ईएसआई घोटाले में आंध्र प्रदेश के पूर्व मंत्री, पांच अन्य गिरफ्तार

अमरावती। राज्य भ्रष्टाचार रोधी ब्यूरो के अधिकारियों ने पूर्ववर्ती सरकार के कार्यकाल के दौरान ईएसआई कारपोरेशन में 150 करोड़ रुपये के कथित घोटाले के संबंध में तेलुगू देशम पार्टी के वरिष्ठ नेता और आंध्र प्रदेश के पूर्व मंत्री के. अत्चन्नायडू तथा पांच अन्यों को शुक्रवार को गिरफ्तार कर लिया।

एसीबी के एक वरिष्ठ अधिकारी ने यह जानकारी दी।एसीबी के संयुक्त निदेशक रवि कुमार ने विशाखापत्तनम में पत्रकारों को बताया कि अत्चन्नायडू को श्रीकाकुलम जिले में उनके आवास से गिरफ्तार किया गया जबकि कर्मचारी राज्य बीमा निगम (ईएसआई) के पूर्व निदेशक सी रवि कुमार और जी विजय कुमार को क्रमश: तिरुपति तथा राजामहेंद्रवरम में गिरफ्तार किया गया।

ईएसआई के संयुक्त निदेशक जनार्दन, अधीक्षक चक्रवर्ती और एक वरिष्ठ सहायक को विजयवाडा में गिरफ्तार किया गया। दवाओं और चिकित्सा उपकरणों की खरीद में जब यह कथित घोटाला हुआ था तो अत्चन्नायडू पूर्ववर्ती तेदेपा सरकार में श्रम मंत्री थे। एसीबी के संयुक्त निदेशक ने कहा, सतर्कता और प्रवर्तन विभाग ने 2014 और 2019 के बीच ईएसआई खरीदारी की जांच की और बड़ी संख्या में अनियमितताएं पाई।

हमारी जांच में यह भी पता चला कि दवाओं, चिकित्सा किट, फर्नीचर और अन्य सामान की खरीदारी में 150 करोड़ रुपये का घोटाला हुआ। इसके बाद हमने ये गिरफ्तारियां की। जैसे ही अत्चन्नायडू को उनके घर से ले जाया गया, तेदेपा अध्यक्ष एन चंद्रबाबू नायडू ने इसे पिछड़े वर्गों पर हमला बताते हुए कहा कि इस समुदाय से आने वाले अत्चन्नायडू जगनमोहन रेड्डी के नेतृत्व वाली वाईएसआर कांग्रेस सरकार की करतूतों का खुलासा करने में आगे रहे हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Shares