Mysterious Fever In Hariyana : उत्तर प्रदेश के बाद अब हरियाणा रहस्यमई...
ताजा पोस्ट | देश | हरियाणा| नया इंडिया| Mysterious Fever In Hariyana : उत्तर प्रदेश के बाद अब हरियाणा रहस्यमई...

Mysterious Fever : उत्तर प्रदेश के बाद अब हरियाणा, 10 दिनों में 8 बच्चों की रहस्यमयी बुखार से मौत

Mysterious Fever In Hariyana :

पलवल | Mysterious Fever In Hariyana : उत्तर प्रदेश के बाद अब रहस्यमई बुखार का खतरा पड़ोसी राज्यों तक भी फैलने लगा है. ताजा जानकारी के अनुसार पलवल के हथीन विधानसभा में आने वाले गांव में रहस्यमई बुखार के कारण 8 बच्चों की मौत हो चुकी है. बता दें किन बच्चों की मौत 10 दिनों के अंतराल में हुई है जोकि चौंकाने वाला है. ज्यादातर ग्रामीणों का मानना है कि यह मौतें डेंगू बुखार के कारण हो रही है. जबकि स्वास्थ्य विभाग ने अब तक इलाके में डेंगू की पुष्टि नहीं की है. स्वास्थ्य विभाग के व्यवहार से ग्रामीण काफी नाराज नजर आ रहे हैं. ग्रामीणों का कहना कि स्वास्थ्य विभाग के कर्मचारी लगातार उनकी बातों को अनदेखा कर रहे थे. इसी कारण गांव में यह बीमारी तेजी से फैलती गई.

Mysterious Fever In Hariyana :

मीडिया में खबर चलने के बाद अफरा-तफरी

Mysterious Fever In Hariyana : मीडिया में खबर चलने के बाद अब स्थानीय स्वास्थ्य विभाग और जिला प्रशासन हरकत में आ गए हैं. लोगों को अब घर घर जाकर जागरूक किया जा रहा है. इसके साथ हीं डेंगू और मलेरिया की भी जांच की जा रही है. स्वास्थ्य विभाग के एक अधिकारी ने कहा कि हमने कोई देरी नहीं की हमें लेट से जानकारी मिली. स्वास्थ विभाग का कहना है कि हम डेंगू मलेरिया के साथ ही कोरोना की भी जांच कर रहे हैं. विभाग के अधिकारियों का कहना है कि जब तक रिपोर्ट नहीं आ जाती तब तक स्पष्ट तौर पर नहीं कहा जा सकता कि यह डेंगू , मलेरिया है या फिर कोरोना.

इसे भी पढ़ें – EPF मेंबर्स को बड़ी राहत, UAN को Aadhar से जोड़ने की आखिरी तारीख 31 दिसंबर तक बढ़ी, घर बैठे ऐसे कर सकते हैं लिंक

लगातार बढ़ रहे मरीज

Mysterious Fever In Hariyana : इलाके के ग्रामीणों का कहना है कि लगातार रहस्यमई बुखार के कारण बच्चे बीमार हो रहे हैं. एक अनुमान के अनुसार अब तक 25 से ज्यादा बच्चे जिले के सरकारी और निजी अस्पताल में भर्ती हो चुके हैं. ग्रामीणों का कहना है कि अब यह परेशानी बच्चों के साथ बड़ों में भी देखने को मिल रही है. गांव वालों का कहना है कि यदि स्वास्थ विभाग थोड़ा पहले सुध लेता तो कई बच्चों की जान बचाई जा सकती थी. इधर स्वास्थ्य विभाग का पुरजोर तरीके से बुखार का कारण जानने के लिए लगा हुआ है.

इसे भी पढ़ें- EPF मेंबर्स को बड़ी राहत, UAN को Aadhar से जोड़ने की आखिरी तारीख 31 दिसंबर तक बढ़ी, घर बैठे ऐसे कर सकते हैं लिंक

Leave a comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

ट्रेंडिंग खबरें arrow