का बाल काटते हुए नजर आ रहे हैं उसका नाम पूजा गुप्ता है जो बड़ौत (बागपत) की रहने वाली हैं. महिला का आरोप है कि जावेद ने उनके माथे पर थूक कर बाल काटा जो काफी अभद्र व्यवहार था. पूजा गुप्ता का एक वीडियो भी वायरल हुआ है जिसमें वह कह रही है कि वह सड़क पर बाल कटवा लेंगे लेकिन कभी जावेद के पास नहीं जाएंगी.

इसे भी पढ़ें – SP ऑफिस में पहुंचा पति और फिर गाने लगा- जब से हुई है शादी…

सेमिनार का है मामला

Hair Stylish Jawed Habib : पूजा गुप्ता ने बताया कि मुजफ्फरनगर में एक सेमिनार का आयोजन किया गया था. पूजा ने कहा कि जो कि वह एक ब्यूटी पार्लर चलाती है इसलिए मशहूर जावेद से मिलने पहुंच गई. उन्होंने कहा कि यह एक तरह का इत्तेफाक ही था कि जावेद मुझे स्टेज पर बाल काटने के गुण सीखने के लिए बुला लिया. लेकिन मुझे नहीं पता था कि वह मेरे साथ इस तरह की अभद्रता करेंगे.

इसे भी पढ़ें-प्रार्थनाएं, महामृत्युंजय जाप, कैसे भाजपा नेता पीएम सुरक्षा उल्लंघन की घटना का सामना कर रहे

Leave a comment

Your email address will not be published.

11 − five =

ट्रेंडिंग खबरें arrow
x
न्यूज़ फ़्लैश
महंगाईः तब फिर बहस क्या?
महंगाईः तब फिर बहस क्या?