WildLife : चंबल नदी से आ रही है बड़ी खबर, राष्ट्रीय चंबल सेंचुरी के अफसरों ने कहा- पहले कभी नहीं हुआ ऐसा - Naya India
देश | उत्तर प्रदेश | मध्य प्रदेश | राजस्थान| नया इंडिया|

WildLife : चंबल नदी से आ रही है बड़ी खबर, राष्ट्रीय चंबल सेंचुरी के अफसरों ने कहा- पहले कभी नहीं हुआ ऐसा

नई दिल्ली | देश के तीन बड़े और प्रमुख राज्य उत्तर प्रदेश, मध्यप्रदेश और राजस्थान मे प्रवाहित चंबल नदी से एक अच्छी खबर आयी है. विशेषकर वन्य जीव प्रेमियों के लिए ये बड़ी खबर है क्योंकि चंबल नदी में पहली बार हजारों की संख्या में घड़ियाल के बच्चे प्रजनन के बाद जन्में हैं. इस संबंध में जानकारी देते हुए चंबल सेंचुरी के डीएफओ दिवाकर श्रीवास्तव ने कहा कि चंबल नदी में इन दिनो हजारो की संख्या में घडियाल के बच्चे नजर आ रहे हैं. इन बच्चो की किलकारियों ने चंबल सेंचुरी के अफसरो को खुश कर दिया है. बता दें कि 2100 स्क्वायर मीटर में फैले नेशनल चंबल घड़ियाल सेंचुरी में 1989 से ही घड़ियालों का संरक्षण होना शुरू हो गया था .

नन्हें घड़ियालों की संख्या 5000 के करीब

राष्ट्रीय चंबल सेंचुरी के अफसरों के अनुसार इस बार जितने घड़ियाल देखने को मिले हैं, वैसा पहले कभी नहीं देखा गया है. माना जा रहा है कि तीन राज्यों से बहने वाली इस चंबल नदी मे एक लगभग 5000 के आसपास घडियाल के छोटे छोटे बच्चे पानी मे तैरते हुए दिखाई दे रहे हैं. सेंचुरी के अफसर भी इन्हें देखतक खासा उत्साहित हैं. कहा जा रहा है कि अगर सबकुछ सामान्य रहा तो आने वाले कुछ सालों में इनकी संख्या में और भी इजाफा होने की उम्मीद है.

इसे भी पढें- Rajasthan: 3 साल पहले की थी प्रेमिका से ‘लव मैरेज’, गांव वापस आने पर ऐसी की खातिरदारी कि डॉक्टरों ने भी कहा बचना मुश्किल…

उत्तर प्रदेश मध्यप्रदेश और राजस्थान में पाए जातें हैं दुर्लभ प्रजाति के घड़ियाल

बता दें कि उत्तर प्रदेश मध्यप्रदेश और राजस्थान में प्रवाहित चंबल नदी मे दुर्लभ प्रजाति के घडियाल पाए जाते हैं. इनके सरंक्षण के लिए चंबल नदी को संरक्षित कर रखा गया है. बाह से लेकर इटावा तक करीब 70 किलोमीटर के दायरे मे इतनी बडी तादात मे इससे पहले घडियाल के बच्चों को प्रजनन के बाद नही देखा गया है. जितनी तादात मे घडियाल के बच्चे चंबल मे नजर आ रहे हैं उसे देख कर कहा जा सकता है कि यह संख्या दुर्लभ प्रजाति के घडियालों की तादात मे इजाफा करने के लिये पर्याप्त है.

इसे भी पढें- शादी के 48 घंटे बाद ही दुल्हन हुई अस्पताल में भर्ती, अपनी सौतन की बचाई जान और….

 

Leave a comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *