हरियाणा चुनाव के मद्देनजर दिल्ली में सुरक्षा चुस्त

नई दिल्ली। हरियाणा विधानसभा चुनाव के मद्देनजर दिल्ली पुलिस ने राज्य से लगी सीमाओं पर चौकसी बढ़ा दी है, ताकि हरियाणा के अपराधी दिल्ली में छिपकर कहीं कोई नई मुसीबत खड़ी न कर दें। हरियाणा में सुरक्षा इंतजाम पहले से ही चुस्त कर दिए गए हैं।

दिल्ली पुलिस की संयुक्त आयुक्त स्तर की एक महिला अधिकारी ने बताया अपराधी छिपने के लिए कहीं भी पहुंचने की भरसक कोशिश करेंगे। ऐसे में नुकसान हरियाणा और दिल्ली दोनों राज्यों को हो सकता है। लिहाजा हरियाणा और दिल्ली से जुड़ी सीमाओं पर चौकसी बढ़ाना बेहद जरूरी था। दिल्ली पुलिस ने जगह-जगह बेरीकेट्स बढ़ा-लगा दिए हैं, और जिन स्थानों पर सीसीटीवी काम नहीं कर रहे थे, उन्हें ठीक करवा दिए गए हैं। ताकि आपात स्थिति में दिल्ली-हरियाणा की सीमाओं पर होने वाली हर पल की गतिविधियां सीसीटीवी में दर्ज रह सकें।

पुलिस के एक अधिकारी ने नाम न छापने की शर्त पर आईएएनएस को बताया सीमाओं पर तैनात दोनों राज्यों के पुलिसकर्मियों पर भी नजर रखी जा रही है, ताकि कहीं किसी पुलिसकर्मी की लापरवाही का फायदा अपराधी किस्म के तत्व न उठा पाएं। सुरक्षा बंदोबस्त चुस्त करने का फायदा दिल्ली पुलिस को यह हुआ कि सघन छानबीन के दौरान बड़ी संख्या में अपराधी गिरफ्त में आ गए। कई जगहों पर अवैध शराब जब्त की गई, विशेषकर द्वारका और बाहरी दिल्ली में इस सघन अभियान का सबसे ज्यादा फायदा देखने को मिल रहा है। कई छोटे-मोटे अपराधियों को अवैध हथियारों के साथ भी पकड़ा जा चुका है। साथ ही एकदम सड़कों पर और इलाके में बढ़ी दिल्ली पुलिस की सतर्कता को देखते हुए तमाम अपराधी अपने अड्डों से खुद ही नौ-दो-ग्यारह हो चुके हैं।

इससे भी इलाके में होने वाली छिटपुट घटनाओं में खासा कमी आई है। हरियाणा दिल्ली सीमा पर स्थित नरेला (दिल्ली), कुंडली (सोनीपत हरियाणा), फरीदाबाद, गुरुग्राम के आसपास दोनों ही राज्यों की पुलिस ने निगरानी बढ़ा दी है। दोनों राज्यों की पुलिस आपसी सामंजस्य से भी अपराधियों को चुनाव से पहले ही काबू करने के अभियान में जुटी है। दिल्ली पुलिस के प्रवक्ता अनिल मित्तल ने आईएएनएस से कहा एहतियातन सुरक्षा इंतजाम बेहद जरूरी थे। चुनाव आदि के माहौल में ही छोटे-बड़े अपराधी ज्यादा सक्रिय हो जाते हैं, क्योंकि वे समझते हैं कि पुलिस चुनाव में व्यस्त है।

प्रवक्ता ने आगे कहा दिल्ली पुलिस ने हरियाणा की सीमा पर मौजूद अपने इलाकों में जब से सुरक्षा बढ़ाई है, तब से उन इलाकों में होने वाली आपराधिक घटनाओं में भी कमी देखी जा रही है। पुलिस प्रवक्ता के मुताबिक पुलिस की इस सतर्कता से अपराधियों में भी भय उत्पन्न हुआ है। दोनों राज्यों को जोड़ती सीमाओं पर बढ़ाए गए सुरक्षा इंतजामों से अपराधी समझ चुके हैं कि उन्हें पड़ोसी राज्य हरियाणा में चुनाव की आड़ में, राष्ट्रीय राजधानी में अपराधों को अंजाम देने का अवसर आसानी से हाथ नहीं आएगा। अगर उन्होंने किसी वारदात को अंजाम दे भी दिया तो दिल्ली पुलिस की नजरों से बचकर भाग पाना मुश्किल हो जाएगा।

इसे भी पढ़ें : कांग्रेस को हरियाणा के अहिरवाल क्षेत्र में वापसी की उम्मीद

Amazon Prime Day Sale 6th - 7th Aug

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Shares